ADVERTISEMENTREMOVE AD

'मैंने सिर मुंडवा लिया था': IPL में छाने वाले KKR के गेंदबाज सुयश शर्मा की कहानी

IPL 2023: Suyash Sharma ने इस सीजन 9 मैचों में 28.00 की औसत से अब तक 10 विकेट लिए हैं.

Published
IPL 2024
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए अब तक आईपीएल 2023 (IPL 2023) एक उतार-चढ़ाव वाला सीजन रहा है. केकेआर अभी भी खुद को प्लेऑफ की दौड़ में देख रही है, लेकिन, आगे का रास्ता अब काफी मुश्किल है.

इस सीजन कोलकाता नाइट राइडर्स के कई खिलाड़ियों का प्रदर्शन फीका रहा जिसके चलते टीम के प्रजर्शन को भी नुकसान पहुंचा, लेकिन स्पिनर सुयश शर्मा केकेआक की कहानी से थोड़ी अलग है. वे इस सीजन कोलकाता के लिए सबसे बड़ा पॉजिटिव रहे हैं.

कई दिग्गज क्रिकेटर सुयश शर्मा की गेंदबाजी की तारीफ कर चुके हैं. सुयश शर्मा ने खुद के चयन की कहानी साझा करते हुए कहा कि अंडर-19 में सेलेक्शन न होने पर गुस्से में उन्होंने अपना सिर मुंडवा लिया था.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

'अच्छे प्रदर्शन के बावजूद नहीं हो रहा था U-19 में चयन'

सुयश ने आईपीएल को दिए एक इंटरव्यू में कहा, "पिछले साल मैंने अंडर-19 के लिए ट्रायल दिया और अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन मेरा चयन नहीं हुआ. रात के 12:30 बजे से 1 बजे के बीच उन्होंने खिलाड़ियों की लिस्ट निकाली लेकिन मैं सो रहा था. मैं करीब 3 बजे उठा और दो घंटे तक रोते रहा." उन्होंने आगे कहा,

"मुझे बताया गया कि वे मुझे एक बार गेंदबाजी करते हुए देखना चाहते हैं. मैं वहां गया लेकिन वहां मेरा किसी ने नहीं सुनी. मैं रोता हुआ लौटा और अपना सिर मुंडवा लिया. अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद विश्वास नहीं हो रहा था कि मेरे साथ ऐसा हो रहा है."

उसके बाद मैंने सोच लिया था कि मैं अपनी स्किल को और बेहतर करूंगा कि वह मुझे घर से लेकर जाएंगे. मेरे बाल भी बड़े हो रहे थे और मैचों में भी अच्छा कर रहा था. इसलिए मैंने बड़े बाल रखने शुरू कर दिए.”

0

IPL 2023 में 20 लाख रु में KKR ने खरीदा

सुयश शर्मा कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए इस सीजन प्रभावशाली प्रदर्शन किया है. सुयश को फ्रेंचाइजी ने उनकेबेस प्राइज 20 लाख रुपये में खरीदा था. उन्होंने इस सीजन 9 मैचों में 28.00 की औसत से अब तक 10 विकेट लिए हैं.

सुयश ने कहा, "मुझे (आईपीएल) ट्रायल के दौरान काफी सराहा गया था, लेकिन यह स्पष्ट नहीं था कि इससे मेरा चयन होने वाला है या नहीं. नीलामी के दौरान, मैं सिर्फ 25 दिन के ट्रायल से लौट रहा था. जैसे ही मैंने रिक्शा के बाहर कदम रखा, मुझे कई सारे कॉल आये, तब मुझे एहसास हुआ कि शायद मेरा चयन हो गया है. जब मेरा चयन हुआ मेरे पिता हवाई अड्डे पर थे और रो रहे थे. मैं उस भावना को बयां नहीं कर सकता. मुझे सेलेक्शन की उम्मीद बिल्कुल नहीं थी."

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×