ADVERTISEMENT

कोरोना के बीच स्विस बैंक में भारतीयों का बढ़ा धन,बांग्लादेश का घटा

स्विस बैंक (Swiss Bank) में किस देश का सबसे ज्यादा धन जमा है?

Updated
स्विस बैंक में दुनिया भर के देशों का पैसा
i

जब कोरोना में लोगों की माली हालत खराब हो रही थी, उसी वक्त स्विट्जरलैंड के बैंकों में भारतीयों का जमा पैसा बढ़ रहा था. स्विस बैंकों (Swiss Bank) में भारतीयों और भारतीय कंपनियों का जमा पैसा 2020 में बढ़कर 2.55 अरब स्विस फ्रैंक यानी करीब 20,700 करोड़ रुपये से ज्यादा हो गया है. हालांकि इस दौरान ग्राहकों की जमा राशि कम हुई है.

गुरुवार को स्विट्जरलैंड के केन्द्रीय बैंक की ओर से जारी किए गए सालाना डेटा से ये जानकारी सामने आई है.

स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) के डाटा के मुताबिक, साल 2019 के आखिर तक भारतीयों की जमा रकम का आंकड़ा 899 मिलियन स्विस फ्रैंक यानी 6,625 करोड़ रुपये था. लेकिन 2020 में ये बढ़कर 20,700 करोड़ रुपये से ज्यादा हो गया. आपको ये भी बता दें कि 2019 का आंकड़ा दो साल की गिरावट के ट्रेंड के उलट था.

2020 का ये आंकड़ा पिछले 13 सालों में सबसे ज्यादा है. इससे पहले साल 2006 में यह फंड लगभग 6.5 बिलियन स्विस फ्रैंक के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर था.

वहीं साल 2020 में बढ़ोतरी सिक्योरिटीज, बांड समेत दूसरे फाइनेंशियल प्रोडक्ट के जरिए रखी गई होल्डिंग से हुई है. इस रकम में 13500 करोड़ रुपये बॉन्ड, 4,000 करोड़ रुपए से ज्यादा के कस्टमर डिपॉजिट, 3100 करोड़ रुपये से ज्यादा दूसरे बैंकों के जरिए, 16.5 करोड़ रुपये ट्रस्ट के जरिए और लगभग 13500 करोड़ रुपये बॉन्ड, सिक्योरिटीज और अलग-अलग वित्तीय विकल्पों से संबंधित चीजें शामिल हैं.

ADVERTISEMENT

किस देश का सबसे ज्यादा धन स्विस बैंक में जमा

स्विस बैंक में जमा रकम के मामले में ब्रिटेन सबसे टॉप पर है. इस बैंक में ब्रिटेन के नागरिकों का 377 अरब स्विस फ्रैंक जमा हैं. वहीं दूसरे नंबर पर अमेरिका है, अमेरिका के लोगों के 152 अरब स्विस फ्रेंक जमा हैं. स्विस बैंक में जमाकर्ताओं के मामले में भारत का जमा 51वें नंबर पर है.

सबसे ज्यादा रकम जमा करने वालों में ब्रिटेन और अमेरिका के बाद वेस्टइंडीज, फ्रांस, हांगकांग, जर्मनी, सिंगापुर, लक्जमबर्ग, केमैन आईलैंड और बहामास का नाम है.

वहीं भारत इस मामले में पाकिस्तान, बांग्लादेश जैसे देशों से आगे है.

बांग्लादेश की जमा राशि में आई कमी

स्विस बैंकों ने जिन देशों के ग्राहकों की राशि में गिरावट की जानकारी दी है, उनमें अमेरिका और ब्रिटेन शामिल हैं, जबकि बांग्लादेश के व्यक्तियों और उद्यमों द्वारा रखे गए धन में भी 2020 के दौरान गिरावट आई है. लेकिन पाकिस्तानी ग्राहकों का कोष दोगुना होकर 64.20 करोड़ स्विस फ्रैंक हो गया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT