अधिकांश एंट्रेंस एग्जामिनेशन की जिम्मेदारी अब NTA के पास
अधिकांश एंट्रेंस एग्जामिनेशन की जिम्मेदारी अब NTA के पास(फोटोः istock)
  • 1. क्या है नेशनल टेस्टिंग एजेंसी?
  • 2. कौन-कौन से एंट्रेंस एग्जाम करवाएगी NTA?
  • 3. कब-कब होंगी परीक्षाएं?
  • 4. क्या सिलेबस या एग्जामिनेशन पैटर्न में होंगे बदलाव?
  • 5. स्टूडेंट्स पर क्या होगा असर?
  • 6. क्या CBSE का बोझ होगा कम?
NEET, JEE और NET का एग्जाम CBSE नहीं नेशनल टेस्टिंग एजेंसी लेगी

JEE और NEET के साथ NET का एग्जाम भी अब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ही कराएगी. पहले सीबीएसई ही JEE, UGC NET और NEET का टेस्ट लेती थी.

यूजीसी नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट यानी NET के लिए नोटिफेकशन आ चुका है. दिसंबर में इसका टेस्ट होगा. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) के पास और भी एंट्रेंस एग्जामिनेशन कंडक्ट कराने की जिम्मेदारी होगी. आखिर ये नेशनल टेस्टिंग एजेंसी क्या है और यह क्या-क्या करेगी?

  • 1. क्या है नेशनल टेस्टिंग एजेंसी?

    पिछले कुछ सालों से देश में तमाम तरह के एंट्रेस एग्जाम करवाने के लिए एक एजेंसी की बात हो रही थी. मानव संसाधन मंत्रालय ने इसके लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी बनाई है. नवंबर 2017 में एनटीए को कैबिनेट ने मंजूरी दी थी. इसका गठन देश की शैक्षणिक प्रणाली में बड़े सुधार के उद्देश्य से किया गया है. सरकार के मुताबिक, सीबीएसई की तरफ से करवाई जाने वाली कई एंट्रेंस एग्जाम अब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) करवाएगी. अब इस काम के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी पूरी तरह तैयार है.

    पिछले दिनों मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी एंट्रेंस एग्जामिनेशन में सुधार लाने का काम करेगी. इसे इसी साल से शुरू किया जा रहा है. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी, यूजीसी, एआईसीटीई, आईआईटी, विश्वविद्यालयों, स्कूल बोर्डों और राज्य सरकारों के साथ मिलकर रिसर्च और हायर एजुकेशन को बढ़ावा देने में मदद करेगी.

पीछे/पिछलाआगे/अगला

Follow our कुंजी section for more stories.

वीडियो