ADVERTISEMENT

डैनी:चेहरे के कारण रिजेक्शन,फिर इतना काम मिला कि ‘गब्बर’ को कहा ना

सेना में शामिल होने का सपना देखने वाले Danny Denzongpa इस तरह पहुंचे मुंबई.

Published
एक्टर डैनी डेंजोंगप्पा
i

डैनी डेंजोंगप्पा... बॉलीवुड का वो विले,न जो अपने अलग स्टाइल और लुक के लिए जाना जाता है. उन्होंने फिल्मों में न सिर्फ विलेन, बल्कि कई अलग-अलग किरदार भी निभाए. कई ब्लॉकबस्टर फिल्मों में काम करने वाले डैनी (Danny Denzongpa) आज जिस मुकाम पर हैं, उन्हें यहां तक पहुंचने में काफी संघर्ष करना पड़ा. हालांकि, उनके मुश्किल दौर में जया बच्चन (Jaya Bachchan) ने उनकी काफी मदद की. इतना ही नहीं, शायद कम ही लोग जानते हैं कि डैनी का असली नाम शेरिंग फिंटसो डेंगजोंग्पा है, लेकिन इस नाम को बोलने में काफी दिक्कत होती थी, इसलिए जया ने उन्हें डैनी नाम दिया और वे इसी नाम से इंडस्ट्री में फेमस हुए.

चेहरे की वजह से हुए रिजेक्ट

सिक्किम के गंगटोक में जन्मे डैनी बचपन में देश की सेवा करने के लिए भारतीय सेना में शामिल होने का सपना देखा करते थे, लेकिन इसके लिए उनकी मां ने मना कर दिया और कहा कि वे कुछ आर्टिस्टिक काम करें. इसके बाद उन्होंने एक्टिंग में किस्मत आजमाने की सोची और पुणे के फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (FTII) में दाखिला लिया.

डैनी:चेहरे के कारण रिजेक्शन,फिर इतना काम मिला कि ‘गब्बर’ को कहा ना
(फोटो: ट्विटर)

इसके बाद वे फिल्मों में काम करने की ख्वाहिश लेकर मुंबई पहुंचे, लेकिन यहां उन्हें कई रिजेक्शन झेलने पड़े. खबरों की मानें तो जब डैनी मुंबई आए तो इंडस्ट्री में लोग उनकी शक्ल देखकर कहते थे कि इस चेहरे के साथ वॉचमैन और नौकर के ही रोल मिलेंगे.

इतना ही नहीं, एक फेमस प्रोड्यूसर ने तो उन्हें यहां तक कहा था कि “तुम्हें इंडस्ट्री में कोई हीरो बना दे तो मैं अपना नाम बदल दूंगा.”
ADVERTISEMENT

धुंध से मिली पहचान

रिजेक्शन के बाद भी डैनी ने हिम्मत नहीं हारी और आखिरकार उन्हें फिल्म में काम करने का मौका मिला. 1972 में आई फिल्म ‘जरूरत’ से उन्होंने बॉलीवुड में कदम रखा था, लेकिन शुरुआती कुछ फिल्मों से उन्हें खास पहचान नहीं मिली. 1973 में आई फिल्म ‘धुंध’ में नेगेटिव रोल प्ले कर वो दर्शकों के बीच अपनी पहचान बनाने में कामयाब रहे. इस फिल्म में उन्होंने जीनत अमान, नवीन निश्चल, संजय खान और अशोक कुमार जैसे स्टार्स के साथ काम किया था.

इसलिए ठुकरा दिया था गब्बर का रोल

हिंदी सिनेमा की आइकॉनिक फिल्म ‘शोले’ में गब्बर सिंह का किरदार पहले डैनी को ऑफर हुआ था, लेकिन उन्होंने फिल्म में काम करने से मना कर दिया था. दरअसल, उन दिनों वे फिरोज खान की फिल्म ‘धर्मात्मा’ की शूटिंग अफगानिस्तान में कर रहे हैं और उनका काफी टाइट शेड्यूल था, जिसकी वजह से वे गब्बर नहीं बन पाए. इसके बाद यह रोल अमजद खान ने निभाया, जो खूब पॉपुलर हुआ.

डैनी:चेहरे के कारण रिजेक्शन,फिर इतना काम मिला कि ‘गब्बर’ को कहा ना
(फोटो: ट्विटर)
ADVERTISEMENT

पर्सनल लाइफ को लेकर चर्चा

डैनी जितना अपनी प्रोफेशल लाइफ को लेकर चर्चा में रहे, उतना ही वे पर्सनल लाइफ को लेकर भी सुर्खियों में रहे. जब उनका करियर पीक पर था, तब वे उस दौर की सुपरस्टार परवीन बाबी के साथ रिलेशनशिप में थे. परवीन और डैनी एक-दूसरे से प्यार करते थे. दोनों लिव इन में भी रहते थे. डैनी ने एक इंटरव्यू में बताया था कि परवीन और उनका साथ तीन-चार साल का था.

“हमने साथ में बहुत अच्छा समय बिताया. हम हमेशा दोस्त रहे. बाद में मैं किम को डेट करने लगा था.’

सिक्किम की राजकुमारी से की शादी

डैनी ने आखिरकार 1990 में सिक्किम की राजकुमारी गावा से शादी की. गावा लाइमलाइट से दूर रहने पसंद करती है. कहने को तो दोनों की अरेंज मैरिज है, लेकिन शादी से पहले दोनों ने एक-दूसरे को लंबे समय तक डेट किया था. उनके दो बच्चे रिन्जिंग डेन्जोंगपा और पेमा डेन्जोंगपा हैं. रिपोर्ट्स की मानें तो डैनी का बेटा भी फिल्मों में आने की तैयारी कर रहा है. रिन्जिंग, टाइगर श्रॉफ का दोस्त है.

ADVERTISEMENT
अपने परिवार के साथ डैनी डेंजोंगप्पा
अपने परिवार के साथ डैनी डेंजोंगप्पा
(फोटो: ट्विटर)

इन फिल्मों में किया काम

अपने करियर में डैनी ने करीब 190 फिल्में की हैं, जिनमें ‘अग्निपथ’, ‘हम’, ‘अंदर बाहर’, ‘चुनौती’, ‘क्रांतिवीर’, ‘घातक’, ‘इंडियन’, ‘धर्मात्मा’, ‘खोटे सिक्के’, ‘चाइना गेट’, ‘अशोका’, ‘मेरे अपने’, ‘काला सोना’, ‘कालीचरण’, ‘बेबी’, ‘नाम शबाना’ शामिल हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT