एलन मस्क ने नहीं, टेस्ला ने बेचा Bitcoin; समझें क्या रही वजह?

इसी साल फरवरी में टेस्ला ने बिटकॉइन में 1.5 अरब डॉलर के बड़े निवेश की घोषणा की थी.

Published
<div class="paragraphs"><p>Not Elon Musk but Tesla sold 10 percent of its bitcoin holdings</p></div>
i

बिटकॉइन के हालिया तेजी के लिए दुनियाभर के क्रिप्टो निवेशक एलन मस्क का शुक्रिया अदा करते हैं. मस्क की इलेक्ट्रिक व्हीकल कंपनी टेस्ला के निवेश से बिटकॉइन ने लगातार नए शिखर हासिल किए थे. हालांकि अब टेस्ला ने अपने बिटकॉइन होल्डिंग का 10% बेच दिया है. इस बारे में उठ रहे सवालों को लेकर खुद एलन मस्क ने ट्विटर पर खुद जवाब दिया. आइए समझते हैं क्या है टेस्ला द्वारा बिटकॉइन बेचे जाने का पूरा माजरा-

ट्विटर पर उठे थे सवाल

सोमवार शाम को टेस्ला द्वारा तिमाही नतीजों का ऐलान किया गया. इस रिपोर्ट से पता चला कि कंपनी ने करीब 272 मिलियन डॉलर के बिटकॉइन बेचे हो सकते हैं. इसके बाद ब्रस्तूल स्पोर्ट्स के फाउंडर डेव पोर्टनॉय ने ट्वीट कर एलन मस्क पर गंभीर सवाल उठाए थे. डेव ने कहा था कि अगर वो सही समझ रहे हैं तो एलन मस्क ने बिटकॉइन खरीदकर इसकी कीमतों में इजाफे को प्रोत्साहित किया और बाद में इसको बेचकर बड़ा मुनाफा बनाया. इसी ट्वीट पर एलन मस्क ने रिप्लाई कर स्थिति स्पष्ट की.

लिक्विडिटी साबित करने के लिए बेचा

एलन मस्क ने डेव पोर्टनॉय के इस आरोप का ट्वीट के माध्यम से ही जवाब देते हुए पहले स्पष्ट किया कि उन्होंने अपने पोर्टफोलियो से बिटकॉइन नहीं बेची है. उन्होंने बताया कि उनकी कंपनी टेस्ला ने अपनी होल्डिंग का 10% बिटकॉइन बेचा है. जिसका मकसद इस क्रिप्टोकरेंसी की लिक्विडिटी को साबित करना था. मस्क के अनुसार यह बैलेंस शीट पर कैश के विकल्प के तौर पर बिटकॉइन की योग्यता को मजबूत करने के लिए था.

हमे बिटकॉइन की लॉन्ग टर्म वैल्यू पर विश्वास है. अभी हमारे पास जो है हम उसको लंबे समय के लिए होल्ड करना चाहते हैं. हम अपने कस्टमर से भुगतान के तौर पर मिलने वाले बिटकॉइन को भी जमा करेंगे.
जैचरी किरखोर्न, चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर, टेस्ला (एनालिस्ट्स के साथ बातचीत में)

1.5 अरब डॉलर का किया था बिटकॉइन में निवेश

इसी साल फरवरी में टेस्ला ने बिटकॉइन में 1.5 अरब डॉलर के बड़े निवेश की घोषणा की थी. कंपनी ने साथ ही बिटकॉइन को भुगतान के तौर पर स्वीकार करने की बात कही थी. इसके बाद से ही बिटकॉइन और तेजी से चढ़ने लगा था. अनेक इंस्टीट्यूशनल और खुदरा निवेशक मस्क के ऐलान के बाद बिटकॉइन में निवेश करने लगे. 14 अप्रैल को बिटकॉइन ने 64,800 डॉलर के करीब का अपना सर्वकालिक उच्चतम स्तर भी हासिल किया. हालांकि इसके बाद बिटकॉइन में बड़ा करेक्शन भी देखा गया. 28 अप्रैल को बिटकॉइन का भाव 55,000 डॉलर के करीब है.

तिमाही नतीजों में कंपनी का अच्छा प्रदर्शन

टेस्ला का प्रदर्शन तिमाही नतीजों में काफी शानदार रहा. कंपनी का रेवेन्यू पिछले साल की तुलना में 74% बढ़ते हुए 10.39 बिलियन डॉलर रहा. नेट प्रॉफिट भी इस दौरान रिकॉर्ड 438 मिलियन डॉलर पर पहुंच गया. टेस्ला की कमाई में व्हीकल बिक्री के अलावा बिटकॉइन की बिक्री से हुए मुनाफे और एमीशन क्रेडिट की बिक्री का अहम योगदान रहा.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!