ADVERTISEMENT

Jharkhand: तीन महिलाओं को डायन बताकर जबरन मैला खिलाया, गर्म सलाखों से भी दागा

Jharkhand: गांव में बैठक बुलाकर इन महिलाओं पर आरोप लगाया कि, जादू-टोने की वजह से गांव के पशु और बच्चे बीमार हो रहे

Published
Jharkhand: तीन महिलाओं को डायन बताकर जबरन मैला खिलाया, गर्म सलाखों से भी दागा
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

झारखंड के दुमका में डायन का आरोप लगाकर एक परिवार की तीन महिलाओं सहित चार लोगों को भयावह तरीके से प्रताड़ित किये जाने का मामला सामने आया है। जिले के सरैयाहाट प्रखंड अंतर्गत असवारी गांव के दबंगों ने इन चारों को जबरन मल-मूत्र पिलाया और उन्हें लोहे की गर्म छड़ों से दागा।

यहां दबंगों का खौफ इस तरह है कि प्रताड़ित लोग पूरी रात घंटों तक दर्द से तड़पते रहे, लेकिन वे न तो पुलिस के पास जाने की हिम्मत जुटा पाये और न किसी को इस बारे में बता पाये। रविवार को किसी से घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस गांव पहुंची। इसके बाद चारों पीड़ितों को इलाज के लिए अस्पताल में दाखिल कराया गया।

बताया गया कि शनिवार की रात ज्योतिन मुर्मू नामक व्यक्ति ने गांव के लोगों की बैठक बुलाई। इसमें श्रीलाल मुर्मू के घर की तीन महिलाओं को डायन करार दिया गया। कहा गया कि इनके जादू-टोने की वजह से गांव के पशु और बच्चे बीमार हो रहे हैं। इसके बाद करीब दर्जन भर लोग लाठी-डंडों और हथियारों से लैस होकर उसके घर पर हमला कर दिया।

परिवार की तीन महिलाओं सोनामनी टुडू, रसी मुर्मू, कोसा टुडू के साथ-साथ श्रीलाल मुर्मू की बुरी तरह पिटाई की गई। इसके बाद इन चारों को पकड़कर उनके मुंह में जबरन मल-मूत्र डाला गया। हमलावरों ने उन्हें गर्म छड़ों से दागा। चारों लोग चीखते-चिल्लाते रहे, लेकिन गांव का कोई भी व्यक्ति उन्हें बचाने नहीं आया। उन्होंने धमकी दी कि अगर पुलिस को जानकारी दी तो पूरे परिवार का कत्ल कर दिया जायेगा। रविवार सुबह एक बार फिर हमलावर आये और उनकी दोबारा पिटाई की।

इस बीच रविवार को सरैयाहाट थाना प्रभारी विनय कुमार को घटना की जानकारी मिली तो पुलिस की टीम गांव भेजी गयी। चारों लोगों को पहले सरैयाहाट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। फिर इनकी गंभीर हालत को देखते हुए देवघर स्थित अस्पताल ले जाया गया। पुलिस के मुताबिक, हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए छापमारी की जा रही है।

--आईएएनएस

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×