चुनाव 2019 | भोजपुरी तड़के से चाची-भौजी को रिझा रही हैं पार्टियां 

बिहार में चाची और भाभी जी का वोट पाने के लिए राजनीति पार्टियों ने अनोखा तरीका अपनाया है.

Updated
चुनाव प्रचार में भोजपुरी गानों का इस्तेमाल
i

चुनावी मौसम है, देशभर में नेता अलग-अलग तरीके से चुनाव प्रचार कर रहे हैं. बिहार में चाची और भाभी जी का वोट पाने के लिए राजनीति पार्टियों ने अनोखा तरीका अपनाया है. बिहार में कई बड़े भोजपुरी सिंगर्स ने अपनी आवाज में गाने रिकॉर्ड किए हैं, जो अलग-अलग पार्टियां प्रचार के लिए इस्तेमाल कर रही हैं. कोई भौजी से वोट मांग रहा है तो कोई चाची से.

अब मामला आधी आबादी का है, तो भला राजनीतिक पार्टियां इन्हें कैसे छोड़ सकती हैं. देश के दो बड़े राज्य यूपी और बिहार में महिलाओं की तादाद भी ज्यादा है. विधानसभा और लोकसभा चुनाव में महिलाएं बढ़ चढ़कर हिस्सा लेती हैं. 2014 के लोकसभा चुनाव में बिहार की महिलाओं का टर्नआउट पुरुषों से 3 फीसदी ज्यादा ही था. ऐसे में राजनीतिक पार्टियां महिलाओं को रिझाने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहती हैं.

भोजपुरी सिंगर पवन सिंह एनडीए के लिए चाची जी से कुछ अंदाज में वोट मांग रहे हैं. ‘मांग ले आशीष चाची छू के चरणियां, दे दीह आपन दुलार, वोट मांगे बेटवा तोहार..’ अब पवन सिंह के इस गाने से चाची जी कितनी प्रभावित होंगी ये तो चुनाव के नतीजे ही बताएंगे.

बिहार के एक औैर सिंगर पीके राजा भाभी जी से पीएम मोदी को वोट देने की गुहार लगा रहे हैं. - ए-भौजी वोट दीह फूल पर...

अब एनडीए भोजपुरी गानों से भाभी जी और चाची जी को रिझाने में लगी है, तो भला महागठबंधन कैसे पीछे रहे. बिहार के सिंगर प्रमोद प्रेमी और अंतरा सिंह का ये गाना लोगों को आरजेडी को वोट देने के लिए लोगों को रिझा रहे हैं. गाने के पहले लालू यादव और तेजस्वी यादव जिंदाबाद के नारे लगाते हुए गा रहे हैं- राजा बिहार बर्बाद भईल बा...

अब भाभी जी और चाची से तो इस अंदाज में वोट मांगा जा रहा है, तो वहीं इस गाने में भाभी जी कन्फ्यूज होकर अपने देवर से सलाह मांग रही हैं कि वो किसे वोट दें. देवर जी अपनी भाभी को समझा रहे हैं कि ‘ललटेनी ये कामे आई सुने ये भौजाई’ और अपनी भाभी को महागठबंधन को वोट देने की सलाह दे रहे हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!