ADVERTISEMENTREMOVE AD
मेंबर्स के लिए
lock close icon

सेक्सॉल्व: ‘मेरे पति जिस तरह से छूते हैं, मुझे अच्छा नहीं लगता’

‘क्या मैं ऐसी खराब बीवी हूं जो अपने पति की जरूरत को पूरा नहीं कर रही है?’

Updated
फिट
8 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

सेक्सॉल्व समता के अधिकार के पैरोकार हरीश अय्यर का फिट पर सवाल-जवाब आधारित कॉलम है.

अगर आपको सेक्स, सेक्स के तौर-तरीकों या रिलेशनशिप से जुड़ी कोई परेशानी है, कोई उलझन है, जिसे आप हल नहीं कर पा रहे हैं, या आपको किसी तरह की सलाह की जरूरत है, किसी सवाल का जवाब चाहते हैं या फिर यूं ही चाहते हैं कि कोई आपकी बात सुन ले- तो हरीश अय्यर को लिखें, और वह आपके लिए ‘सेक्सॉल्व’ करने की कोशिश करेंगे. आप sexolve@thequint.com पर मेल करें.

पेश हैं इस हफ्ते के सवाल-जवाबः

ADVERTISEMENTREMOVE AD

‘मेरी शादीशुदा प्रोफेसर ने मुझे बहकाया’

‘क्या मैं ऐसी खराब बीवी हूं जो अपने पति की जरूरत को पूरा नहीं कर रही है?’
“मेरी एक शादीशुदा प्रोफेसर हैं, जिन्हें मैं चाहता हूं, वह भी मुझे पसंद करती हैं.”
(फोटो: iStockphoto)

डियर रेनबोमैन,

मैं 24 वर्षीय युवक हूं. मैं आर्थिक रूप से कमजोर परिवार से आता हूं, इसलिए मुझे अपनी पढ़ाई 2 साल के लिए छोड़नी पड़ी. अब एक रेगुलर कॉलेज से मैं पोस्टग्रेजुएशन कर रहा हूं. मैं रात में उबर की टैक्सी चलाता हूं. मेरी एक समस्या है. मेरी एक शादीशुदा प्रोफेसर हैं, जिन्हें मैं पसंद करता हूं, वह भी मुझे पसंद करती हैं. हर मंगलवार मैं उपवास के लिए काम से छुट्टी करता हूं और उस दिन वह मुझे मुफ्त ट्यूशन देती हैं. पिछले मंगलवार, मैं पढ़ाई के लिए उनके घर पर था तो उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर अपने खुले पेट पर रख दिया और मादक अंदाज में कहा, “ क्या तुम बच्चे को महसूस कर रहे हो?” मैंने उनसे पूछा क्या वह गर्भवती हैं. उन्होंने कहा नहीं, लेकिन उनका पेट फूला हुआ था. यह मेरे लिए उत्तेजना का लम्हा था और मैं सच में उत्तेजित हो गया. मैं खड़ा हो गया और मेरी कठोरता मेरी पैंट में दिखाई दे रही थी. मैंने जल्दी से अपना हाथ हटा लिया और उन्होंने मुझसे पूछा क्या मैं उन्हें छूने से डरता हूं. मुझे उनको बताने में शर्म आ रही थी, लेकिन मैं कसम खाकर कहता हूं कि मैं सचमुच डर गया था. कुछ ही सेकंड में, उन्होंने फिर से मेरा हाथ पकड़कर अपने पेट पर रख दिया और कहा: “अब इसे महसूस करो.” इसके बाद उन्होंने मेरा हाथ अपने पेटीकोट और अंडरवियर के अंदर कर दिया. मैंने खुद को ढीला छोड़ दिया. मैंने कुछ नहीं किया, क्योंकि हमारे पास बहुत कम वक्त था... लेकिन उन्होंने अपनी वजाइना पर मेरे हाथों से जो कुछ भी करना चाहा, मैंने करने दिया. मुझे अब बहुत अपराधबोध हो रहा है. क्या मुझे यह रिलेशनशिप जारी रखनी चाहिए? इसके अलावा, मैंने उन्हें छूने से पहले मास्टरबेशन किया था और मेरे हाथ में कुछ सूखे स्पर्म थे जो मेरी स्किन से चिपके हुए थे, लेकिन जब मैंने उनकी वेजाइना को छुआ तो वहां गीला था और मेरे स्पर्म फिर से तरल हो गए. क्या यह उनकी वजाइना तक पहुंच गया होगा और क्या होगा अगर वह मुझसे गर्भवती हो जाती हैं? मैं थोड़ा डरा हुआ हूं. हाहाहा. यह मजाक लगता है. लेकिन मैं थोड़ा डरा हुआ हूं. मैं पापा नहीं बनना चाहता. कृपया मेरी मदद करें.

