मैं 1569 वोट से हारी, गिनती में हुईं 4 गड़बड़ियां: रितु जायसवाल

11 नवंबर को रितु कुमार ने चुनाव आयोग में दोबारा गिनती की अर्जी डाली.

वीडियो एडिटर: प्रशांत चौहान

बिहार विधानसभा चुनाव में RJD नेता रितु कुमार परिहार सीट से सिर्फ 1569 वोट से हार गईं. रितु का दावा है कि मतगणना में गड़बड़ी के कारण हारीं.

ये लड़ाई मेरी या किसी विपक्ष के लिए नहीं है. ये बातचीत हो रही है लोकतंत्र को बचाने के लिए.
रितु कुमार, परिहार से आरजेडी उम्मीदवार

11 नवंबर को रितु ने चुनाव आयोग में दोबारा गिनती की अर्जी डाली. रितु ने अपनी शिकायत में चार मुद्दे उठाए.

मुद्दा 1

971 पोस्टल बैलट वोट में से 630 अमान्य घोषित किए गए. ये अहम है क्योंकि वैध पोस्टल मतों में से 70% उन्हें मिले.आयोग की गाइडलाइन कहती है-''पोस्टल बैलेट के लिए उम्मीदवार हर काउंटिंग टेबल पर एक एजेंट नियुक्त कर सकते हैं'' लेकिन रितु का दावा है कि उन्हें ये तब बताया गया जब पोस्टल वोट की काउंटिंग खत्म हो गई.

चुनाव आयोग के मुताबिक पोस्टल बैलेट EVM वोट के पहले गिने जाने चाहिए लेकिन रितु कुमार का दावा है कि परिहार में पोस्टल बैलेट आखिर में गिने गए.

मुद्दा 2

चुनाव आयोग की गाइडलाइन के मुताबिक पारदर्शिता के लिए हर काउंटिंग टेबल पर एक वीडियो कैमरा होना चाहिए, ताकि EVM डिस्प्ले पर जो दिख रहा है वो शुरु से आखिर तक रिकॉर्ड हो सके

रितु का दावा है कि उनके सेंटर पर काउंटिंग रूम में कोई CCTV कैमरा रिकॉर्डिंग नहीं की गई.

मुद्दा 3

चुनाव आयोग की गाइडलाइन के मुताबिक हर दौर की गिनती के बाद पार्टी पर्यवेक्षक की संतुष्टि के बाद रिजल्ट बोर्ड पर लिखना चाहिए. ऐसे होने के बाद ही अगले दौर के लिए EVM काउंटिंग रूम में लाने चाहिए. रितु का दावा है कि हर राउंड की काउंटिंग के बाद रिजल्ट की घोषणा में कई घंटों को देरी हुई.

मुद्दा 4

रितु का दावा है कि लास्ट राउंड की काउंटिंग के पहले कई बीजेपी कार्यकर्ता काउंटिंग सेंटर में गए और उन्हें रूम से बाहर जाने पर मजबूर किया. रितु का कहना है कि अगर चुनाव आयोग निष्पक्ष है तो उसे रिकाउंटिंग के आदेश देना चाहिए.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!