शेयर बाजार (फाइल फोटो: Reuters)
शेयर बाजार (फाइल फोटो: Reuters)
  • 1. दीपावली का कारोबार से क्‍या संबंध?
  • 2. शेयर बाजार 'मुहूर्त' से कैसे जुड़ा?
  • 3. 'मुहूर्त' पर शेयर बाजार में क्‍या होता है?
  • 4. कब से हुई मुहूर्त ट्रेडिंग की शुरुआत?
  • 5. इस दिवाली मुहूर्त ट्रेडिंग का शेड्यूल क्‍या?
दिवाली पर शेयर बाजार में ‘मुहूर्त ट्रेडिंग’ क्‍या है?

देश में दिवाली के दिन आम तौर पर बैंक और ज्‍यादातर कारोबारी संस्‍थान बंद रहते हैं. लेकिन शेयर बाजार दिवाली की शाम को ‘मुहूर्त ट्रेडिंग’ के लिए खुलता है. ऐसे में ये जानना दिलचस्‍प है कि मुहूर्त ट्रेडिंग आखिर है क्‍या?

इस ट्रेडिंग के साथ मुहूर्त शब्‍द जुड़ा हुआ है. जाहिर है कि ये दीपावली के शुभ अवसर पर होने वाली ट्रेडिंग से जुड़ा है. इसे हम आगे थोड़ा और विस्‍तार से समझते हैं.

  • 1. दीपावली का कारोबार से क्‍या संबंध?

    शेयर बाजार (फाइल फोटो: Reuters)
    (फोटो: iStock)

    दिवाली पर धन की देवी लक्ष्‍मी की पूजा की जाती है. ऐसा माना जाता है कि जिस पर लक्ष्‍मी की कृपा होती है, उसे कभी धन-धान्‍य की कमी नहीं होती है.

    वैसे तो फाइनेंशियल ईयर की शुरुआत अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक अप्रैल की पहली तारीख से होती है. लेकिन देश के कुछ भागों में परंपरागत तौर पर दीपावली से ही नए कारोबारी साल की शुरुआत होती है. इस मौके पर नए कारोबारी खाते की शुरुआत करने का चलन है. जाहिर है, इस मौके पर कारोबार करना शुभ माना जाता है.

पीछे/पिछलाआगे/अगला

Follow our कुंजी section for more stories.

वीडियो