1500 की वैक्सीन 150 में बेच रहे, हमें 3000 करोड़ चाहिए: पूनावाला

पूनावाला ने अगले 1-2 महीने वैक्सीन की सप्लाई में भारत को प्राथमिकता देने की बात कही

Updated
SII के सीईओ अदार पूनावाला
i

दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन निर्माता सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के CEO अदार पूनावाला ने कहा है कि COVID-19 वैक्सीन की सप्लाई में देरी को लेकर एस्ट्राजेनेका ने उनको लीगल नोटिस भेजा है. SII भारत में ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वायरस वैक्सीन बना रहा है.

अंग्रेजी अखबार बिजनेस स्टैंडर्ड के साथ एक इंटरव्यू में पूनावाला ने कहा, ''एस्ट्राजेनेका ने हमें (वैक्सीन की सप्लाई में देरी के लिए) लीगल नोटिस भेजा है और भारत सरकार को भी यह बात पता है.''

इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘’भारतीय सप्लाई को प्राथमिकता देने की वजह से सीरम इंस्टिट्यूट कॉन्ट्रैक्ट की जिन प्रतिबद्धताओं को पूरा करने में सक्षम नहीं है, उनको लेकर हम सौहार्दपूर्ण तरीके से कानूनी विवादों को सुलझाने के लिए सभी विकल्पों पर ध्यान दे रहे हैं.’’

पूनावाला ने कहा कि सरकार भी इस पर ध्यान दे रही है कि इस मुद्दे को कैसे सुलझाया जाए. उन्होंने कहा कि अगले एक या दो महीने हम सरकार के अनुरोध और हमारे लोगों की जरूरतों के आधार पर केवल भारत में सप्लाई को ही प्राथमिकता देंगे. उन्होंने कहा कि एक बार भारत में स्थिति सुधर जाए तो वैक्सीन का निर्यात तेजी पकड़ सकता है.

'उत्पादन बढ़ाने के लिए 3000 करोड़ रुपये की जरूरत'

पूनावाला ने मंगलवार को समाचार चैनल एनडीटीवी से कहा, ‘‘हमें मोटे तौर पर 3000 करोड़ रुपये की जरूरत है, जो एक छोटा आंकड़ा नहीं है, क्योंकि हमने पहले ही हजारों करोड़ रुपये खर्च कर दिए हैं. हमें अपनी क्षमता निर्माण के लिए बाकी नए तरीके तलाशने होंगे.’’

उन्होंने कहा कि कंपनी को उम्मीद है कि कोविशील्ड वैक्सीन की उत्पादन क्षमता जून से हर महीने 11 करोड़ तक बढ़ जाएगी.

भारत में कम दाम पर वैक्सीन सप्लाई को लेकर उन्होंने कहा, ''हम भारत में करीब 150-160 रुपये में सप्लाई कर रहे हैं. जबकि औसत दाम करीब 20 डॉलर (1500 रुपये) है...(लेकिन) मोदी सरकार के अनुरोध के चलते, हम सब्सिडाइज्ड रेट पर (वैक्सीन) मुहैया करा रहे हैं.''

पूनावाला ने कहा, ‘’ऐसा नहीं है कि हमें मुनाफा नहीं हो रहा है...लेकिन हमें बहुत ज्यादा मुनाफा नहीं हो रहा, जो फिर से निवेश करने के लिए अहम होता है.‘’

SII के CEO ने बताया कि कंपनी हर दिन 20 लाख खुराक का उत्पादन कर रही है. उन्होंने कहा, ‘‘हमने अकेले भारत में 10 करोड़ से ज्यादा खुराक दी हैं और बाकी देशों को लगभग छह करोड़ खुराक का निर्यात किया है.’’

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!