बैन से पहले स्टोर में बिकती मैगी (फोटो: एपी)
बैन से पहले स्टोर में बिकती मैगी (फोटो: एपी)
  • 1. नेस्ले ने दोहराया दावा- सुरक्षित है मैगी
  • 2. प्रतिबंध से उबर रहा है मैगी का कारोबार
  • 3. प्रतिबंध से मैगी के कारोबार को लगा था बड़ा धक्का
  • 4. मैगी में सीसे की मौजूदगी, मगर वजह प्राकृतिक
  • 5. मैगी कैसे आई इंडिया
  • 6. मैगी में कितना सीसा होता है खतरनाक?
  • 7. एनसीडीएमसी में हर्जाने का मुकदमा
  • 8. बाराबंकी के फूड इंस्पेक्टर की जांच से बढ़ा था बवाल
इंस्टेंट मैगी पर सुप्रीम फैसला,कौन आहत, किसे राहत-जानिए पूरा विवाद

इंस्टेंट मैगी पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ चुका है. मैगी बनाने वाली नेस्ले इंडिया इसे अपने पक्ष में बता रही है जबकि मैगी में सीसे की मौजूदगी को लेकर उपभोक्ताओं के पक्षकारों को लगता है कि यह उसके पक्ष में है. सच ये है कि आने वाले समय में यह बात स्पष्ट होगी जब इस फैसले के प्रभाव सामने आएंगे.

मैगी में सीसा की मौजूदगी कोई नया तथ्य नहीं है तो अत्यधिक मौजूदगी से नुकसान की थ्योरी भी नयी नहीं है, जिस बारे में मान्यता प्राप्त लैबोरेटरी की रिपोर्ट ही सुप्रीम कोर्ट के अनुसार अब मान्य हुआ करेगी. यानी छूट न उत्पादक कंपनी नेस्ले को है, न खुश होने का पूरा मौका आशंकाएं जताने वाले वर्ग को.

  • 1. नेस्ले ने दोहराया दावा- सुरक्षित है मैगी

    सुप्रीम कोर्ट के फैसले से उत्साहित नेस्ले इंडिया ने देशभर में विज्ञापनों के जरिए मैगी प्रेमियों को भी खुशी का अहसास कराया है. ‘आपकी मैगी सुरक्षित है हमेशा की तरह’- इसी भाव में उपभोक्ताओँ को अहसास दिलाया गया है कि मैगी सुरक्षित है. नेस्ले ने दावा किया है कि मैगी के सुरक्षित होने की बात एक्रीडिटेशन बोर्ड फॉर डेस्टिं एंड कैलिब्रेशन लेबोरेटरीज़ यानी एनएबीएल की ओर से समय-समय पर पुख्ता की जाती रही है.

    विज्ञापनों में नेस्ले ने एक बार फिर साफ किया है-

    • हम किसी भी चरण में, किसी भी रूप में मैगी में सीसा नहीं मिलाते.
    • धरती से सटे वायुमंडल में स्वाभाविक रूप से सीसा मौजूद होता है. (हवा, मिट्टी, पानी, अनाज और दूसरी चीजों में)
    • खाद्य पदार्थ सुरक्षित रहे इसके लिए सीसा समेत कई चीजों के लिए सुरक्षित सीमा खाद्य नियामक संस्थाओँ ने तय कर रखी है. आपकी मैगी लगातार ऐसे परीक्षणों में सफल रही है.
पीछे/पिछलाआगे/अगला

Follow our कुंजी section for more stories.

वीडियो