बहुत हो गया, नए साल पर रिटायरमेंट ले ही लें ये टीवी सीरियल
बहुत हो गया, नए साल पर रिटायरमेंट ले ही लें ये टीवी सीरियल
(फोटो: द क्विंट)

बहुत हो गया, नए साल पर रिटायरमेंट ले ही लें ये टीवी सीरियल

2019 आ गया है, यानी नई फिल्में, नई वेब सीरीज, नए टीवी शो... अरे नहीं, टीवी शो तो वही पुराने ही रहने वाले हैं!

नया साल आ गया है, लेकिन फिर भी टीवी पर ऐसे सीरियलों की भरमार है, जो बरसों से खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं. इन्हें शुरू हुए कई साल हो गए हैं, लेकिन सास-बहू और ड्रामे की एक लाइन पकड़कर ये सालों से अत्याचार कर रहे हैं. इन सीरियलों को इस साल तो हर हाल में रिटायर हो जाना चाहिए.

‘ये हैं मोहब्बतें’ सीरियल मंजू कपूर की ‘नॉवेल’ कस्टडी पर बना है. नॉवेल के पेज एक वक्त बाद खत्म हो गए होंगे, लेकिन ये सीरियल तो खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. इस सीरियल के 1,500 से ज्यादा एपिसोड टीवी पर टेलीकास्ट हो चुका है.

रूही के लिए इशिता-रमन की शादी भी हो गई, दोनों के बच्चे बड़े हो गए और उनकी भी शादी शुरू हो गई, मगर ये सीरियल चल ही रहा है.

‘कुमकुम भाग्य’ भी ऐसा ही एक सीरियल है, जो बरसों से टीवी ऑडियंस को ग्लिसरीन के आंसू रुला रहा है. अभिषेक और प्रज्ञा की प्रेम कहानी साल 2014 में शुरू हुई थी और अब 1,000 एपिसोड पार करने के बाद भी इनकी कहानी जारी है.

स्टार-कास्ट में भी कई बदलाव हो चुके हैं. एक स्पिन-ऑफ भी आ गया, लेकिन अभिषेक और प्रज्ञा का मिलन अभी तक नहीं हो पा रहा है.

ये भी पढ़ें : और ‘Meme of the Year’ का अवॉर्ड जाता है अनुष्का शर्मा को...

'ये रिश्ता क्या कहलाता है' सीरियल तो इतने सालों से चल रहा है कि दिग्गज 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी' और 'कहानी घर-घर की' का रिकॉर्ड कब का टूट चुका है. ये सीरियल साल 2009 में शुरू हुआ था और इस साल 12 जनवरी को ये अपने 10 साल पूरे कर लेगा.

10 साल से ये सीरियल लोगों से बस यही पूछ रहा है कि आखिर ये रिश्ता क्या कहलाता है. नैतिक-अक्षरा की लव स्टोरी से शुरू हुए इस सीरियल में शादी, दोबारा शादी, किसी और से शादी और न जाने कितने ट्विस्ट एंड टर्न आए, लेकिन सवाल वहीं अटका है, ये रिश्ता क्या कहलाता है? इन सबके बाद अब इस सीरियल को विदाई लेकर ऑडियंस पर उपकार करना चाहिए.

टीवी पर एक ओर सास-बहू का कब्जा है, तो दूसरी तरफ भूत-नागिनों का दबदबा है. ‘नागिन’ सीरियल में इतनी नागिनें बदली जा चुकी हैं कि क्या बताएं. इस साल इन नागिनों को अपनी नागमणि लेकर टीवी को अलविदा कह देना चाहिए.

वैसे तो बाकी सीरियलों के मुकाबले ‘इशकबाज’ काफी नया है, लेकिन इसे भी अपना रिटायरमेंट ले लेना चाहिए. शिवाय-अनिका की लव-स्टोरी भी बाकी टीवी लव-स्टोरीज की तरह लंबी खिंच रही है. इसिलए रिटायरमेंट की लिस्ट में ये भी शामिल है.

वैसे भले ही ये टीवी सीरियल सालों से ऑडियंस को एक ही कहानी परोसते आ रहे हों, लेकिन टीआरपी में ये सभी अव्वल हैं. आईएमडीबी की टॉप हिंदी सीरियल 2018 की लिस्ट में 'कुमकुम भाग्य' को पहला स्थान मिला है. इसके बाद 'इशकबाज' दूसरे, 'ये हैं मोहब्बतें' चौथे, 'नागिन' पांचवें और 'ये रिश्ता क्या कहलाता है' सातवें नंबर पर है.

ये भी पढ़ें : वेब सीरीज हुई बोल्ड, लेकिन नागिन और भूतों में ही अटका रहा TV

(सबसे तेज अपडेट्स के लिए जुड़िए क्विंट हिंदी के WhatsApp या Telegram चैनल से)

Follow our टीवी section for more stories.

    वीडियो