Me, The Change: पहली बार वोट डालने वाली महिलाओं के लिए करियर जरूरी

‘मी, द चेंज’, एक ऐसा कैंपेन जो पूरे भारत में पहली बार वोट देने वाली महिला मतदाताओं के मुद्दों पर चर्चा कर रहा है.

Published05 Feb 2019, 11:02 AM IST
Me, The Change
2 min read

पहली बार वोट डालने जा रही महिला वोटर्स पढ़ाई के बाद काम करना चाहती हैं और बेहतर नौकरी के लिए वो शहर बदलने के लिए भी तैयार हैं.

द क्विंट के 'Me, The Change' के लिए किए गए लोकनीति-सीएसडीएस और द क्विंट के सर्वे से ये सामने आया कि युवा महिलाओं की पहली पसंद करियर बनाना है. हालांकि इसमें नौकरी में आने के कई अलग-अलग कारण शामिल हैं. सर्वे में शामिल होने वालीं कुल महिलाओं में से 79% महिलाएं ऐसा करना चाहती हैं.

सर्वे में देश भर में 5,000 फर्स्ट टाइम वीमेन वोटर्स से शिक्षा, स्वास्थ्य, करियर और आजादी को लेकर उनकी उम्मीदों के बारे में पूछा गया.

जानिए ये फर्स्ट टाइम वोटर्स अपने करियर के बारे में क्या सोचती हैं?

क्विंट और फेसबुक ने मी, द चेंज लॉन्च किया है, एक ऐसा कैंपेन जो पूरे भारत में पहली बार वोट देने वाली महिला मतदाताओं के मुद्दों पर चर्चा कर रहा है.

स्टूडेंट हैं पहली बार वोट देने जा रहीं महिलाएं

सर्वे में 41% महिलाओं ने बताया कि वो स्टूडेंट हैं. शहरों में ये नंबर आधा है, वहीं गांव में ये आंकड़ा 35% है.

सर्वे के मुताबिक, 27% ने कहा कि वो होममेकर्स हैं. गांव में ये आंकड़ा ज्यादा है, जहां 34% युवा महिलाएं होममेकर्स हैं.

वो काम करना चाहती हैं

Me, The Change: पहली बार वोट डालने वाली महिलाओं के लिए करियर जरूरी

सर्वे में सामने आया कि 5 में से 4 महिलाएं पढ़ाई के बाद नौकरी करना चाहती हैं.

इसका मतलब है कि 79% युवा महिलाएं काम करना चाहती हैं, जबकि 14% महिलाओं का कहना है कि उनका फैसला स्थिति पर निर्भर करेगा

गांव में नौकरी करने की इच्छा रखने वाली महिलाओं का प्रतिशत 78 है.

सर्वे में देखने को मिला कि करियर चुनाव को लेकर टीचर बनना उनकी पहली पसंद है. सर्वे में शामिल 24% महिलाओं ने कहा कि टीचर की नौकरी उन्हें सबसे बेहतर लगती है. ये पसंद गांव की महिलाओं में ज्यादा देखने को मिली.

सर्वे में ये भी सामने आया कि युवा महिलाएं बेहतर नौकरी के लिए शहर बदलने के लिए भी तैयार हैं

आखिर क्यों नौकरी करना चाहती हैं महिलाएं?

Me, The Change: पहली बार वोट डालने वाली महिलाओं के लिए करियर जरूरी

नौकरी के लिए महिलाओं के पास अलग-अलग कारण हैं. डेटा के मुताबिक, 27% महिलाएं पैसे कमाने के लिए नौकरी करना चाहती हैं, जबकि 26% महिलाएं ऐसा आत्मनिर्भर बनने के लिए करना चाहती हैं.

वहीं 21% महिलाएं इसलिए नौकरी करना चाहती हैं ताकि उन्हें समाज में इज्जत मिल सके.

10 में से 1 महिला आर्थिक जरूरतों के लिए नौकरी करना चाहती है.

हालांकि, गांव में युवा महिलाओं की प्राथमिकता पैसा कमाना है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर को और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!