परछाई रिव्यू: ये भूतों की कहानी बच्चों को डराती नहीं है
 ‘परछाई’ का पहला एपिसोड  बच्चों के लिए  मुफीद है. 
‘परछाई’ का पहला एपिसोड बच्चों के लिए मुफीद है. (फोटो: ZEE5)

परछाई रिव्यू: ये भूतों की कहानी बच्चों को डराती नहीं है

जादुई, रहस्यमय, रोमांचक कहानियों के लिए मशहूर लेखक रस्किन बॉन्ड अब भूतों की कहानी पर आधारित वेब सीरीज लेकर आए हैं. ZEE5 पर घोस्ट सीरीज 'परछाई' का पहला एपिसोड 'द घोस्ट इन द गार्डन' 15 जनवरी को रिलीज हो गया. इस कहानी को इतनी खूबसूरती से पिरोया गया है कि डरावनी घोस्ट सीरीज कहना बिल्कुल गलत होगा. बाकी हॉरर मूवीज के मुकाबले ये कुछ अलग हटकर है. इसमें भूत के डर को हमारे मन से बहुत ही खूबसूरत तरीके से बाहर उखाड़कर फेंक दिया गया है.

'भूत-भूत कुछ नहीं होता है. ये सिर्फ मन का वहम है.' ये डायलॉग तो आपने कई बार सुना होगा. शायद ये सच भी है. क्योंकि अगर भूत वाकई में होते तो हमने इसके बारे में साइंस की किताबों में क्यों नहीं पढ़ा? बताइए... बताइए...!

बच्चों के लिए मुफीद है ये वेब सीरीज

ZEE5 की घोस्ट वेब सीरीज 'परछाई' का पहला एपिसोड सिर्फ बड़ों के लिए ही नहीं बच्चों के लिए भी मुफीद है. इसके पहले एपिसोड में खास तौर से बच्चों पर ही फोकस किया गया है.

मंसूरी के पहाड़ों पर एक स्कूल में अचानक बच्चे किडनेप होने लगते हैं. जिस वजह से शहर में डर का माहौल फैल जाता है. बच्चों की सुरक्षा बढ़ा दी जाती है. पुलिस किडनेपर को पकड़ने में नाकाम रहती है. तभी कोई अफवाह फैलाता है कि बच्चों की किडनैपिंग कोई आदमी नहीं भूत कर रहा है.

(फोटो: ZEE5)

चिल्ड्रन वेब सीरीज कहना गलत होगा!

सबसे अच्छी बात ये है कि इसमें कोई भी गंदी बात या अश्लील सीन नहीं है. इसलिए बच्चे पूरी आजादी के साथ इस सीरीज को देख सकते हैं, लेकिन चिल्ड्रन वेब सीरीज कहना गलत होगा. क्योंकि एक सीन ऐसा है जब एक औरत खुद के गले मे फांसी का फंदा बांधकर पेड़ से लटक जाती है. मेरे ख्याल से ये सीन बच्चों पर गलत प्रभाव डाल सकता है.

अंधाधुन का वो शैतान बच्चा...

अंधाधुन मूवी का वो शैतान बच्चा याद है, जो आयुष्मान खुराना के साथ मस्ती करता है. उसी बच्चे (विक्की) के इर्द गिर्द घूमता है 'परछाई' का पहला पूरा एपिसोड. या दूसरे शब्दों में कहे तो यही बच्चा इस एपिसोड का लीड एक्टर है.

(फोटो: ZEE5)

दादी और नानी के किरदार के लिए मशहूर एक्ट्रेस फरीदा जलाल ने भी इस एपिसोड से वेब सीरीज में डेब्यू किया है. फरीदा ने विक्की की दादी का रोल निभाया है, जो उसे उसकी मां के रहस्य से दूर रखती है. लेकिन विक्की अपनी मरी हुई मां के रहस्य को हर हालत में जानना चाहता है.

बैकग्राउंड सीन ओरिजनल नहीं लगता

'द घोस्ट इन द गार्डन' में बैकग्राउंड सीन बहुत ही खूबसूरत हैं. डरावने जंगल, डरावना घर, सूखा पेड़. इन सबको बहुत ही अच्छे से डिजाइन किया गया है. लेकिन एक नजर में देखने से ही मालूम पड़ जाता है कि ये ओरिजनल नहीं है. इसे खास डिजाइन किया गया है. खैर कुल मिलाकर ये घोस्ट वेब सीरीज पैसा वसूल है.

घोस्ट सीरीज 'परछाई' के कुल 12 एपिसोड आएंगे. हर हफ्ते एक एपिसोड लांच किया जाएगा. हर एपिसोड में भूतों की एक नई कहानी देखने को मिलेगी.

ये भी पढ़ें : ‘Uri: The Surgical Strike मनोरंजन के लिए देखें, तथ्‍य के लिए नहीं’

(पहली बार वोट डालने जा रहीं महिलाएं क्या चाहती हैं? क्विंट का Me The Change कैंपेन बता रहा है आपको! Drop The Ink के जरिए उन मुद्दों पर क्लिक करें जो आपके लिए रखते हैं मायने.)

(सबसे तेज अपडेट्स के लिए जुड़िए क्विंट हिंदी के WhatsApp या Telegram चैनल से)

Follow our वेब सिरीज section for more stories.

    वीडियो