ADVERTISEMENT

PayTM ने IPO की दिशा में बढ़ाया एक और कदम, जानें कब आ रहा इशू?

सोमवार को PayTM ने अपने इम्प्लॉई को 'ऑफर फॉर सेल' भेजा है.

Published
Ant ग्रुप ने Paytm में 2015 में निवेश किया था
i

फिनटेक कंपनी पेटीएम के बोर्ड ने कंपनी के IPO के लिए बीते महीने सैद्धांतिक स्वीकृति दे दी थी. अब कंपनी ने पब्लिक इशू लाने की दिशा में कदम बढ़ा दिए हैं. ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने IPO से पहले इम्प्लॉई से इशू के दौरान उनके शेयरों की बिक्री को लेकर फैसला मांगा है. आइए समझते हैं इस कदम के पीछे की जरूरत और संबंधित पहलुओं को-

PayTM द्वारा जुलाई में ड्राफ्ट प्रॉस्पेक्टस (DRHP) फाइल किए जाने की उम्मीद की जा रही है. SEBI को DRHP पर कोई आपत्ति नहीं होने पर ही कोई भी कंपनी इशू ला सकती है.

इम्प्लॉई से ऑफर फॉर सेल के लिए मांगे गए शेयर:

ब्लूमबर्ग न्यूज की खबर के अनुसार सोमवार को PayTM ने अपने इम्प्लॉई को 'ऑफर फॉर सेल' भेजा है. कंपनी के शेयरहोल्डर इम्प्लॉई को IPO के माध्यम से उनके शेयरों की बिक्री का रास्ता दिया है. इस रास्ते इम्प्लॉई अपने सारे या कुछ इक्विटी शेयरों को बेचने का फैसला ले सकते हैं. इसके SEBI के साथ प्रॉस्पेक्टस फाइल करने से पहले फैसला लिया जाना है. नोटिस के अनुसार जो इक्विटी शेयर इस दौरान नहीं बेचे जाएंगे उन पर एक साल का लॉक इन पीरियड लागू होगा.

किसी भी कंपनी के IPO के दौरान बिक्री के लिए लाए जाने वाले शेयर नए जारी किए हुए हो सकते हैं या वर्तमान शेयरधारकों के ऑफर फॉर सेल (OFS) के होते हैं. ऑफर फॉर सेल प्रक्रिया के अंतर्गत शेयरहोल्डर कंपनी में अपने शेयर को बेच सकता है. इन शेयरों की बिक्री से जुटाई गई पूरी राशि शेयरहोल्डर को जाती है. IPO के दौरान OFS माध्यम से शेयरों को बाजार में लाना काफी आम बात है.

पेटीएम के शेयर को लेकर ग्रे मार्केट में जिस तरह का उत्साह है उसको देखकर यह उम्मीद की जा रही है कि ज्यादातर इम्प्लॉई शेयरों की प्रीमियम लिस्टिंग की उम्मीद करे और कंपनी में हिस्सेदारी को बनाए रखना चाहे.
ADVERTISEMENT

SEBI के नियमों के पालन के लिए यह जरूरी:

SEBI के नियमों के अनुसार किसी भी कंपनी को कम से कम 10% शेयर इशू के बाजार में आने के दो वर्षों के भीतर लाना होता है. 5 वर्षों के भीतर इसका 25% होना जरूरी है. ऑफर फॉर सेल के अंतर्गत शेयरों की बिक्री पेटीएम को इस रेगुलेशन का पालन करने में मदद करेगी.

PayTM के वर्तमान निवेशकों में चीन की अलीबाबा ग्रुप, सॉफ्टबैंक, सैफ पार्टनर्स, AGH होल्डिंग, वारेन बफे की बर्कशायर हैथवे, इत्यादि जैसे बड़े निवेशक शामिल हैं. संभव है कि IPO के दौरान इनमें से भी कुछ निवेशक अपने शेयरों को OFS के रास्ते बेचे.
ADVERTISEMENT

जल्द आ सकता है इशू:

उम्मीद की जा रही है कि PayTM का IPO सितंबर से दिसंबर के बीच आ सकता है. कुछ रिपोर्ट के अनुसार नवंबर में कंपनी शेयर बाजार में उतर सकती है. PayTM के इस IPO का कुल आकार करीब 22,000 करोड़ होने की उम्मीद है. कोल इंडिया के 2010 में आए 15,200 करोड़ के IPO के बाद भारतीय शेयर बाजार में किसी भी कंपनी का यह सबसे बड़ा इशू हो सकता है. कंपनी अपने लिए 2 लाख करोड़ के आसपास वैल्यूएशन की उम्मीद कर रही है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT