ADVERTISEMENTREMOVE AD
मेंबर्स के लिए
lock close icon

पापड़ि का Weight Gain चैलेंज: मैं ‘वजन बढ़ाना’ क्यों चाहती हूं?

एक दुबली-पतली सी लड़की ने लिया वजन बढ़ाने का चैलेंज.

Updated
फिट
2 min read
छोटा
मध्यम
बड़ा
ADVERTISEMENTREMOVE AD

कैमरा: अतहर राथेर, अभय शर्मा और अभिषेक रंजन

ग्राफिक्स एंड आर्ट: इरम गौर और आर्णिका काला

वीडियो एडिटिंग: दीप्ति रामदास

मैं पापड़ि दास, मैंने वजन बढ़ाने का चैलेंज लिया है. जी हां, वजन बढ़ाने का, घटाने का नहीं.

मैं हमेशा से अंडरवेट रही हूं. मैं कुछ भी खा लूं और कितना भी खा लूं, बड़ी मुश्किल से मेरा वेट बढ़ता है.

आपको लगता होगा कि इससे अच्छी और क्या बात हो सकती है कि आप जी भरकर खाएं, फिर भी वजन न बढ़े. लेकिन मेरा यकीन करिए, ये कोई वरदान नहीं है.

उम्र 27 साल और जर्नलिस्ट होने के नाते इतना पतला होना और बच्चों जैसा चेहरा होना मेरे लिए अच्छा नहीं रहा. लोग मुझे कम ही गंभीरता से लेते, दोस्त और साथ काम करने वाले लगातार मुझे चिढ़ाते और हां, मुझसे ये भी कहा जाता कि मैं हेल्दी नहीं हूं.

आप सोच रहे होंगे कि मैं कितनी पतली हूं?

मैं सिर्फ 33 kg की हूं.

आखिर इस लड़की ने क्यों लिया वजन बढ़ाने का चैलेंज?
0

मैं वजन क्यों बढ़ाना चाहती हूं?

बंगाली परिवार से होने के नाते, मेरा फिजिकल फीचर कभी लोगों की उम्मीदों के मुताबिक नहीं था. मेरे पतले होने का कई तरह से मजाक उड़ाया गया है.

मुझे ये सब भले ही अच्छा नहीं लगता, लेकिन मैंने कभी भी खुद को बदलने की कोशिश नहीं की. एडल्ट होने के साथ चीजें बदलने लगीं, इससे मेरे हेल्थ पर असर पड़ने लगा. मैं बहुत जल्दी थक जाती. किसी चीज पर ध्यान नहीं दे पाती. अक्सर बीमार पड़ जाती और यहां तक कि पीरियड्स भी रेगुलर नहीं होते.

मैं इतनी पतली क्यों हूं?

मैंने इस पर थोड़ी रिसर्च की और मुझे पतले होने की ये वजहें पता चलीं:

  • कोई बीमारी: अंडरवेट होना, किसी हेल्थ कंडिशन के कारण हो सकता है. उनमें से कुछ एनोरेक्सिया, डायबिटीज, सीलिएक डिजीज, हाइपरथायराइडिज्म, ट्यूबरक्लोसिस, बुलीमिया जैसी बीमारियां हैं.
  • लाइफस्टाइल: ये मेरी लाइफस्टाइल भी हो सकती है क्योंकि मुझे जंक फूड खाना पसंद है. मैं ज्यादातर लंच ऑर्डर करती हूं. कभी-कभी मैं अपना खाना खत्म भी नहीं करती.
  • जेनेटिक: ये जेनेटिक हो सकता है.

मैंने डॉ अश्विनी सेतिया से कंसल्ट किया. डॉ सेतिया ने मुझे कुछ ब्लड टेस्ट कराने को कहा.

आखिर इस लड़की ने क्यों लिया वजन बढ़ाने का चैलेंज?
कंप्लीड ब्लड काउंट(CBC), लिवर फंक्शन टेस्ट (LFT), किडनी फंक्शन टेस्ट (KFT), हीमोग्लोबिन A1c (HbA1c), Thyroid-stimulating hormone, Anti-tissue Transglutaminase Antibody and mmunoglobulin A
(फोटो: पर्चे का स्क्रीनशॉट)

शुक्र है कि मेरी सभी रिपोर्ट नॉर्मल आईं.

आप कमजोर इम्यूनिटी के कारण बीमार पड़ सकती हैं. आपका बीएमआई भी बहुत कम है. आपको अच्छा खाना, नियम से खाना और एक्सरसाइज करने की जरूरत है. आप किसी न्यूट्रिशनिस्ट से क्यों नहीं मिलती हैं, जो एक डाइट चार्ट के जरिए बैलेंस्ड डाइट लेने में आपकी मदद कर सकती हैं.
डॉ अश्विनी सेतिया

इसलिए मैंने वजन बढ़ाने के लिए 8 हफ्तों का चैलेंज लिया है.

वजन बढ़ाने का ये चैलेंज, मैं कैसे पूरा करूंगी, जानने के लिए देखिए Papri's Weight Gain Challenge.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×