ADVERTISEMENTREMOVE AD

'All eyes on Rafah' सोशल मीडिया पर हो रहा ट्रेंड, जानिए क्यों और कैसे शुरू हुआ ये कैंपेन?

Camp in Rafah: 'ऑल आइज आन राफा' एआई की मदद से बनाई गई फोटो है जो राफा में टेंट में रह रहे लोगों की स्थिति को दर्शा रही है.

Published
न्यूज
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

'All eyes on Rafah' ने सोशल मीडिया पर धूम मचा रखी है. आम आदमी से लेकर बॉलीवुड सितारे तक इसे अपने अकाउंट से शेयर कर रहे हैं. 'ऑल आइज ऑन राफा' ऐसा वाक्यांश है जो की राफा, गाजा में चल रहे नरसंहार को दर्शाता है जिसमें 1.4 मिलियन से अधिक फिलिस्तीनियों ने शरण मांगी है.

इसी के चलते दुनिया भर के कई लोग दक्षिणी गाजा शहर में रहने वाले फिलिस्तीनियों के समर्थन में सामने आए, जहां इजरायल बड़े पैमाने पर जमीनी अभियान चला रहा है.

कहां से आई तस्वीर?

दरअसल, यह फोटो एआई के मदद से बनाई गई है जो एक कैम्प में टेंट को दर्शाती है. यह गाजा के दक्षिण में शरणार्थी तम्बू कैम्पस से भरा एक क्षेत्र है. वाक्यांश का मतलब है कि गाजा में हिंसक लड़ाई से भागने के बाद 1.4 मिलियन लोग राफा में आश्रय ले रहे हैं. इसके बावजूद इजरायल का आक्रामक रवैया जारी है.

बता दें, यह स्लोगन अधिकृत फिलिस्तीनी क्षेत्रों के डब्ल्यूएचओ कार्यालय के निदेशक रिक पीपरकोर्न की एक कमेंट से उत्पन्न हुआ, जिन्होंने फरवरी में कहा था, 'सभी की निगाहें राफा पर हैं'.

इस हैशटैग ने सोशल मीडिया पर 195,000 पोस्ट्स और कई मिलियन व्यूज पार कर लिए हैं और यह इंस्टाग्राम पर कम से कम 100,000 पोस्ट के साथ ट्रेन्डिंग है. बॉलीवुड सितारों की बात करें तो वरुण धवन से लेकर अली गोनी, सामंथा रुथ प्रभु और तृप्ति डिमरी तक सभी इंडियन सेलिब्रिटीज ने 'ऑल आइज आन राफा' अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया.

समर्थन के लिए लिया सोशल मीडिया का सहारा

सप्ताहांत में इजरायल की गोलाबारी और हवाई हमलों में कम से कम 45 लोग मारे गए जिनमें से अधिकांश दक्षिणी गाजा शहर राफा में टेंट में रह रहे थे. गाजा मेडिक्स ने कहा कि हमले में सैकड़ों नागरिकों के जलने के घाव भी मिले.

संयुक्त राष्ट्र की अदालत द्वारा पिछले सप्ताह वहां अभियान रोकने के आदेश के बावजूद इजरायली बलों ने सीमावर्ती शहर पर हमला तेज कर दिया है.

इस बीच, इजरायल ने इस मौत को 'एक दुखद दुर्घटना' बताया और इजरायल की सेना ने कहा कि अकेले उसके हथियारों से आग नहीं लग सकती थी, यह कहते हुए कि उसने हमले में हमास के दो वरिष्ठ आतंकवादियों को निशाना बनाया और मार डाला.

इस हमले ने इजरायल के खिलाफ वैश्विक आक्रोश पैदा कर दिया, कई लोगों ने घातक हमले के खिलाफ पोस्ट करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×