ADVERTISEMENT

शिवसेना अब किसकी? 12 बागी सांसदों के साथ लोकसभा स्पीकर से मिलेंगे शिंदे

शिंदे ने नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी का किया ऐलान लेकिन उद्धव ही अध्यक्ष.

Published
शिवसेना अब किसकी? 12 बागी सांसदों के साथ  लोकसभा स्पीकर से मिलेंगे शिंदे
i

शिवसेना VS शिवसेना की लड़ाई अब और तेज हो गई है. शिवसेना (Shivsena) विधायकों के बाद अब सांसदों के बागी होने की खबर आ रही है. शिवसेना के 12 सांसदों के शिंदे गुट के साथ आने की खबर आ रही है. इसी बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) सोमवार की देर रात नई दिल्ली पहुंच गए हैं और दावा किया है कि 12 नहीं बल्कि 18 सांसद उनके साथ हैं. फिलहाल अभी तक मुख्यमंत्री कार्यालय ने उनके एक दिवसीय दौरे का कोई कारण नहीं बताया है.

ADVERTISEMENT

शिंदे की नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी, लेकिन उद्धव ही अध्यक्ष

वहीं दूसरी ओर एकनाथ शिंदे ने शिवसेना की कार्यकारिणी को भंग करते हुए अपनी नई कार्यकारिणी का ऐलान किया है. हालांकि इन सबमें सबसे अहम बात ये है कि नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी में भी शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ही बने रहेंगे. जबकि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने खुद शिवसेना के 'मुख्य नेता' के रूप में पद संभाला है. इस नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी में बागी नेताओं को शामिल किया गया है.

शिंदे की कार्यकारिणी में शिवसेना से निकाले गए नेता रामदास कदम और आनंदराव अडसूल को पार्टी के 'नेता' पद पर बहाल किया है. दीपक केसरकर को प्रवक्ता बनाया गया है.

संजय राउत का जवाब

वहीं इस नई कार्यकारिणी पर शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा, "शिवसेना से टूटे हुए लोगों के गुट ने शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बना ली और हमारी कार्यकारिणी को बर्खास्त कर दिया. आप लोग (एकनाथ शिंदे गुट) टूट कर अलग चले गए. 20 तारीख से SC में सुनवाई होगी कि आप MLA रहेंगे या नहीं और आप हमें ही बर्खास्त कर रहे हैं."

ADVERTISEMENT

लोकसभा अध्यक्ष से मिलेंगे बागी सांसद

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक शिवसेना के 19 में से करीब 12 बागी सांसद 19 जुलाई को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिल सकते हैं और एक औपचारिक पत्र सौंप सकते हैं. वहीं खबर ये भी है कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने एक ऑनलाइन बैठक बुलाई थी, जिसमें बागी सांसद शामिल हुए थे और इसी बैठक में फैसला हुआ था कि शिवसेना के सांसद राहुल शेवाले के नेतृत्व में एक अलग समूह बनेगा और लोकसभा में शेवाले शिंदे गुट समूह के नेता होंगे.

दिल्ली में महाराष्ट्र कैबिनेट पर चर्चा

लेकिन इन सबके बीच कहा जा रहा है कि शिंदे के दिल्ली दौरे को मंत्रिमंडल बंटवारे पर चर्चा के लिहाज से भी अहम माना जा रहा है. शिंदे ने 30 जून को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, जिसके बाद से अबतक महाराष्ट्र में कैबिनेट का गठन नहीं हुआ है. ऐसे में खबर ये भी है कि अभी बीजेपी और शिंदे गुट में कैबिनेट को लेकर बात फाइनल नहीं हो सकी है, जिसे लेकर आज दिल्ली में बीजेपी के बड़े नेताओं के साथ शिंदे की बैठक भी होनी है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और politics के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  Uddhav Thackeray   eknath Shinde 

ADVERTISEMENT
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×