ADVERTISEMENT

उत्तराखंड के NIFT छात्र ने डिजाइन किया था वीर दास का एमी सूट, ये है खासियत

वीर दास के एमी सूट को डिजाइन करने वाले प्रदीप भट्ट एक दुर्लभ बीमारी से जूझ रहे हैं.

Updated
<div class="paragraphs"><p>उत्तराखंड का निफ्ट छात्र वीर दास के साथ एम्मी में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंचे</p></div>
i

वीर दास (Vir Das) की 'नेटफ्लिक्स कॉमेडी स्पेशल वीर दास: फॉर इंडिया' को इंटरनेशनल एमी अवॉर्ड (Emmy Awards) के लिए नॉमिनेट किया गया था. जैसा कि किसी भी अवॉर्ड शो के मामले में होता है, सभी की निगाहें इस बात पर होती हैं कि एक सेलिब्रिटी ने क्या पहना है.

दास ने फैसला किया कि उभरते हुए भारतीय फैशन डिजाइनरों को प्रदर्शित करने के लिए एमीज एकदम सही मौका था. दास के एमी सूट को नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (NIFT) के एक छात्र प्रदीप भट्ट (Pradeep Bhatt) ने डिजाइन किया था.

दास ने सफेद कुर्ता और काली पैंट के साथ काले बटन वाली जैकेट पहनी थी. कॉमेडियन ने पहले उल्लेख किया था कि वह यह कपड़े कार्यक्रम के बाद संगठन को चैरिटी के लिए देंगे.

<div class="paragraphs"><p>प्रदीप भट्ट के डिजाइन में कॉमेडियन वीर दास, एम्मीज़ में नवाजुद्दीन सिद्दीकी के साथ</p></div>

प्रदीप भट्ट के डिजाइन में कॉमेडियन वीर दास, एम्मीज़ में नवाजुद्दीन सिद्दीकी के साथ

(फोटो साभारः ट्विटर)

ADVERTISEMENT

इससे पहले सितंबर में वीर दास ने उभरते हुए डिजाइनरों से अनुरोध किया था कि एक शानदार भारतीय स्टाइलिस्ट/डिजाइनर की तलाश की जाए और उनका एक पहनावा (एमीज समारोह में) पहना जाए. यह सब मुफ्त है और दिखावा जैसा है."

उन्होंने कहा, यह सादगी के बारे में था. हमारे पास कोई मंच नहीं था, कोई स्वैग नहीं था, कुछ भी फैंसी नहीं था, सादा देसी. मैंने पूरा पहनावा (जूतियां समेत) ऑनलाइन दो हजार रुपये से कम में खरीदा और लोकल स्तर पर दोस्तों से लिनेन कुर्ता शर्ट बनवाया.

वीर दास के एमी आउटफिट के लिए नियम

वीर दास के एमी पोशाक के लिए चार नियम थे. लेबल को नए सिरे से लॉन्च किया जाना चाहिए या डिजाइनर को हाल ही में हुआ ग्रेजुएट या सोलो होना चाहिए. पोशाक को शो के 'इंडियन वेस्टर्न फ्यूजन' से प्रेरित होना चाहिए.

आखरी दो नियम पोशाक के 'फॉर्मल लेकिन देसी और कूल' होने के लिए थे और वीर इसके लिए भुगतान करते और शो के बाद इसे चैरिटी के लिए नीलाम करने वाले थे. वीर दास को अपना डिजाइनर प्रदीप भट्ट के रूप में मिला.

ADVERTISEMENT

कौन हैं प्रदीप भट्ट ?

प्रदीप भट्ट NIFT, कांगड़ा में चौथे वर्ष के छात्र हैं और उत्तराखंड के हल्द्वानी में रहते हैं. निफ्ट में वह डिजाइन में ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहे हैं. भट्ट ओलिवियर रूस्टिंग को अपने आदर्श के रूप में देखते हैं और उनकी तरह एक रचनात्मक निर्देशक बनना चाहते हैं.

भट्ट ने यह भी खुलासा किया था कि उन्होंने वीर दास को एक मजाक के रूप में ईमेल भेजा था. भट्ट ने इंस्टाग्राम पर लिखा, "मजेदार है कि मैंने मेल भेजना एक मजाक के रूप में शुरू किया. सोचा कि कोई मेरा मेल खोलेगा भी नहीं, जिसका व्हाट्सएप स्टेटस कहता है "हर कोई मशहूर होने की कोशिश कर रहा है मैं बस छिपने की जगह ढूंढ रहा हूं "और अब हम यहां हैं."

उन्होंने अपना पोर्टफोलियो दास को एक इनफॉर्मल मेल में भेजा था और उन्हें जवाब की उम्मीद नहीं थी. भट्ट ने कहा कि उनका डिजाइन अंतरराष्ट्रीय मंच तक पहुंचना "उन लोगों के लिए महत्वपूर्ण है जो छोटे शहरों से बड़े सपने लेकर आते हैं."

प्रदीप भट्ट के डिजाइन उनकी चिकित्सा स्थिति से प्रभावित हैं

ब्रूट इंडिया को दिए एक इंटरव्यू में प्रदीप भट्ट ने अपनी चिकित्सा स्थिति केराटोकोनस- एक दुर्लभ कॉर्नियल डिसफंक्शन के बारे में बताया. केराटोकोनस अक्सर प्रकाश और चकाचौंध और धुंधली दृष्टि के प्रति संवेदनशीलता का कारण बनता है.

अपनी चिकित्सा स्थिति के बारे में बात करते हुए, भट्ट ने कहा, “मुझे एक चांद नहीं दिखता. मुझे कुछ 16-20 चांद दिखाई देते हैं. क्या होता है कि एक चांद कई मल्टीपल इमेजेस में फेड हो जाता है जो किसी तरह मिक्स हो जाते हैं. ”

हालांकि, भट्ट ने कहा कि उनका डिजाइन अब उनकी 'चीजों को अलग तरह से देखने की क्षमता' के कारण प्रभावित हुआ है. भट्ट ने इंस्टाग्राम में लिखा, "मैं शायद चुना हुआ हूं. मैंने अपने आप से बहुत पहले एक समझौता किया था कि मुझे कभी भी दया नहीं आएगी बल्कि इसे अपनी ताकत के रूप में इस्तेमाल करूंगा.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT