दलितों की मुहिम ट्विटर पर थम नहीं रही,DM को भेजे जा रहे हैं ‘जूते’
सूट-बूट पर कमेंट करने वाले बलिया के डीएम को सोशल मीडिया पर दलितों के गुस्से का शिकार होना पड़ा
सूट-बूट पर कमेंट करने वाले बलिया के डीएम को सोशल मीडिया पर दलितों के गुस्से का शिकार होना पड़ा(फोटो: ट्विटर)

दलितों की मुहिम ट्विटर पर थम नहीं रही,DM को भेजे जा रहे हैं ‘जूते’

उत्तर प्रदेश में बलिया जिले के जिलाधिकारी (DM) भवानी सिंह को दलित लोगों के महंगे कपड़े और जूतों पर कमेंट करना महंगा पड़ गया है. सूट-बूट पर कमेंट करने वाले डीएम को सोशल मीडिया पर लगातार ट्रोल किया जा रहा है. देश-विदेश से दलित अपनी गाड़ी, महंगी घड़ी और सूट-बूट पहने अपनी तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं. साथ ही यूजर्स डीएम को जवाब देते हुए लिख रहे हैं कि अब सोच बदलने की जरूरत है.

Loading...

ये पूरा मामला तब शुरू हुआ, जब बलिया के एक स्कूल में दलित छात्रों को अलग बिठाकर केले के पत्ते में मिड डे मील परोसने के वीडियो वायरल हुआ. इसके बाद दलित कार्यकर्ताओं का एक दल उनसे मामले की जांच कराने की मांग करने पहुंचा. इस पर डीएम ने उन पर टिप्पणी शुरू कर दी. उन्होंने कहा कि 25 लाख की गाड़ी और महंगे जूते पहनकर सफेदपोश आए हैं. लेकिन डीएम को मामले को हल्के में लेना और कमेंट करना भारी पड़ गया.

देखिए, अब यूजर्स कैसे-कैसे कमेंट कर रहे हैं-

ये भी पढ़ें- सूट-बूट पर डीएम के कमेंट से खफा हुए दलित, ट्विटर पर भेजे ‘जूते’

'नंगे पैर रहना अब हमारी परंपरा नहीं'

'डीएम साहब अछूत माने जाने वाले दलित एक सशक्त बहुजन बन गए'

'डीएम को दिक्कत है कि दलित महंगी कार पर क्यों चलते हैं!'

'सूट और चमचमाते बूट हमारी परंपरा है, विआदत है'

बता दें, वीडियो के वायरल होने के बाद डीएम ने बलिया के स्कूल में मिड डे मील परोसने के दौरान दलित बच्चों को अलग बिठाने के मामले की जांच कराने का वादा किया है.

ये भी पढ़ें : सूट-बूट पर डीएम के कमेंट से खफा हुए दलित, ट्विटर पर भेजे ‘जूते’

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our सोशलबाजी section for more stories.

    Loading...