ADVERTISEMENT

बेरोजगारी, कर्ज के कारण 2018-20 में 25,231 भारतीयों ने सुसाइड किया- केंद्र सरकार

बजट पर बहस के दौरान राज्य मंत्री (गृह) नित्यानंद राय ने राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी

Updated
भारत
1 min read
बेरोजगारी, कर्ज के कारण 2018-20 में 25,231 भारतीयों ने सुसाइड किया- केंद्र सरकार
i

केंद्र सरकार ने बुधवार, 9 फरवरी को राज्यसभा में यह जानकारी दी है कि साल 2018 और 2020 के बीच 25,000 से अधिक भारतीयों बेरोजगारी या कर्ज में डूबे होने के कारण सुसाइड किया है. केंद्रीय बजट पर बहस के दौरान बेरोजगारी के मुद्दे पर हो रही चर्चा के बीच राज्य मंत्री (गृह) नित्यानंद राय ने राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह सूचित किया.

ADVERTISEMENT

राज्य मंत्री ने उच्च सदन को बताया कि इनमें से बेरोजगारी के कारण 9,140 लोग और दिवालियापन या कर्ज में डूबे होने के कारण 16,091 लोगों ने सुसाइड किया है. उन्होंने कहा कि ये सरकारी आंकड़े राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) के आंकड़ों पर आधारित हैं.

मौजूदा बजट सत्र के दौरान संसद के अंदर विपक्षी सांसदों द्वारा कई बार बेरोजगारी का मुद्दा उठाया गया है. उन्होंने आरोप लगाया है कि सरकार द्वारा प्रस्तुत बजट 2022 में कोविड -19 के कारण देश के सामने मौजूद चुनौतियों से निपटने के लिए बहुत कम प्रावधान किए गए हैं.

क्या कहते हैं आंकड़े

आंकड़ों के अनुसार देश में बेरोजगारों में आत्महत्याओं की घटना बढ़ रही हैं और 2020 के जब देश महामारी से जूझ रहा था, उस वर्ष में यह उच्चतम स्तर (3,548) पर थी. जबकि 2018 में 2,741 लोगों और 2019 में 2,851 लोगों ने बेरोजगारी के कारण अपना जीवन समाप्त किया था.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और india के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  बेरोजगारी 

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×