शेयर बाजार में इस हाहाकार के लिए क्या यही कंपनी है जिम्मेदार? 
(फोटो: ब्लूमबर्ग क्विंट)
  • 1. क्या है IL&FS?
  • 2. क्यों संकट में है IL&FS?
  • 3. क्यों इसे कहा जा रहा है भारत का लेहमैन संकट?
  • 4. इसका क्या असर पड़ा है?
  • 5. आम निवेशकों पर क्या असर पड़ेगा ?
  • 6. IL&FS के लिए आगे क्या रास्ता है?
शेयर बाजार में इस हाहाकार के लिए क्या यही कंपनी है जिम्मेदार?

शुक्रवार को अचानक शेयर बाजार में भारी अफरातफरी फैल गई. बीएसई का सूचकांक एक ही घंटे में 1500 प्वाइंट यानी 4 फीसदी गिर गया और थोड़ी ही देर में रिकवर कर गया. एक घंटे में 1500 प्वाइंट गिरावट किसी बड़े खतरे का इशारा कर रहे थी.गिरावट की एक बड़ी वजह यस बैंक के शेयरों का टूटना था.

लेकिन बाजार पर एक और गंभीर खतरा का असर दिखा. उस दिन दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के 300 करोड़ के बांड डीएसपी म्यूचुअल फंड ने बाजार मूल्यों से कम पर बेच दिया था. इससे बाजार में दहशत फैल गई और गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC), बैकों और दूसरे वित्तीय संस्थाओं के शेयर धड़ाधड़ गिरने लगे.

दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के बांड को बेचे जाने को इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज यानी IL&FS की खराब हालत से जोड़ कर देखा जा रहा था. डीएसपी के पास IL&FS के 630 करोड़ रुपये के बांड हैं. लगभग 91 हजार करोड़ रुपये के कर्ज में फंसी IL&FS पर दिवालिया होने का खतरा मंडरा रहा है. इसने पूरे इंडियन फाइनेंशियल मार्केट को चिंता में डाल दिया है. आइए जानते हैं कि कितना बड़ा है IL&FS संकट और क्या होगा इसका असर.

  • 1. क्या है IL&FS?

    शेयर बाजार में इस हाहाकार के लिए क्या यही कंपनी है जिम्मेदार? 
    (फोटो: रॉयटर्स)

    इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड यानी IL&FS 30 साल पुराना फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन है,जो इन्फ्रास्ट्रक्चर यानी देश की बुनियादी ढांचा परियोजनाओं को कर्ज देता है.

    अपनी वेबसाइट में इसने दावा किया है इसने देश में एक 1.8 खरब रुपये की परियोजनाओं को विकसित करने और फाइनेंस करने में मदद की है. इसके सबसे बड़े शेयरहोल्डरों में हैं- एलआईसी ,एसबीआई और जापान का ओरिक्स कॉरपोरेशन. समूह की 169 सब्सिडियरी, सहायक कंपनियां और ज्वाइंट वेंचर हैं और विश्लेषकों का कहना है.

पीछे/पिछलाआगे/अगला

Follow our कुंजी section for more stories.

वीडियो