ADVERTISEMENTREMOVE AD

जानिए शरीर के पांच अंगों को डिटॉक्स करने के 23 तरीके

पेट, लिवर, स्किन, फेफड़े और किडनी को ऐसे करें डिटॉक्स. 

Updated
फिट
5 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

सामान्य डिटॉक्स करने की बजाए, जिससे शायद आपको कोई फायदा नहीं होता, क्यों न कुछ प्रमुख अंगों पर ध्यान केंद्रित किया जाए और उन्हें पक्के तौर पर पूरी तरह से साफ कर दिया जाए और उन्हें उनकी पूरी क्षमता से काम करने लायक बना दिया जाए?

इस काम को 5 हिस्सों वाली परियोजना के रूप में शुरू करें और शरीर को पूरी तरह से डिटॉक्स करें.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

सबसे पहले पेट की सफाई

पेट, लिवर, स्किन, फेफड़े और किडनी को ऐसे करें डिटॉक्स. 

अगर आपका शौच नियमित रूप से नहीं होता है, तो आपके शरीर को गंदगी से छुटकारा नहीं मिल रहा है. इसलिए सबसे पहले अपने पेट की सफाई करें.

  • रोजाना सुबह एक गिलास नींबू वाला गर्म पानी पीएं. ये क्षारीय है, इसलिए आपके शरीर में पीएच लेवल को संतुलित करने में मदद करता है और इसमें मौजूद विटामिन सी, आपके शरीर में अतिरिक्त पानी के वजन को कम करने और आपकी कोशिकाओं में सोडियम व पोटेशियम के स्तर को संतुलित करने में मदद करेगा.
  • अपने आहार में कुछ गुड फैट्स जैसे घी, जैतून और नारियल का तेल शामिल करें.
  • ब्राउन राइस, ताजे फल और सब्जियों समेत फाइबर का भरपूर सेवन करें.
  • ऑर्गेनिक फूड्स अपनाएं. ये कीटनाशकों, रासायनिक खाद, ग्रोथ हार्मोंस और जेनेटिकली मॉडिफाइड पदार्थों से मुक्त होते हैं, जिसका मतलब है कि आपके शरीर में पहुंचने वाले विषाक्त पदार्थों में भारी कमी.
  • मीट में कटौती कीजिए. थोड़े समय के लिए शाकाहारी बन जाएं तो और अच्छा है. मीट को पचाना बहुत मुश्किल होता है और इसे पचाने के लिए कई एंजाइमों की जरूरत होती है. इसलिए डाइट में इसकी कटौती या खात्मा पेट के डिटॉक्सिफिकेशन को बढ़ाता है.
  • कुछ प्रोबायोटिक्स लें और अपनी डाइट में फर्मेंटेड फूड्स को शामिल करें. सभी किस्म के शुगर और एल्कोहल आंत में बैक्टीरिया के नाजुक संतुलन को बिगाड़ सकते हैं और पेट पर दबाव बढ़ा सकते हैं.
0

अब नंबर आता है लिवर का

पेट, लिवर, स्किन, फेफड़े और किडनी को ऐसे करें डिटॉक्स. 

सभी केमिकल्स और विषाक्त पदार्थों की प्रोसेसिंग यहीं होती है. ये हमारे सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है और जिसकी हम कई बार (वास्तव में अक्सर) थोड़ी उपेक्षा कर देते हैं.

  • हमारा लिवर हमारे द्वारा खाए गए सभी फैट को प्रोसेस करता है. कई विषाक्त पदार्थ फैट में घुलनशील होते हैं और लिवर का काम उन्हें पानी में घुलनशील पदार्थ में बदल देना है, ताकि उन्हें आंत या किडनी के माध्यम से बाहर किया जा सके (क्योंकि आंत और किडनी उन्हें तब तक प्रोसेस नहीं कर सकते, जब तक कि वे पानी में घुलनशील न हों). लिवर को चंगा होने देने के लिए, कुछ समय के लिए अपने खाने की डिक्शनरी से तला शब्द मिटा दें.
  • चुकंदर, नींबू और सब्जियां और कड़वे फूड्स की खपत को बढ़ाएं- ये सभी लिवर की सफाई करने वाले फूड्स हैं.
  • हल्दी भी काफी मददगार है. यह लिवर में गड़बड़ी के लिए जिम्मेदार जलन पैदा करने वाले तत्वों को कम करती है.
  • एल्कोहल जहर है, जिसका सामना आपके लिवर को करना पड़ता है, इसलिए कुछ समय के लिए पीना बंद कर दें.
  • फिलहाल कॉफी के अंतहीन कपों की संख्या में कटौती करें! अपने लिवर को हर दिन उस कैफीन को डिटॉक्स करने के काम से आराम का मौका दें.
ADVERTISEMENTREMOVE AD

आपकी त्वचा को देखभाल की जरूरत है

पेट, लिवर, स्किन, फेफड़े और किडनी को ऐसे करें डिटॉक्स. 