हाथ का कमाल

0

डियर हाथ का कमाल,

मैं समझ सकता हूं कि ये भावनाएं और अंतरंग लम्हे काफी निजी हैं. इतने स्पष्ट विवरण के साथ साझा करने के लिए शुक्रिया.

किसी के प्रति आकर्षित होना और उस शख्स के साथ शारीरिक संबंध बनाना कानूनी रूप से तब तक ठीक है, जब तक कि आप दोनों बालिग हैं और सहमति है. हालांकि नैतिक रूप से, कोई भी इसे वैसा ही परिभाषित करेगा, जैसा वह महसूस करता है. अगर आप मुझसे पूछें, तो चूंकि वह महिला किसी अन्य व्यक्ति के साथ रिलेशनशिप में है, इसलिए वही सबसे सही फैसला कर सकती है कि यह नैतिक है या नहीं.

मैं जानता हूं कि सहमति देने में सक्षम दो बालिग के तौर पर, आप वह कर सकते हैं जो आप करना चाहते हैं. मैं आपसे यह नहीं कह सकता कि आपको इस रिलेशनशिप को जारी रखना चाहिए या नहीं. इसलिए नहीं कि मैं आपको बताना नहीं चाहता, बल्कि इसलिए क्योंकि मेरा मानना है कि ऐसी बातें जोड़े को ही आपस में करनी चाहिए.

जब आप खामोशी को बोलने का मौका देते हैं, तो आप दोनों तरफ से अंदाजा लगाने के लिए बहुत कुछ छोड़ देते हैं. शब्दों को बहने दें. उन्हें प्रेम और शोक के किस्से कहने दें.

आप उसे पसंद करते हैं और वह आप को पसंद करती है. और रिलेशनशिप में, जब आप दोनों की भावनाएं भड़कती हैं, आप में से किसी एक का शादीशुदा होना बहुत जोखिम भरा हो सकता है. मुझे यकीन है कि आप उससे यह जानने के लिए बात करेंगे कि आप जिस रिलेशनशिप में आगे बढ़ रहे हैं, उसके लिए बेहतर क्या है.

आप दोनों को एक बार सार्थक, गैर-रोमांटिक, गैर-सेक्शुअल बातचीत करनी चाहिए. मेज पर आमने-सामने बैठें और एक-दूसरे से पूछें कि आप इस रिलेशनशिप से क्या उम्मीद करते हैं. परखें कि क्या आप गंभीर या सिर्फ कैजुअल सेक्स चाहते हैं. जब आप जवाब दें तो अपने आप से स्पष्टवादी और बिल्कुल सच्चे हों. जब आप बिना भेदभाव के चीजों को स्पष्ट करेंगे तो चीजें बेहतर हो जाएंगी.

अब आपसे उसके गर्भवती होने की उसकी संभावनाओं के बारे में आपके दूसरे सवाल पर आते हैं...

स्पर्म करण-अर्जुन नहीं हैं. जब वे नमी वाली सतह के संपर्क में आते हैं या जब उनकी मां उनके नाम से पुकारती है, तो वे ना तो पुनर्जन्म लेते हैं और ना ही कहीं से प्रकट होते हैं.

इस मामले में वे बहुत आलसी और संवेदनशील होते हैं. आपके द्वारा बताए हालात में सूखे स्पर्म से गर्भवती होने की संभावना.

गंभीरता से कहें तो- नहीं, स्पर्म सूखेपन में जिंदा नहीं बचते हैं.

