Qपटना: फेज 3 में 60% मतदान, जावेद अख्तर की बेगूसराय में हुंकार
बेगूसराय में कन्हैया कुमार के प्रचार लिए पहुंचे जावेद अख्तर
बेगूसराय में कन्हैया कुमार के प्रचार लिए पहुंचे जावेद अख्तर(फोटो: Altered by Quint Hindi)

Qपटना: फेज 3 में 60% मतदान, जावेद अख्तर की बेगूसराय में हुंकार

बेगूसराय में कन्हैया कुमार के प्रचार लिए पहुंचे जावेद अख्तर

मशहूर गीतकार जावेद अख्तर ने बेगूसराय से सीपीआई उम्मीदवार और जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार का प्रचार किया. जावेद अख्तर ने कहा "मैं उनसे (बीजेपी से) बहुत उम्मीद नहीं करता हूं जो राजनीति का मिश्रण धर्म के साथ करने में विश्वास रखते हैं, लेकिन जब आप धर्मनिरपेक्षता की कसम खा रहे हों तो आप इस तरह की भाषा नहीं बोल सकते.”

जावेद ने कहा, “हमें यह ध्यान में रखना चाहिए कि जहां भी धर्म का राजनीति से मिश्रण किया जाता है, वहां मानवाधिकार और नागरिक स्वतंत्रता पहले शिकार बन जाती है. दुनिया के किसी भी हिस्से को देखें - मध्य पूर्व, यूरोप या लैटिन अमेरिका में, आपको एक समान प्रवृत्ति मिलेगी.”

बेगूसराय से बीजेपी उम्मीदवार गिरिराज सिंह पर कटाक्ष करते हुए जावेद अख्तर ने कहा “यह सज्जन उन सभी को जो मोदी का विरोध करते हैं, उन्हें पाकिस्तान जाने की सलाह देते हैं. 2014 में, जब मोदी की लोकप्रियता अपने चरम पर थी तब 31 प्रतिशत लोगों ने उन्हें वोट दिया था यानी तब भी 69 प्रतिशत भारतीय उनके खिलाफ थे. उन्होंने यह भी कहा कि यदि आप तनवीर को वोट देते हैं, तो गिरीराज किसी भी तरह से जीत जाएंगे.

सीएम नीतीश बोले, 'पीएम मोदी ने देश का सम्मान बढ़ाया'

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश तेजी से विकास की राह पर आगे बढ़ रहा है. सीएम नीतीश ने उज्जवला योजना की तारीफ करते हुए कहा कि गांव की गरीब महिलाओं को अब खाना बनाने में धुआं नहीं झेलना पड़ रहा है. उनका रसोई गैस पर खाना बनाने का सपना साकार हो रहा है.

मुख्यमंत्री बेगूसराय के बछवाड़ा में एनडीए प्रत्याशी गिरिराज सिंह के समर्थन में आयोजित चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने गरीब परिवारों को आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख तक इलाज का खर्च देने की व्यवस्था की है. बिहार में सड़क व पुल निर्माण पर केंद्र सरकार ने पिछले पांच वर्षों में 50 हजार करोड़ खर्च किए हैं. सीएम ने कहा कि पीएम मोदी ने देश का सम्मान बढ़ाया है. आतंकवाद के खिलाफ जो कार्रवाई की है, उससे आम लोगों का मनोबल ऊंचा हुआ है.

ये भी पढ़ें : चुनाव में जोश कहां है? बीजेपी को इसका नुकसान होगा?

राबड़ी देवी बोलीं, 'लालटेन रोशनी की प्रतीक, तीर का जमाना अब गया'

बिहार की पूर्व सीएम और आरजेडी नेता राबड़ी देवी ने कहा कि 'जमाना लालटेन का नहीं, तीर का चला गया. लालटेन और दिया घर में सुख-शांति का प्रतीक हैं, जबकि दूसरी ओर तीर के बदले मिसाइल का प्रयोग हो रहा है.''

भोजपुरी में ट्वीट कर राबड़ी ने कहा कि जेडीयू अध्यक्ष सीएम नीतीश कुमार अपने हर चुनावी भाषण में कह रहे हैं कि लालटेन का जमाना चला गया, लेकिन उन्हें पता नहीं है कि लालटेन विकास और उजाला का प्रतीक है. दिवाली में जिस घर में लालटेन और दिया जलता है, उसी घर में सुख-शांति होती है.

जेडीयू के चुनावी चिह्न पर तंज कसते हुए राबड़ी ने कहा कि उनके तीर का जमाना कब का समाप्त हो चुका है, लेकिन फिर भी जेडीयू तीर से जनता को प्रताड़ित करने में लगा है. लालटेन से रोशनी होती है और लोग अब भी उसका उपयोग करते हैं. लेकिन तीर का इस्तेमाल नहीं होता. तीर के बदले मिसाइल का जमाना आ चुका है. सच्चाई है कि तीर से कमल को चीरकर बीजेपी से पुराना बदला चुका रहे हैं.

बिहार की 5 लोकसभा सीटों पर 60 प्रतिशत मतदान

लोकसभा चुनाव 2019 के तीसरे चरण में बिहार की पांच लोकसभा सीटों झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा और खगड़िया में मंगलवार को हुए चुनाव में 60.00 प्रतिशत वोटिंग हुई.

झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा और खगडिया में क्रमश: 56.92 प्रतिशत, 62.80 प्रतिशत, 62.34 प्रतिशत, 59.12 प्रतिशत और 58.83 प्रतिशत मतदान हुआ. जो 2014 के आम चुनावों के मतदान 59.08 प्रतिशत से लगभग 0.92 प्रतिशत ज्यादा रहा. इन संसदीय क्षेत्रों में चुनावी मैदान में उतरे कुल 82 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला आज ईवीएम में बंद हो गया.

बता दें कि झंझारपुर से 17 उम्मीदवार मैदान में हैं लेकिन मुख्य मुकाबला जेडीयू के रामप्रीत मंडल और आरजेडी के गुलाब यादव के बीच है, हालांकि, निर्दलीय प्रत्याशी औक पूर्व केंद्रीय मंत्री देवेंद्र प्रसाद यादव ने इसे त्रिकोणीय बना दिया है. इसी तरह सुपौल क्षेत्र से 20 प्रत्याशी मैदान में हैं लेकिन जेडीयू के बिलेश्वर कामत और कांग्रेस की रंजीत रंजन के बीच सीधा मुकाबला है. रंजीत रंजन सुपौल से मौजूदा सांसद हैं.

अररिया में सीधा मुकाबला आरजेडी प्रत्याशी और निवर्तमान सांसद सरफराज आलम और बीजेपी उम्मीदवार प्रदीप सिंह के बीच जबकि मधेपुरा में आरजेडी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे शरद यादव और जेडीयू के दिनेश चंद्र यादव और जनअधिकार पार्टी उम्मीदवार और मौजूदा सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है. इसी प्रकार खगड़िया में मुख्य मुकाबला सीधा मुकाबला एलजेपी उम्मीदवार महबूब अली कैसर और विकासशील इंसान पार्टी के प्रमुख मुकेश सहनी के बीच है.

(इनपुट भाषा, हिंदुस्तान से)

ये भी पढ़ें : अक्षय ने लिया PM मोदी का इंटरव्यू, पूछा-परिवार को मिस नहीं करते?

(सबसे तेज अपडेट्स के लिए जुड़िए क्विंट हिंदी के Telegram चैनल से)

Follow our राज्य section for more stories.

    वीडियो