ADVERTISEMENT

सलमान खान लॉन्च करेंगे अपना NFT : क्या है ये? कैसे काम करता है?

NFTs बॉलीकॉइन पर उपलब्ध होगा - जिसे बॉलीवुड डायरेक्टर और प्रोड्यूसर अतुल अग्निहोत्री ने शुरू किया गया है.

Published
<div class="paragraphs"><p>सलमान खान</p></div>
i

बॉलीवुड महानायक अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) के NFT लॉन्च करने के करीब एक हफ्ते बाद, सलमान खान (Salman Khan) ने भी नॉन-फंजीबल टोकन्स (NFT) लॉन्च करने का फैसला किया है. एक्टर ने ट्विटर पर अपने खुद के NFT कलेक्शन के लॉन्च की घोषणा की, जो बॉलीकॉइन पर उपलब्ध होगा - जिसे बॉलीवुड डायरेक्टर और प्रोड्यूसर अतुल अग्निहोत्री ने शुरू किया गया है. ये एक नया, समर्पित, बॉलीवुड-थीम वाला NFT प्लेटफॉर्म है.

बॉलीकॉइन प्लेटफॉर्म का उद्देश्य फैंस को फिल्मों से क्लिप और स्टिल्स, आइकॉनिक डायलॉग्स, पोस्टर, अनदेखी फुटेज और सोशल मीडिया कंटेंट और सेलेब्स की मर्चेंडाइज में निवेश करने की अनुमति देना है.
ADVERTISEMENT

सलमान खान ने 13 अक्टूबर को NFT लॉन्च करने की घोषणा करते हुए लिखा, "आ रहा हूं मैं, NFT लेके. सलमान खान का NFT जल्द बॉलीकॉइन पर आ रहा है. जुड़े रहिए, भाई लोग!"

NDTV गैजेट्स की रिपोर्ट के मुताबिक, बॉलीकॉइन द्वारा अपनी वेबसाइट पर लिस्ट किए एक व्हाइट पेपर के मुताबिक, मशहूर हस्तियों की डिजिटल वस्तुओं को एथेरियम ब्लॉकचेन पर बेचा जाएगा, जो दुनिया भर के बॉलीवुड फैंस के लिए अपनी पसंदीदा बॉलीवुड फिल्मों के NFT के मालिक होने के लिए एक मंच पेश करेगा.

अब तक, प्लेटफॉर्म ने कुछ प्रमुख प्रोडक्शन हाउस के साथ पार्टनर्शिप की है, जिसमें सलमान खान फिल्म्स, अरबाज खान प्रोडक्शन, सोहेल खान प्रोडक्शन और रील लाइफ प्रोडक्शंस शामिल हैं. कुछ दूसरे प्रोडक्शन हाउस के साथ बात चल रही है, और प्लेटफॉर्म इस साल दिसंबर में होने वाले फॉर्मल लॉन्च से पहले मंच को पूरा करने के लिए आश्वस्त है.

ट्विटर पर सलमान के NFT के चर्चे

सलमान खान के NFT लॉन्च करने की घोषणा से उनके फैंस काफी खुश नजर आ रहे हैं. ट्विटर पर कई लोगों ने इसपर प्रतिक्रिया दी है.

ADVERTISEMENT

क्या है नॉन-फंजीबल टोकन (NFT)?

BBC की रिपोर्ट के मुताबिक, इकनॉमिक्स में, फंजीबल एसेट (संपत्ति) कुछ ऐसी यूनिट्स होती हैं, जिन्हें आसानी से बदला जा सकता है - जैसे पैसा.

पैसे के साथ, आप 10 रुपये के नोट को 5-5 रुपये के नोट को बदल सकते हैं और इसका मूल्य समान होगा.

हालांकि, अगर कुछ नॉन-फंजीबल है, तो ऐसा करना असंभव होगा. इसका मतलब है कि इस नॉन-फंजीबल एसेट में यूनिक क्वॉलिटी है, इसलिए इसे किसी और चीज के साथ इंटरचेंज नहीं किया जा सकता है. ये आइटम एक घर से लेकर मोनालीसा की पेंटिंग तक हो सकता है.

डिजिटल टोकन को वर्चुअल या फिजिकल एसेट के स्वामित्व के सर्टिफिकेट के रूप में माना जा सकता है.

ज्यादातर NFTs एथेरियन ब्लॉकचेन का हिस्सा होते हैं. एथेरियम एक क्रिप्टोकरेंसी है, जैसे बिटकॉइन या डोजेकॉइन, लेकिन इसका ब्लॉकचेन भी इन NFTs को सपोर्ट करता है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT