ADVERTISEMENT

वैक्सीन किसे नहीं लगवाना है? क्या हो सकते हैं साइडइफेक्ट? समझिए

सरकार ने इन सारे सवालों के जवाबों को लेकर एक फैक्टशीट जारी की है

Updated
कुंजी
2 min read
इन दोनों कोरोना वैक्सीन को मिली है मंजूरी
i

कोवैक्सीन और कोविशील्ड वैक्सीन दिए जाने की प्रक्रिया से जुड़े क्या नियम हैं? किन लोगों को ये नहीं लेना चाहिए? साइड इफेक्ट को लेकर सरकार ने क्या कहा है? सरकार ने इन सारे सवालों के जवाबों को लेकर वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत में एक फैक्टशीट जारी कर चुकी है, जिसके बारे में आपको समझाते हैं-

कोरोना वैक्सीन के लिए पात्रता का क्या पैमाना है?

  • जो 18 साल से कम उम्र के हैं उन्हें कोरोना वैक्सीन नहीं दी जाएगी.
  • प्रेग्नेंट महिलओं को भी वैक्सीन नहीं दी जाएगी.
  • जिन लोगों को वैक्सीन, फार्मा प्रोडक्ट, फूड से एलर्जी है, उन्हें भी वैक्सीन नहीं दी जाएगी.
  • कोरोना वैक्सीन के पहले से अगर किसी को साइड इफेक्ट दिखे हैं तो उसे भी वैक्सीन नहीं दी जाएगी.

ADVERTISEMENT

किन लोगों को अस्थायी तौर पर वैक्सीन नहीं दी जा रही है?

  • वो व्यक्ति जिनमें SARS-CoV-2 के लक्षण हैं.
  • जिन कोरोना मरीजों को एंटी-SARS-CoV-2 मोनोक्लोनल एंटीबॉडी या प्लाजमा दिया गया है.
  • विशेष रूप से बीमार और हॉस्पिटलाइज्ड व्यक्ति.
  • उन लोगों को वैक्सीन चेतावनी के साथ दी जाएगी जिनको किसी तरह की ब्लीडिंग या फिर coagulation disorder की शिकायत है.

कोरोना टीकाकरण को लेकर क्या नियम बनाए गए हैं?

  • वैक्सीन अदल-बदल कर नहीं लगाई जा सकती है. वैक्सीन का दूसरा डोज भी उसी कंपनी का होगा, जिस कंपनी का पहला डोज दिया गया था.
  • उन लोगों को वैक्सीन चेतावनी के साथ दी जाएगी जिनको किसी तरह की ब्लीडिंग या फिर coagulation disorder की शिकायत है.
  • दोनों वैक्सीन को +2°C से +8°C तक के तापमान पर स्टोर करना अनिवार्य होगा. वैक्सीन को लाइट से बचाना होगा. अग वैक्सीन फ्रोजन हो जाती है तो उसे अलग कर दें.

क्या थोड़ी बहुत स्वास्थ्य संबंधी चुनौतियों का सामना कर रहे व्यक्ति को वैक्सीन दी जा सकती है?

  • जो लोग पहले कोरोना वायरस संक्रमित हो चुके हैं, उनको वैक्सीन दी जा सकती है.
  • जो लोग पहले क्रोनिक बीमारी से परेशान हैं जैसे कि हृदय संबंधी रोग, न्यूरोलॉजिकल दिक्कत, पल्मनरी, मेटाबॉलिक वगैरह के मरीज हैं तो वैक्सीन ले सकते हैं.
  • इम्यूनोडेफिशिएंसी या HIV के मरीज भी वैक्सीन ले सकते हैं.

जो व्यक्ति दूसरी बीमारियों से जूझ रहे हैं क्या उनके लिए वैक्सीन प्रभावी है?

फैक्टशीट के मुताबिक इन लोगों में कोरोना वैक्सीन कम प्रभावी हो सकती है.

ADVERTISEMENT

वैक्सीन की शीशियों को कब फेंक देना है?

अगर वैक्सीन जम गई है तो इसे फेक देना होगा.

कोविडशील्ड वैक्सीन के क्या तात्कालिक साइडइफेक्ट हो सकते हैं?

इंजेक्ट की गई जगह पर दर्द, सिरदर्द, बदनदर्द, मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों में दर्द जैसे कुछ हल्के लक्षण दिख सकते हैं, लेकिन ये अस्थायी होंगे. फैक्टशीट के मुताबिक आप इन लक्षणों के असर को कम करने के लिए पैरासिटामॉल ले सकते हैं.अ

कोवैक्सीन वैक्सीन के क्या तात्कालिक साइड इफेक्ट हो सकते हैं?

इंजेक्ट की गई जगह पर सूजन, दर्द, उल्टी, पसीना, खांसी-जुकाम, सिरदर्द, बदनदर्द, मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों में दर्द जैसे कुछ हल्के लक्षण दिख सकते हैं.

भारत बायोटेक का दावा है कि फेज 1 और 2 के ट्रायल में कोई भी साइड इफेक्ट सामने नहीं आए हैं.

अगर इस तरह का कोई लक्षण दिखता है तो क्या करें?

  • आपको तुरंत डॉक्टर को इसके बारे में बताना चाहिए.
  • वैक्सीन से जुड़े किसी भी सवाल, परेशानी, शंका के लिए 1075 नंबर पर कॉल कर सकते हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT