सावरकर को भारत रत्न मिलना गलत या सही? ट्विटर यूजर्स की बंटी राय
बीजेपी ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के घोषणापत्र में सावरकर को भारत रत्न देने का वादा किया है
बीजेपी ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के घोषणापत्र में सावरकर को भारत रत्न देने का वादा किया है (फोटो: Altered By Quint Hindi)

सावरकर को भारत रत्न मिलना गलत या सही? ट्विटर यूजर्स की बंटी राय

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी के घोषणापत्र पर सोशल मीडिया बंट गया है. कारण? बीजेपी ने अपने मैनिफेस्टो में सावरकर के लिए भारत रत्न की मांग करने की बात कही है. इसके बाद से ही, सोशल मीडिया पर वीर सावरकर ट्रेंड कर रहा है. जहां एक ओर लोग सावरकर के भारत रत्न के पक्ष में है, वहीं कई यूजर्स इसके खिलाफ हैं.

Loading...
अपने घोषणापत्र ने बीजेपी ने वादा किया है कि वो केंद्र सरकार से विनायक दामोदर सावरकर, ज्योतिबा भुले और सावित्रीबाई फुले को भारत रत्न देने की मांग करेगी.

सुब्रमण्यम स्वामी समेत कई लोगों ने महाराष्ट्र सरकार के इस फैसले का स्वागत किया. स्वामी ने लिखा, ‘अच्छी बात है कि सरकार ने वीर सावरकर को भारत रत्न से सम्मानित करने का फैसला लिया.’

सावरकर को भारत रत्न दिए जाने की मांग का कई सोशल मीडिया यूजर्स ने समर्थन किया है.

ये भी पढ़ें : सावरकर को भारत रत्न पर विचार होगा तो देश को भगवान बचाए: कांग्रेस

‘सावरकर को भारत रत्न, अवॉर्ड का अपमान’

वहीं कई यूजर्स महाराष्ट्र सरकार की इस मांग के विरोध में खड़े हैं. कॉलमनिस्ट सुधींद्र कुलकर्णी ने ट्विटर पर लिखा, ‘सावरकर को भारत रत्न देना, भारत रत्न और भारत, दोनों का अपमान है. महात्मा गांधी को मारने की साजिश में शामिल होने के लिए संदेह की सुई हमेशा उसकी ओर इशारा करती है.’

एक यूजर ने लिखा, ‘बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में सावरकर को भारत रत्न देने का वादा किया है. एक महाराष्ट्रियन के तौर पर, शर्म आ रही है कि शिवाजी, अंबेडकर, बाबा आम्टे जैसे हीरो के बावजूद इसे हीरो बनाया जा रहा है.’

एक ने लिखा, ‘अगली बार रामायण के जटायू को परमवीर चक्र और जामवंत को भारत रत्न दे दीजिएगा. इस देश को वापस 11वीं सदी में ले जाने के कई रास्ते हैं. और आपको तो बाकियों से ज्यादा पता है.’

कांग्रेस ने बोला हमला

सावरकर को भारत रत्न की मांग पर कांग्रेस ने भी बीजेपी सरकार पर हमला बोला है.

‘सावरकर के ऊपर महात्मा गांधी की हत्या के मामले में फौजदारी का मुकदमा चला है. यह बात सही है कि वह बरी हो गए थे। इसके बाद कपूर आयोग बना। एक पत्रकार ने अपने लेख में लिखा है कि कपूर आयोग इस निष्कर्ष पहुंचा कि सभी तथ्य इस बात के अलावा दूसरी अन्य बातों को नकार रहे थे कि हत्या की साजिश सावरकर एवं उनके समूह की थी.’
मनीष तिवारी, कांग्रेस नेता

पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर अगर ऐसी किसी चीज (सावरकर को भारत रत्न देने) के ऊपर सरकार विचार करती है तो फिर इस देश को भगवान बचाए'

ये भी पढ़ें : सोशल मीडिया बोला- नोबेल वाले अभिजीत भी ‘एंटी-नेशनल जेएनयू’ से हैं

(हैलो दोस्तों! WhatsApp पर हमारी न्यूज सर्विस जारी रहेगी. तब तक, आप हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our सोशल दंगल section for more stories.

वीडियो

Loading...