ADVERTISEMENT

Policybazaar IPO: निवेश करने की सोच रहे हैं तो पहले जान लें एक्सपर्ट्स की राय

Policybazaar IPO: कंपनी अपने आईपीओ के जरिये 5700 करोड़ रूपये जुटाने की तलाश में है.

Published
<div class="paragraphs"><p>कंपनी अपने आईपीओ के जरिये 5700 करोड़ रूपये जुटाने की तलाश में है.</p></div>
i

पॉलिसीबाजार (Policybazaar) की पेरेंट कंपनी पीबी फिनटेक (PB Fintech) अपना IPO ला रही है. आईपीओ 1 नवंबर को खुल रहा है, जिसके लिए आप 3 नवंबर तक अप्लाई कर सकेंगे. कंपनी अपने आईपीओ के जरिये 5700 करोड़ रुपये जुटाने की तलाश में है. जिसके लिए कंपनी 3,750 करोड़ रुपये के नये शेयर जारी करेगी. वहीं, मौजूदा शेयर होल्डर्स 1,960 करोड़ के शेयर्स 'ऑफर फॉर सेल' के रास्ते बेचेंगे.

ADVERTISEMENT

ग्रे मार्केट प्रीमियम-

आईपीओ के प्राइस बैंड की बात करें तो 940-980 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है. निवेशक इश्यू के लिए कम से कम 15 शेयर और उसके बाद 15 के मल्टीपल में आवेदन कर सकते हैं. मतलब रिटेल इन्वेस्टर को अलॉटमेंट लेने के लिए न्यूनतम 14,700 रुपये का निवेश करना होगा. ग्रे मार्केट में कंपनी के शेयर 1130 रुपये पर ट्रेड कर रहा है. जोकि अपर प्राइस बैंड से ₹150 ज्यादा है.

IPO से पहले 29 अक्टूबर को PB फिनटेक ने एंकर इन्वेस्टर्स से 2,569 करोड़ रुपया जुटाया

इश्यू का 75% हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टिट्यूशनल इन्वेस्टर्स (QIIs), 15% हिस्सा नॉन इंस्टिट्यूशनल इन्वेस्टर्स (NIIs) और बाकी का 10% हिस्सा रिटेल इन्वेस्टर के लिए रखा गया है.

ऑनलाइन इंश्योरेंस मार्केट को फ्रंट से लीड कर रही कंपनी-

PB फिनटेक इंश्योरेंस और लेंडिंग प्रोडक्ट्स के लिए भारत का अग्रणी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है. कंपनी इंश्योरेंस, लोन और अन्य वित्तीय उत्पादों जैसी सुविधा अपने कस्टमर्स को देती है. कंपनी ने वित्त वर्ष 2021 में 150 करोड़ रूपये का नेट घाटा दर्ज किया, जोकि इसके पिछले साल FY20 में कंपनी को हुए 304 करोड़ के घाटे से काफी कम है.

वित्त वर्ष 2020 में पॉलिसीबाजार ऑनलाइन पॉलिसी बेचने के मामले में 93.4% मार्केट हिस्सेदारी के साथ इंडिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन इंश्योरेंस प्लेटफार्म रहा था.

पॉलिसीबाजार के अलावा पैसाबाजार भी PB फिनटेक की एक सब्सिडीरी कंपनी है. पैसाबाजार पर्सन लोन और क्रेडिट कार्ड्स जैसे चीजों में डील करती है.

ADVERTISEMENT

मार्केट एक्सपर्ट्स की आईपीओ पर राय

कुछ ब्रोकरेज हॉउस ने कंपनी के हाई वैल्यूएशन के कारण रिटेल निवेशकों कों आईपीओ में सावधानी से निवेश करने का सुझाव दिया है.

वैल्यूएशन के बारे में बात करते हुए सामको सिक्योरिटीज के हेड ऑफ इक्विटी रिसर्च येशा शाह ने कहा- "कंपनी मार्च'21 में हुए अपने आखिरी फंडिंग राउंड की तुलना में लगभग 2.5 गुना मार्केट कैप की मांग कर रही है. इंश्योरेंस ब्रोकरस लाइसेंस और भारत में काफी कम ऑनलाइन इंश्योरेंस पैनेट्रेशन के कारण कंपनी के ग्रोथ की अपार संभावना है, लेकिन कंपनी का वर्तमान वैल्यूएशन काफी महंगा लगता है. ऐसे में केवल लॉन्ग टर्म निवेश की सोच रखने वाले और अधिक जोखिम ले सकने वाले निवेशक को ही इस इश्यू के लिए सब्सक्राइब करना चाहिए".

कंपनी के समग्र बिजनेस मॉडल और हाई वैल्यूएशन को ध्यान में रखते हुए, हमने इस आईपीओ पर न्यूट्रल रेटिंग रखा है.
अमरजीत मौर्य, एवीपी,मिडकैप्स, एंजेल वन

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT