ADVERTISEMENTREMOVE AD
मेंबर्स के लिए
lock close icon

पापड़ि का Weight Gain चैलेंज: वजन बढ़ाने के लिए वर्कआउट 

‘मुझे लगता था कि वर्क आउट से वेट कम होता है, लेकिन ऐसा नहीं है.’

Updated
फिट
3 min read
छोटा
मध्यम
बड़ा
ADVERTISEMENTREMOVE AD

कैमरा: शिव कुमार मौर्य, अतहर राथेर, अभय शर्मा, सुमित बडोला और अभिषेक रंजन

ग्राफिक्स एंड आर्ट: इरम गौर और आर्णिका काला

वीडियो एडिटिंग: दीप्ति रामदास

(मेरा नाम पापड़ि दास है और मैंने दो महीने में अपना वजन बढ़ाने का चैलेंज लिया है! 'मैं वजन क्यों बढ़ाना चाहती हूं' से लेकर इस चैलेंज को पूरा करने के लिए मैंने क्या-क्या किया, ये जानने के लिए नीचे दिए तीन लिंक पर क्लिक करें.)

0

5वां और 6ठां हफ्ता

“क्या खुद को शीशे में देखकर अच्छा लगता है?”

क्या आपको ऐसा लगता है कि आपका थेरेपिस्ट की ओर से ये सवाल किया जाएगा? मेरी फिटनेस ट्रेनर वेसन जैकब ने मुझसे यही सवाल किया.

मैं फिटनेस ट्रेनर के पास इसलिए पहुंची थी क्योंकि सिर्फ बैलेंस्ड डाइट से मेरा वजन नहीं बढ़ने वाला था, मुझे वर्कआउट करने के भी जरूरत थी.

मैंने कभी जिम में पसीना नहीं बहाया था. मुझे लगता था कि वर्क आउट से वेट कम होता है. लेकिन मुझे खुशी है कि न्यूट्रिशनिस्ट रुपाली दत्ता और उसके बाद फिटनेस ट्रेनर वेसना जैकब ने मेरी ये गलतफहमी दूर कर दी.

वर्क आउट से न सिर्फ अतिरिक्त फैट बर्न होता है, बल्कि इससे शरीर को प्रोटीन ब्रेक कर मसल बनाने में भी मिलती है.
वेसना जैकब
ADVERTISEMENTREMOVE AD

वजन और ताकत में अंतर

दिल्ली में रहने वाली फिटनेस गुरु और कई बुक लिखी चुकी वेसना जैकब, ये समझना चाहती थीं कि मैं वजन बढ़ाना क्यों चाहती हूं. मेरी बॉडी फैट एनालिसिस से ये भी पता किया गया कि मुझे अपने शरीर का कितना प्रतिशत फैट बर्न करने की जरूरत है. (हां, अंडरवेट लोगों के शरीर में भी अनवॉन्टेंड फैट हो सकता है.)

ADVERTISEMENTREMOVE AD

वजन बढ़ाने के लिए वर्क आउट

फिर मेरी एक्सरसाइज रूटीन शुरू हुई. मेरी स्ट्रेंथ और मूवमेंट का पता लगाने के लिए शुरुआत में मुझसे कुछ सिंपल एक्सरसाइज कराई. इसके बाद ये बताया गया कि मुझे कौन-कौन से वर्कआउट करने हैं.

मुझे रिफॉर्मर एक्सरसाइज, ट्रैम्पोलिन, वुंडा चेयर और वेट-लिफ्टिंग करनी थी.

‘मुझे लगता था कि वर्क आउट से वेट कम होता है, लेकिन ऐसा नहीं है.’
ये रिफॉर्मर है.
(फोटो: Amazon.com)

मैंने 1 किलो वजन उठाने से शुरुआत की, फिर धीरे-धीरे वजन बढ़ाया. मैंने 2 किलो वजन उठाकर स्क्वाट और दूसरे एक्सरसाइज भी किए. आखिरी हफ्ते डम्बेल भी उठाया. वेसना ने मुझसे ये साफ कर दिया था कि मेरे लिए उसका लक्ष्य वेट गेन नहीं बल्कि स्ट्रेंथ गेन है.

‘मुझे लगता था कि वर्क आउट से वेट कम होता है, लेकिन ऐसा नहीं है.’
वुंडा चेयर ऐसा दिखता है.
(फोटो: Amazon.com)

मैं हफ्ते के हर दूसरे दिन वेसना के स्टूडियो जा रही थी क्योंकि हमारे पास सीमित वक्त था और बहुत कुछ पूरा करना था.

क्या मुझे इसके लिए बहुत मेहनत करनी पड़ी? हां, मैंने बहुत पसीना बहाया, लेकिन फिर मुझे मजा आने लगा.

‘मुझे लगता था कि वर्क आउट से वेट कम होता है, लेकिन ऐसा नहीं है.’

हालांकि पहले हफ्ते मैं बहुत ज्यादा थकी और यहां तक कि दर्द और क्रैम्प के कारण काम से छुट्टी भी लेनी पड़ी, लेकिन बाद में सब ठीक होने लगा.

दो हफ्तों की ट्रेनिंग के बाद मेरा वजन 1.5 kg बढ़ा.

(पापड़ि के Weight Gain चैलेंज का अपडेट पाने के लिए @FitHindi और @PapriTweets को फॉलो करें.)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×