ADVERTISEMENTREMOVE AD

'The Kashmir Files' पर आमिर खान से लेकर राम गोपाल वर्मा तक किसने क्या कहा?

राम गोपाल वर्मा ने कहा कि विवेक रंजन अग्निहोत्री ने अपना खुद का विवेकवुड बनाकर बॉलीवुड को रौंद दिया.

Updated
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

फिल्म, 'द कश्मीर फाइल्स' (The Kashmir Files) इस समय चर्चामें है. इस फिल्म को कई लोग विवादित बता रहें हैं, तो कई समर्थन में भी हैं. ऐसे में इसे जनता और आलोचकों से मिली जुली प्रतिक्रिया मिल रही है. बता दें, ये फिल्म साल 1990 में कश्मीरी हिंदुओं के पलायन पर आधारित है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

फिल्म को लेकर कुछ आलोचकों का कहना है इस फिल्म में सही तथ्यों को नहीं दिखाया गया है, इसमें सिर्फ हिंदुओं की पीड़ा को दिखाया गया है, जबकि उस दौर में मुस्लिमों ने भी पीड़ा सही थी. वहीं, फिल्म जगत की कुछ मशहूर हस्तियां और पत्रकारों ने इस फिल्म की सराहना की है.

इस फिल्म को लेकर बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान ने कहा कि इस बात से मैं खुश हूं कि फिल्म अच्छा कर रही है और जब भी समय मिलेगा मैं इस फिल्म को जरूर देखूंगा.

फिल्म निर्देश राम गोपाल वर्मा ने विवेक अग्निहोत्री की सराहना की कि उन्होंने बॉलीवुड के नियमों को तोड़ा है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि विस्फोटक सामग्री के अलावा, विवेक रंजन अग्निहोत्री ने अपना खुद का विवेकवुड बनाकर बॉलीवुड को रौंद दिया, जो क्रांतिकारी फिल्म निर्माताओं की एक नई नस्ल को प्रेरित करेगा. और यह #KashmirFiles की विशाल व्यावसायिक सफलता से अधिक जीत है.

0

फिल्म 'काई पो चे' और 'केदारनाथ' जैसी फिल्मों के निर्देशक अभिषेक कपूर ने फिल्म की प्रशंसा की और कहा कि लोग आखिरकार कश्मीरी पंडितों के दर्द को समझते हैं. उन्होंने फिल्म के निर्देशक को 'एक फिल्म निर्माता का शेर' बताते हुए कहा कि अग्निहोत्री ने उन्हें आवाज दी है.

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि क्या अविश्वसनीय फिल्म है. 30 साल बाद पीपीएल ने आखिरकार कश्मीरी पंडितों के दर्द को समझा है.

इस बीच फिल्म को लेकर अभिनेता सुनील शेट्टी ने भी ट्वीट किया और लिखा कि कंटेंट सिर्फ राजा नहीं है, यह साम्राज्य है. द कश्मीर फाइल्स में शानदार कथा और प्रदर्शन. सबूत है कि अच्छी फिल्में काम करती हैं. अगर कोई बड़े पर्दे के माध्यम से दर्द महसूस कर सकता है तो यह निर्माताओं के लिए पूर्ण अंक है.

वहीं, पत्रकार सागरिका किसु ने कहा कि वह फिल्म देखते हुए रोई थीं. उन्होंने कहा कि मैं अनुपम खेर को इस बेहतरीन अभिनय और केपी के दर्द को लगभग सही ढंग से अभिनय में बदलने के लिए नमन करती हूं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×