जावेद साहब की कलम से निकले वो डायलॉग,जो आम जिंदगी के मुहावरे बन गए

जावेद अख्तर ने बॉलीवुड को कई दमदार डायलॉग्स दिए, जिनका 30-40 सालों बाद भी उतना ही क्रेज  है.

Updated
सितारे
2 min read
जश्न-ए-रेख्ता में बतौर वक्ता शामिल होंगे जावेद अख्तर, विशाल भारद्वाज
i

अमिताभ बच्चन, धर्मेंद्र, राजेश खन्ना जैसे सुपर स्टार्स की चमक-दमक वाले 70 और 80 के दशक में बॉलीवुड में लेखकों की एक जोड़ी थी जो इन स्टार्स से भी ज्यादा रसूख रखती थी. उनकी कलम से कहानी नहीं पैसा निकलता था.वो जोड़ी थी सलीम-जावेद की. कहानियों के साथ-साथ इस जोड़ी ने सैंकड़ों ऐसे डायलॉग लिखे जो आम जिंदगी के मुहावरे बन गए.

वक्त के साथ सलीम खान साहब ने तो फिल्मों को अलविदा कह दिया लेकिन जावेद साहब अपने गीतों, कहानियों , शायरी के जरिए सिनेमा और कला-साहित्य के क्षेत्र में बने रहे. हम आपको दिखाते हैं इस जोड़ी के मेरे पास मां है से लेकर मोगैम्बो खुश हुआ तक के वो बेस्ट डायलॉग जो कभी ना कभी आपने भी जरूर बोले होंगे.

“मेरे पास मां है”
“मेरे पास मां है”
(फोटो: क्विंट हिंदी)
“ये पुलिस स्टेशम है, तुम्हारे बाप का घर नहीं”
“ये पुलिस स्टेशम है, तुम्हारे बाप का घर नहीं”
(फोटो: क्विंट हिंदी)
“अरे ओर सांबा, कितने आदमी थे?”
“अरे ओर सांबा, कितने आदमी थे?”
(फोटो: क्विंट हिंदी)
“तू अभी इतना अमीर नहींहुआ बेटा, कि अपनी मां को खरीद सके”
“तू अभी इतना अमीर नहींहुआ बेटा, कि अपनी मां को खरीद सके”
(फोटो: क्विंट हिंदी)
“ये हाथ हमको दे दे ठाकुर”
“ये हाथ हमको दे दे ठाकुर”
(फोटो: क्विंट हिंदी)
“मोगैम्बो खुश हुआ!”
“मोगैम्बो खुश हुआ!”
(फोटो: क्विंट हिंदी)
“हमारे देश में, काम ढूंढना भी एक काम है”
“हमारे देश में, काम ढूंढना भी एक काम है”
(फोटो: क्विंट हिंदी)
“इस दुनिया में दो टांग वाला जानवर सबसे खतरनाक है”
“इस दुनिया में दो टांग वाला जानवर सबसे खतरनाक है”
(फोटो: क्विंट हिंदी)
“इस पिस्तौल की गोली से तुम्हारे माथे पर तीसरी आंख बना दूंगा”
“इस पिस्तौल की गोली से तुम्हारे माथे पर तीसरी आंख बना दूंगा”
(फोटो: क्विंट हिंदी)

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!