आप शायद इस बारे में नहीं सोचते हैं, लेकिन आपकी त्वचा आपका सबसे बड़ा डिटॉक्स उपकरण है और बहुत सारे कचरे को बाहर निकालने में मदद करती है.

  • इसे साफ रखें, थोड़ी देर के लिए खुला (बिना किसी केमिकल के) रखें- इसे सचमुच में सांस लेने और अपना काम करने दें. इसके अलावा त्वचा को धूप और हवा मिलने दें.
  • नेट्टल (बिच्छू बूटी), डेंडेलियन (सिंहपर्णी), अदरक जैसी चाय त्वचा को सहारा देती हैं. एक हफ्ते तक रोजाना इन चायों के कम से कम दो कप पीएं.
  • सभी तरह की रिफाइंड चीनी लेना बंद कर दें. ये आपके इंसुलिन के स्तर को बढ़ाती है, जिससे आपको शरीर में और त्वचा में जलन पैदा होती है.
  • एक्सरसाइज से आपके दिल की धड़कन तेज होती है और आपकी त्वचा से पसीना निकलता है, जो त्वचा के माध्यम से आपके शरीर की अशुद्धियों को बाहर निकालने में मदद करता है. इसलिए पसीना बहाइए.
ADVERTISEMENTREMOVE AD

फेफड़ों के बारे में सोचें

पेट, लिवर, स्किन, फेफड़े और किडनी को ऐसे करें डिटॉक्स. 

फेफड़े बुरी तरह से गंदगी से अटे होते हैं. आखिरकार उनके जिम्मे शरीर से गंदे विषाक्त पदार्थों को लगातार बाहर निकालने का काम होता है.

  • अपना वजन काबू में रखें क्योंकि ज्यादा वजन वाला या मोटापे के शिकार वयस्क रोजाना सांस के माध्यम से 7-50% अधिक हवा अंदर लेते हैं और इससे वो जहरीली हवा के आसान शिकार हो जाते हैं.
  • भरपूर विटामिन सी लें क्योंकि ये पर्यावरण के विषाक्त पदार्थों से होने वाले फेफड़े के ऊतकों को नुकसान को रोकने में मदद करता है. इसलिए रोजाना एक आंवला या दो संतरा लें.
  • ये अंगूर का मौसम है और इसके लिए ईश्वर का शुक्रिया अदा करें. इस रसदार फल में पाया जाने वाला रेसवेराट्रॉल फेफड़ों की कोशिका के अस्तर पर जलन पैदा करने वाले यौगिकों को रोकने में और फेफड़ों की सफाई में मदद करता है.
  • अनानास भी एक अच्छी चीज है. इसमें मौजूद एंजाइम ब्रोमेलिन फेफड़ों में जमा जहरीले कचरे को साफ करने में मदद करता है और इस तरह प्राकृतिक तरीके से इसे डिटॉक्स करने में मदद करता है.
ADVERTISEMENTREMOVE AD

किडनी की देखभाल

पेट, लिवर, स्किन, फेफड़े और किडनी को ऐसे करें डिटॉक्स. 

शरीर से अपशिष्ट और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए किडनी लगातार काम करती है, इसलिए इसकी ज्यादा देखभाल कीजिए

  • हाइड्रेटेड रहें ताकि किडनी पूरी क्षमता से काम करे और किडनी में कचरा जमा होने से रोकने के लिए गाहे-बगाहे सेब का डाइल्यूटेड सिरका पीएं.
  • बहुत ढेर सारा पानी पीएं. इसे हल्का गर्म करके लें.
  • अदरक एक बेहतरीन जड़ी-बूटी है, जो किडनी को साफ करने में मदद करती है. कसा हुआ अदरक गर्म पानी में मिलाएं और दिन भर पीएं.
  • करौंदा खाएं. इनमें कुनैन नाम का एक पोषक तत्व होता है, जो हिप्पुरिक एसिड में परिवर्तित हो जाता है और किडनी में यूरिया व यूरिक एसिड के जमाव को साफ करता है.

(लेखिका दिल्ली की एक न्यूट्रिशनिस्ट, वेट मैनेजमेंट कंसल्टेंट और हेल्थ राइटर हैं. इन्होंने डोंट डाइट! 50 हैबिट्स ऑफ थिन पीपल (जैको) और अल्टीमेट ग्रैंडमदर हैक्स: 50 किकएस ट्रेडिशनल हैबिट्स फॉर अ फिटर यू (रूपा ) पुस्तकेंलिखी हैं.)

(क्या आपने अभी तक FIT के न्यूजलेटर को सब्सक्राइबर नहीं किया है? यहां क्लिक करें और सीधे अपने इनबॉक्स में हेल्थ अपडेट पाएं.)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×