MI Vs DC: IPL फाइनल में दिल्ली को हराकर फिर चैंपियन बनी मुंबई

मुंबई इंडियंस ने पांचवीं बार जीता आईपीएल का खिताब

Updated
IPL 2020
2 min read
मुंबई इंडियंस ने पांचवीं बार जीता आईपीएल का खिताब 
i

IPL 2020 में एक बार फिर मुंबई इंडियंस ने साबित कर दिया है कि वो आईपीएल के चैंपियन हैं. दिल्ली कैपिटल्स को हराकर मुंबई ने अपना पांचवां आईपीएल खिताब जीता है. पहले बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली की टीम ने 156 रनों का स्कोर खड़ा किया, जिसे मुंबई के बल्लेबाजों ने आसानी से पार कर लिया. इसके साथ ही दिल्ली का पहला आईपीएल खिताब जीतने का सपना भी टूट गया.

दिल्ली ने जल्दी गंवाए शुरुआती विकेट

पहले बल्लेबाजी करने उतरी दिल्ली को वो शुरुआत तो नहीं मिली जो उसे इस अहम मैच में चाहिए थी. ट्रेंट बोल्ट ने पहली ही गेंद पर मार्कस स्टोइनिस को आउट कर दिया. बोल्ट ने फिर अजिंक्य रहाणे को भी 16 के स्कोर पर पवेलियन भेज दिया. रहाणे ने दो ही रन बनाए. इस सीजन अपना पहला मैच खेल रहे जयंत यादव ने फॉर्म में चल रहे बाएं हाथ के अनुभवी बल्लेबाज शिखर धवन को अपनी तीसरी ही गेंद पर बोल्ड कर दिल्ली को तीसरा झटका दिया. धवन 15 ही रन बना पाए.

कप्तान श्रेयर और पंत ने संभाली पारी

चार ओवर भी पूरे नहीं हुए थे कि दिल्ली ने अपने तीन अहम विकेट खो दिए थे. कप्तान अय्यर मैदान पर थे और उन पर टीम को बचाने का दबाव भी, कप्तान ने अपनी जिम्मेदारी को बूखबी निभाया और इसमें युवा ऋषभ पंत ने उनका अच्छा साथ दिया.

दोनों ने मुश्किल समय में विकेट पर खड़े होकर चौथे विकेट के लिए 96 रनों की साझेदारी की. पंत ने इस दौरान इस सीजन का अपना पहला अर्धशतक पूरा किया. 15वें ओवर की तीसरी गेंद पर पंत ने चौका मार अपने पचास रन पूरे किए. इसी ओवर में नाथन कुल्टर नाइल ने पंत की पारी का अंत कर दिया. पंत ने 38 गेंदों की पारी में चार चौके और दो छक्के मारे.

पंत के जाने के बाद अय्यर ने भी अपना अर्धशतक पूरा किया. टीम को मजबूत स्कोर तक पहुंचाने के लिए अय्यर को अंत के ओवरों में एक ऐसे बल्लेबाज के साथ की जरूरत थी जो तेजी से रन बना सके. ये काम शिमरन हेटमायर कर सकते थे लेकिन बोल्ट ने उन्हें पांच के निजी स्कोर पर आउट कर दिया.

अक्षर पटेल भी 9 ही रन ही बना सके. अय्यर हालांकि अंत तक टिके रहे और टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया. उन्होंने अपनी पारी में 50 गेंदों का सामना किया और 6 चौके और दो छक्के लगाए.

मुंबई ने आसानी से जीता मैच, चला रोहित का बल्ला

अब फाइनल मुकाबले में चैंपियन मुंबई को सिर्फ 157 रनों का टारगेट मिला था. कप्तान रोहित शर्मा ने सबसे ज्यादा 68 रनों की पारी खेलकर टीम की जीत में अहम योगदान दिया. उनके अलावा क्विंटन डिकॉक ने 12 गेंदों में 20 रन, सूर्यकुमार यादव ने 20 गेंदों में 19 रन बनाए. पोलार्ड 9 रन बनाकर आउट हुए. आखिर में ईशान किशन ने 33 रन और पांड्या ने 3 रन बनाकर टीम को पांचवीं बार चैंपियन बनाया.

मुंबई के लिए बोल्ट ने तीन, नाइल ने दो, जयंत ने एक विकेट लिया. जसप्रीत बुमराह एक भी विकेट नहीं ले पाए. उनकी इस नाकामी का मतलब यह है कि दिल्ली के कगीसो रबाडा को पर्पल कैप मिलना तय हो गया है.

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!