हमसे जुड़ें
ADVERTISEMENTREMOVE AD

कोरोनावायरस संकट को अवसर में कैसे बदलें, महिंद्रा ने सुझाए 3 उपाय

महिंद्रा ने अवसरों के बारे में बताते हुए कहा कि, हमें वैश्विक निवेशकों को प्रोत्साहित करना चाहिए

Updated
कोरोनावायरस संकट को अवसर में कैसे बदलें, महिंद्रा ने सुझाए 3 उपाय
i
Hindi Female
listen

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

कोरोनोवायरस दुनिया के करीब 100 देशों में अपना कहर बरपा रहा है. इस वायरस ने वैश्विक बाजार में संकट की स्थिति पैदा कर दी है. हालांकि, इस संकट की घड़ी में कारोबारी आनंद महिंद्रा ने सलाह देते हुए कहा है कि, 'भारत के लिए ये एक संकट है, जिसे बर्बाद नहीं करना चाहिए.' इसके साथ ही उन्होंने कहा भारत को इस वैश्विक संकट के बीच तीन अवसरों का पता लगाने की जरूरत है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

आनंद महिंद्रा ने तीन अवसरों के बारे में बताते हुए ट्वीट कर कहा है कि ‘भारत के लिए संकट है और इसे बर्बाद नहीं करना चाहिए. तीन अवसरों का हमें लाभ उठाना चाहिए,

  1. सरकार तेल की कीमतों में आई कमी का उपयोग कर सकती है और इसके खपत को कम कर सकती है. साथ ही घाटे से निपटने का लाभ भी ले सकती है.
  2. सरकार स्वच्छता और स्वच्छ आंदोलन को आगे बढ़ाएं, जो भारत को चीन के विकल्प के तौर पर पर्यटकों के लिए अधिक आकर्षक बना देगा.
  3. हमें वैश्विक निवेशकों को प्रोत्साहित करना चाहिए और नियमों को समाप्त करना चाहिए, जिससे निवेशक मैन्युफैक्चरिंग के लिए भारत को चीन के वैकल्पिक स्थान के रूप में तलाश करें.

कोरोनावायरस के डर से शेयर बाजार को भारी नुकसान

मंदी की आशंकाओं के बीच शेयर बाजार को 9 मार्च को भारी नुकसान उठाना पड़ा. पूरे एशिया के शेयर बाजारों में गिरावट आई. बेंचमार्क सूचकांकों में 4 प्रतिशत से अधिक गिरावट दर्ज की गई है. वहीं, भारत में सेंसेक्स 2000 से ज्यादा प्वाइंट टूट गया. इस भारी गिरावट से निवेशकों के करीब 5 लाख करोड़ रुपये डूब गए.

कोरोना से अब तक 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौत

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि 100 से अधिक देशों में तेजी से फैलने वाले कोरोनावायरस के मामले सामने आए हैं, जिनमें एक लाख से अधिक संक्रमित हैं और 3,800 से अधिक लोग मारे गए हैं.

WHO ने सभी देशों से संभावित COVID -19 के लिए आपातकालीन व्यवस्था करने और सरकारों से मरीजों की पहचान और देखभाल करने की क्षमता बढ़ाने को कहा है. साथ ही ये भी सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि अस्पतालों में आवश्यक सुविधाएं और कर्मचारी हो.

भारत में अब तक कोरोनावायरस के 40 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
और खबरें
×
×