मुस्कान के साथ

रेनबोमैन

अंतिम बातः कृपया उसके साथ अकेले में आमने-सामने बात करने पर विचार करें. बात करें.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

‘मेरे पति जिस तरह से मुझे छूते हैं, मेरा मूड एकदम उखड़ जाता है’

‘क्या मैं ऐसी खराब बीवी हूं जो अपने पति की जरूरत को पूरा नहीं कर रही है?’
“हालांकि सेक्स को लेकर मुझे कोई अरुचि नहीं है, लेकिन मेरे पति जिस तरह से मुझे छूते हैं, मुझे उत्तेजित करने की कोशिश करते हैं, मेरा मूड एकदम उखड़ जाता है.”
(फोटो: iStockphoto)

हाय हरीश,

मैं 12 साल से शादीशुदा 47 साल की महिला हूं और मेरे 3 बच्चे हैं. मेरी एक ऐसी समस्या है जिसका मैं लंबे समय से सामना कर रही हूं. मैंने इसे हल करने की कोशिश भी की लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. यह मेरे पति के साथ मेरे संबंधों पर लगातार असर डालती रही और हाल के दिनों में समस्या और बिगड़ गई. हालांकि सेक्स को लेकर मुझे कोई अरुचि नहीं है, लेकिन मेरे पति जिस तरह से मुझे छूते हैं, मुझे उत्तेजित करने की कोशिश करते हैं, मेरा मूड एकदम उखड़ जाता है. उसका उत्तेजित करने का इकलौता तरीका या तो मेरे प्राइवेट पार्ट को टटोलना या भींच लेना है, जो मुझे पसंद नहीं है. मुझे पता है कि आप क्या कहेंगे और मुझ पर यकीन करें कि मैं उसे समझाने के कई तरीके आजमा चुकी हूं. कायदे से लिंक शेयर करके; उसे सीधे शब्दों बता कर कि मुझे उत्तेजित करने से पहले ठीक से बातचीत करना होगा और फोरप्ले करना होगा; बहाने से उसे बताया कि मेरा मूड बनाने के लिए उसे थोड़ी कड़ी मेहनत करने की जरूरत है. ज्यादातर, उसके अहम को चोट पहुंचाए बिना कायदे से. लेकिन इनमें से कोई तरीका काम नहीं आया. वह अब भी वैसा ही कर रहा है और इसके चलते मैं या तो सेक्स में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाती या मैं सिर्फ दांत पीसती हूं और गतिविधि के पूरा होने का इंतजार कर रही होती हूं. इससे हम दोनों पर असर पड़ रहा है. इससे ना सिर्फ हमारी सेक्स लाइफ खराब हो गई है, बल्कि इससे मेरे पति को भी लगता है कि मैं उनकी सेक्स जरूरतों को पूरा करने पर ध्यान नहीं देती. ऐसे में अक्सर यह सोचकर मुझे खुद पर शक होता है कि क्या मैं ऐसी खराब बीवी हूं जो अपने पति की जरूरत को पूरा नहीं कर रही है. अब मैं आपके सामने इस बारे में चर्चा कर रही हूं, क्योंकि तनाव बढ़ता जा रहा है और इसलिए भी क्योंकि मुझे लगता है कि यह अंतिम उपाय है. मैं सभी तरीकों से इसे ठीक करने की कोशिश कर चुकी हूं, जितने मुझे पता हैं. उसे डॉक्टर या सेक्सोलॉजिस्ट से बात करने के लिए राजी करने का सवाल ही पैदा नहीं होता.

प्लीज मदद कीजिए. प्लीज

आपका अग्रिम धन्यवाद

दुखियारी बीवी

ADVERTISEMENTREMOVE AD

प्रिय दुखियारी बीवी,

मुझे लिखने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया. आपके मेल ने मेरे अतीत की एक घटना को भी ताजा कर दिया है. मैंने सोचा कि मैं भी आपके साथ उसी ईमानदारी से साझा करूं जैसे आपने किया है. मैं किसी ऐसे शख्स के साथ रहा हूं जो थपथपाना और रगड़ा-रगड़ी करना चाहता था लेकिन सहवास के पूरे खेल में शामिल नहीं होना चाहता था. हालांकि हमारे सभी अनुभव बेजोड़ थे, लेकिन मैं आपको बताना चाहता हूं कि मैं पूरी तरह से बेचैन और नाराज महसूस करता था और मैं उसकी ख्वाहिश के लिए एक वस्तु की तरह था जबकि मेरी ख्वाहिशें उसके लिए मायने नहीं रखती थीं. आपके मामले से बड़ा फर्क यह था कि यह एक तोड़ा जा सकने वाला रिश्ता था, जहां हम सिर्फ बेडफेलो थे और एक दूसरे से बंधे कपल नहीं थे.

