ADVERTISEMENT

Yogini Ekadashi Vrat 2022: योगिनी एकादशी 24 जून की,जानें शुभ मुहूर्त व पूजा विधि

Yogini Ekadashi: इस साल यह एकादशी व्रत 24 जून शुक्रवार के दिन रखा जाएगा.

Published
Yogini Ekadashi Vrat 2022: योगिनी एकादशी 24 जून की,जानें शुभ मुहूर्त व पूजा विधि
i

Yogini Ekadashi 2022 Puja Vidhi: योगिनी एकादशी वह एकादशी हैं जो निर्जला एकादशी के बाद और देवशयनी एकादशी से पहले आती है. उत्तर भारत में यह एकादशी आषाढ़ माह में कृष्ण पक्ष के दौरान और दक्षिण भारत में यह ज्येष्ठ माह में कृष्ण पक्ष के दौरान पड़ती है, वहीं अंग्रेजी कैलेण्डर के अनुसार योगिनी एकादशी का व्रत जून या जुलाई के महीने में होता है. इस साल यह एकादशी व्रत 24 जून के शुक्रवार के दिन पड़ा है.

ADVERTISEMENT

योगिनी एकादशी को लेकर मान्यता

इस व्रत को भगवान विष्णु के भक्तों द्वारा रखा जात हैं, मान्यता हैं योगिनी एकादशी का व्रत करने से सारे पाप मिट जाते हैं और जीवन में समृद्धि और आनन्द की प्राप्ति होती है. योगिनी एकादशी का व्रत करने से स्वर्गलोक की प्राप्ति होती है. योगिनी एकादशी तीनों लोकों में प्रसिद्ध है. यह माना जाता है कि योगिनी एकादशी का व्रत करना अठ्यासी हज़ार ब्राह्मणों को भोजन कराने के बराबर है.

योगिनी एकादशी पारण

  • योगिनी एकादशी शुक्रवार, जून 24, 2022 को

  • 25 जून को, पारण (व्रत तोड़ने का) समय - 05:41 AM से 08:12 AM तक

  • एकादशी तिथि प्रारम्भ - जून 23, 2022 को 09:41 PM से

  • एकादशी तिथि समाप्त - जून 24, 2022 को 11:12 PM तक

ADVERTISEMENT

योगिनी एकादशी व्रत की पूजा विधि

  • एकादशी के दिन सुबह जल्दी उठकर सबसे पहले स्नान कर साफ वस्त्र धारण कर लें.

  • दिनभर व्रत और श्रद्धा अनुसार दान का संकल्प लें.

  • विधि-विधान से भगवान विष्णु की पूजा करें.

  • भगवान विष्णु को पंचामृत से नहलाएं.

  • भगवान को स्नान करवाने के बाद चरणामृत को पिए और परिवार के सभी सदस्यों को भी प्रसाद के रूप में दें.

  • भगवान को गंध, पुष्प, धूप, दीप, नैवेद्य आदि पूजन सामग्री चढ़ाएं और कथा सुनें.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×