सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करते लोग
सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करते लोग(फोटोः क्विंट हिंदी)
  • 1. क्या है SC-ST Act?
  • 2. क्यों बनाया गया था ये SC-ST एक्ट?
  • 3. क्या है इस एक्ट के प्रावधान?
  • 4. क्यों हो रहा है विरोध?
  • 5. सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा?
  • 6. अब तक थे ये नियम?
  • 7. ये है नई गाइडलाइंस?
  • 8. क्या है सरकार का रुख?
जानिए क्या है SC-ST एक्ट, किस बदलाव को लेकर मचा है संग्राम

एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद देशभर में काफी विरोध-प्रदर्शन हुए. दलित समुदाय भारत बंद और कई संगठनों के लगातार विरोध को देखते हुए अब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को बदलने का फैसला किया है. एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के लिए इस मॉनसून सेशन में बिल लाया जा रहा है.

संशोधन बिल पास हो जाने के बाद एक्ट में वही स्थिति फिर से बहाल हो जाएगी जो सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले थी. आखिर क्या है एससी-एसटी एक्ट?, क्यों बनाया गया था इसे और सुप्रीम कोर्ट के फैसले का क्यों हो रहा है इतना विरोध? सभी बातें समझिए यहां

  • 1. क्या है SC-ST Act?

    अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के लोगों पर होने वाले अत्याचार और उनके साथ होनेवाले भेदभाव को रोकने के मकसद से अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार रोकथाम) अधिनियम, 1989 बनाया गया था. जम्मू कश्मीर को छोड़कर पूरे देश में इस एक्ट को लागू किया गया.

    इसके तहत इन लोगों को समाज में एक समान दर्जा दिलाने के लिए कई प्रावधान किए गए और इनकी हरसंभव मदद के लिए जरूरी उपाय किए गए. इन पर होनेवाले अपराधों की सुनवाई के लिए विशेष व्यवस्था की गई ताकि ये अपनी बात खुलकर रख सके.

पीछे/पिछलाआगे/अगला

Follow our कुंजी section for more stories.

वीडियो