Basant Panchami Food: इस आसान विधि से बनाएं पीले मीठे चावल 

बसंत पंचमी के मौके पर मीठे पीले चावल बनाना चाहते हैं. तो जानिए कैसे घर पर मीठे चावल को बनाया जा सकता है.

Published
जायका
2 min read
Yellow Food Recipe: How to cook meethe rice on Basant Panchami. पीले मीठे चावल बनाने की विधि.
i

वसंत पंचमी का त्योहार 29 जनवरी को है. इस दिन पीले रंग का बहुत महत्व होता है. इस दिन पीले वस्त्र पहने जाते हैं. मां सरस्वती की पूजा में पीले रंग के फूल अर्पित किए जाते हैं. भोज के लिए पीले रंग की मिठाई बनाई जाती है. वसंत पंचमी के दिन घरों में खास तौर पर पीले चावल बनते हैं, इन्हें पीले मीठे केसरी भात भी कहते हैं. अगर आप भी वसंत पंचमी के मौके पर मीठे पीले चावल बनाना चाहते हैं. तो जानिए कैसे घर पर मीठे चावल को बनाया जा सकता है.

मीठे चावल बनाने के लिए आवश्यक साम्रगी

  1. बासमती चावल 1 कप
  2. चीनी 3 /4 कप
  3. देशी घी 2 चम्मच
  4. पानी 5 -6 कप
  5. तेजपत्ता 1 पीस
  6. लौंग 2 पीस
  7. बादाम कटे हुए 1 चम्मच
  8. काजू कटे हुए 1 चम्मच
  9. हरी इलायची 4 पीस
  10. केसर 15 पत्ती ( लगभग )
  11. पीला रंग ( खाने वाला ) एक चुटकी

वसंत पंचमी पर मीठे चावल बनाने की विधि

  1. बासमती चावल को धोकर आधे घण्टे के लिए भिगों दें.
  2. केसर को आधी कटोरी दूध में भिगो कर मिक्स कर लें और इसमें पीला रंग डाल भी मिला दें.
  3. इसके बाद 2 इलायची छीलकर पीस लें.
  4. काजू और बादाम को काट कर टुकड़े कर लें.
  5. एक भारी तले वाले बर्तन में आधा चम्मच घी डालकर गर्म करें.
  6. फिर इसमें तेजपत्ता , लौंग व 2 हरी इलायची डालें.
  7. इसमें भीगे हुए चावल डालकर दो मिनट भूने. फिर पानी डालकर चावल पकने तक उबाल लें.
  8. चावल पकने पर पानी छानकर अलग कर दें और चावल ठंडे होने के लिए अलग रख दें.
  9. एक कढ़ाई या नॉन स्टिक पैन में डेढ़ चम्मच घी डालकर गर्म करें.
  10. इसमें धीमी आंच पर काजू गुलाबी होने तक फ्राई करके एक प्लेट में निकाल लें.
  11. काजू तलकर निकालने के बाद इस कढ़ाई में चावल डालें फिर शक्कर भी डाल दें.
  12. तैयार केसर और रंग का मिश्रण इसमें मिला दें।
  13. शक्कर डालते ही चाशनी बनने लगती हैं. गैस की आंच तेज करके हल्के हाथ से चावल को हिलाते हुए चाशनी का पानी सूखा लें.
  14. पिसी इलायची , काजू , बादाम मिला दें।
  15. मीठे चावल परोसने के लिए एकदम तैयार हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!