ADVERTISEMENTREMOVE AD

"मैंने टेस्ट कप्तानी छोड़ी तो धोनी के अलावा किसी का मैसेज नहीं आया"- विराट कोहली

Virat Kohli ने पाकिस्तान के खिलाफ 60 रनों की पारी खेली, वे अब तक 3 मैचों में 154 रन बना चुके हैं.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

एशिया कप (Aisa Cup) के सुपर 4 मैच में पाकिस्तान ने भारत को 5 विकेट से हरा दिया. इस हार से भारतीय फैंस निराश हैं, लेकिन एक अच्छी बात रही कि भारत के पूर्व कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने इस मैच में रन बनाए और अपने फॉम को वापस पा लिया. इस टूर्नामेंट के शुरू होने से पहले विराट के फॉर्म को लेकर कई तरह की आलोचनाएं हो रही थी, लेकिन एक महीने के आराम के बाद लौटे विराट ने अब तक 3 मैचों में 154 रन बनाए हैं. रविवार को भी उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ 60 रनों की पारी खेली.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

टेस्ट कप्तानी छोड़ी तो धोनी के अलावा किसी ने फोन नहीं किया

विराट मैच के बाद प्रेस कांफ्रेस में आए जिसमें उन्होंने खुलास किया कि इस साल जनवरी में टेस्ट कप्तानी छोड़ने पर केवल एमएस धोनी ने उन्हें टेक्स्ट किया था. विराट ने कहा कि

"जब मैंने टेस्ट कप्तानी छोड़ी, तो मुझे केवल एक व्यक्ति का मैसेज आया और मैं उस व्यक्ति के साथ खेला हूं. वह व्यक्ति एमएस धोनी है, कई लोगों के पास मेरा नंबर है, और कई लोग हैं जो मुझे सुझाव देते हैं लेकिन सिर्फ एमएस धोनी थे जिन्होंने मुझे मैसेज किया. कई लोगों के पास मेरा नंबर है, लेकिन उन्होंने मुझे टेक्स्ट नहीं किया."
विराट कोहली, क्रिकेटर, भारत

"TV या पूरी दुनिया के सामने कोई सुझाव देना मेरे लिए मायने नहीं रखता"

कोहली ने TV पर आकर सुझाव देने वाले एक्सपर्ट्स पर भी तंज कसा. उन्होंने कहा कि "मुझे उनसे (धोनी) कुछ नहीं चाहिए और वह मुझसे कुछ नहीं चाहते. मैं उनसे कभी असुरक्षित नहीं था और वो भी कभी मेरे से नहीं थे. मैं बस इतना कह सकता हूं कि अगर मुझे किसी से कुछ कहना है, तो मैं व्यक्तिगत रूप से जाऊंगा/अगर आप मदद करना भी चाहते हैं तो भी. अगर आप मुझे टीवी या पूरी दुनिया के सामने कोई सुझाव देना चाहते हैं, तो यह मेरे लिए कोई मायने नहीं रखता है."

0

विराट ने कहा कि "मैं चीजों को पूरी ईमानदारी से देखता हूं, ऐसा नहीं है कि मुझे परवाह नहीं है, लेकिन आप चीजों को देखते हैं कि वे कैसी हैं"

कोहली ने T20 विश्व कप 2021 के बाद टी 20 कप्तानी से इस्तीफा दे दिया था और फिर उन्हें उसी साल एकदिवसीय कप्तान के रूप में हटा दिया गया था क्योंकि चयनकर्ता अलग-अलग फॉर्मेट में अलग-अलग कप्तान नहीं चाहते थे.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें