RIL चेयरमैन मुकेश अंबानी अब दुनिया के टॉप-10 अमीरों में शामिल

हाल में ही रिलायंस की सब्सीडियरी कंपनी जियो प्लेटफॉर्म को दुनियाभर से भारी भरकम निवेश मिला है

Updated20 Jun 2020, 05:28 PM IST
बिजनेस
2 min read

रिलांयस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी की संपत्ति अब बढ़कर 64.5 बिलियन डॉलर हो गई है और इस तरह वो दुनिया के 10 सबसे अमीर लोगों में शुमार हो गए हैं. ब्लूमबर्ग बिलिनियर इंडेक्स के मुताबिक मुकेश अंबानी ओरेकल कॉर्प के लैरी एलिसन और फ्रांस की फ्रांस्वा बेटनकोर्ट मेयर्स को पछाड़कर दुनिया के अमीरों की लिस्ट में 9वें नंबर पर पहुंच गए हैं

मुकेश अंबानी के पास रिलायंस इंडस्ट्रीज की 42% हिस्सेदारी है. हाल में ही रिलायंस की सब्सीडियरी कंपनी जियो प्लेटफॉर्म को दुनियाभर से भारी भरकम निवेश मिला है.

RIL लक्ष्य से पहले हुई कर्जमुक्त

मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने रिकॉर्ड कायम करते हुए सिर्फ 58 दिनों की छोटी सी मियाद में 1,68,818 करोड़ रुपये जुटा लिए. रिलायंस की सब्सिडियरी जियो प्लेटफॉर्म्स में वैश्विक निवेशकों की तरफ से 1,15,693.95 करोड़ रुपये का निवेश आया. वहीं रिलायंस ने राइट्स इश्यू के माध्यम से 53,124.20 करोड़ रुपये जुटाए. इतने कम वक्त में विश्व स्तर पर इतनी पूंजी जुटाना एक रिकॉर्ड है. भारतीय कॉपोर्रेट इतिहास के लिए भी यह अभूतपूर्व है.

पेट्रो-रिटेल क्षेत्र में बीपी के साथ हुए समझौते को भी इसमें जोड़ लें तो रिलायंस ने कुल 1,75,000 करोड़ रुपये से अधिक का फंड हासिल कर लिया है. 31 मार्च 2020 को कंपनी का नेट कर्ज 1,61,035 करोड़ रुपये था. इस इंवेस्टमेंट और राइट्स इश्यू के बाद कंपनी पूरी तरह से कर्ज मुक्त हो गई है.

अहम बात ये है कि फंड जुटाने का यह लक्ष्य कोविड-19 महामारी के कारण हुए वैश्विक लॉकडाउन के बीच हासिल किया गया. इस तरह अब रिलायंस इंडस्ट्रीज पर अब कोई कर्ज नहीं रह गया है और वो एक डेट फ्री कंपनी बन गई है.

ये देश और दुनिया की इकनॉमी के लिए बुरा वक्त चल रहा है, मंदी की आहट सुनाई दे रही है. ऐसे दौर में मुकेश अंबानी की संपत्ति में लगातार बढ़ोतरी होना भारत में आर्थिक बंटवारे की तस्वीर को उजागर करता है. ऊपर के 10% लोगों के पास कुल संपत्ति का तीन चौथाई हिस्सा है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 20 Jun 2020, 05:26 PM IST
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!