जबकि आपने उससे बात की है और समझा चुकी हैं और आप कहती हैं कि वह किसी सेक्सोलॉजिस्ट को नहीं दिखाना चाहता (यानी रिलेशनशिप के मामले में वह किसी भी तरह की दखलअंदाजी को पूरी तरह से खारिज करता है), मैं अंतिम शख्स होऊंगा जो कभी भी किसी को दूसरों को खुश करने के लिए खुद को बदलने के लिए कहेगा.

ये समस्या आपकी वजह से पैदा नहीं हुई है, लेकिन समस्या आप पर असर डाल रही है. तो शायद हमें आपके नजरिये से आत्मनिरीक्षण करना चाहिए... तब शायद हम इसका समाधान पाने में कामयाब हो सकेंगे. क्या आप उसे दोषी मानती हैं कि वह आपको खुश नहीं करता है? क्या आप सही शब्दों को तलाशने की कोशिश में ज्यादा समय खर्च करती हैं ताकि उसके अहम को चोट ना पहुंचे, बजाय एक भी शब्द की काट-छांट किए बिना यह बताने के कि आप वास्तव में क्या महसूस करती हैं?

शायद आपको आप दोनों के लिए चीजों के और खराब होने के डर के बिना उसे बताना शुरू कर देना चाहिए. क्योंकि आपने अपनी मेल में भी जिक्र किया है कि चीजें वैसे भी बदतर हो रही हैं. इसलिए आपके पास खोने को ज्यादा कुछ नहीं है.

इसके अलावा, क्या हम रोजाना कुछ सकारात्मक कदम उठा सकते हैं? ऐसी भावनाएं काफी निराशाजनक और चिंताजनक हैं.

प्रेम से वंचित महसूस करने से बहुत सारे नकारात्मक विचार पैदा हो सकते हैं. काउंसलर की मदद लेने में संकोच ना करें.

मुस्कान के साथ

रेनबोमैन

अंतिम बातः “चीजें बेहतर हो गई हैं.” यह सकारात्मक पुष्टि मैं रोजाना खुद से करता हूं. आप भी कोशिश कीजिए?

ADVERTISEMENTREMOVE AD

‘मेरे ब्रेस्ट छोटे हैं’

‘क्या मैं ऐसी खराब बीवी हूं जो अपने पति की जरूरत को पूरा नहीं कर रही है?’
“मुझे अपने छोटे ब्रेस्ट पसंद नहीं हैं.”
(फोटो: iStockphoto)

डियर रेनबोमैन,

क्या आप ब्रेस्ट एनहांसमेंट के बारे में सुझाव दे सकते हैं? मुझे अपने छोटे ब्रेस्ट पसंद नहीं हैं.

छोटा मुद्दा

डियर छोटा मुद्दा,

मुझे लिखने के लिए शुक्रिया. क्या आपका मतलब सर्जिकल ब्रेस्ट एनहांसमेंट से है? यह बहुत ही निजी पसंद है. किसी दूसरे शख्स को यह सुझाव नहीं देना चाहिए कि आपको क्या करना चाहिए. मैं आंटी/अंकल नहीं बनना चाहता जो आपको बताए कि आपको अपने ब्रेस्ट से प्यार करना चाहिए.

लेकिन मैं निश्चित रूप से आपको एक सुविचारित फैसला लेने और एक पेशेवर प्लास्टिक सर्जन और स्त्री रोग विशेषज्ञ से बात करने के लिए कह सकता हूं. Google से सलाह मत लें. वहां आपको लाखों फिजूल टिप्पणियां अलग से मिल जाएंगी.

सादर

रेनबोमैन

अंतिम बातः प्यार भरी झप्पी

(हरीश अय्यर एलजीबीटी कम्युनिटी, महिलाओं, बच्चों और जानवरों के अधिकारों के लिए काम करने वाले समान अधिकार एक्टिविस्ट हैं.)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×