ADVERTISEMENTREMOVE AD

दिल्ली: 10 साल की हेल्पर को पीटने, आयरन से जलाने का आरोप, पति-पत्नी गिरफ्तार

Delhi Crime: आरोपी पति-पत्नी नामी एयरलाइनों में पायलट और ग्राउंड स्टाफ के रूप में काम करते हैं.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

Delhi Crime News: दिल्ली पुलिस ने बुधवार, 19 जुलाई को द्वारका जिले में एक दंपत्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया. दोनों पर आरोप है कि उन्होंने अपने घर में डोमेस्टिक हेल्प/मेड के रूप में काम करने वाली 10 साल छोटी लड़की को पीटा और उसको गर्म आयरन से दागा.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

आरोपियों की पहचान 36 वर्षीय कौशिक बागची और 33 वर्षीय पूर्णिमा बागची के रूप में की गई है. पुलिस (डीसीपी) द्वारका, हर्ष वर्धन ने कहा कि कौशिक एक एयरलाइन में ग्राउंड स्टाफ के रूप में काम करते हैं, जबकि पूर्णिमा एक अन्य एयरलाइन में पायलट हैं.

10 साल की लड़की की बांहों पर जले के कई निशान थे, चेहरा सूजा हुआ था, आंखें लाल थीं और माथे पर चोट का निशान था. कथित तौर पर उसके कपड़े करने वाले इस्त्री से जलाया गया था.

पति-पत्नी को गिरफ्तार कर लिया गया है, और जानबूझ कर चोट पहुंचाने, खतरनाक हथियारों से चोट पहुंचाने, गलत तरीके से किसी को कैद करने और तस्करी से संबंधित धाराओं के साथ-साथ किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल और संरक्षण) अधिनियम, 2015 की धारा 75 के तहत FIR दर्ज की गई है .

0

नाबालिग बच्ची की दुर्दशा का खुलासा होने पर आरोपी पति-पत्नी को भीड़ ने पीटा, FIR दर्ज

पुलिस ने कहा कि बच्ची कम से कम दो महीने से दंपति के घर पर काम कर रही थी. डीसीपी (द्वारका) ने कहा, मामला बुधवार सुबह करीब 9 बजे सामने आया जब "लड़की के एक रिश्तेदार ने इस पर ध्यान दिया".

डीसीपी ने कहा, इसके कारण दंपति के घर पर भीड़ जमा हो गई और उनके साथ मारपीट की गई. एक वीडियो में, पति-पत्नी को पीटते हुए, महिला के बाल खींचते हुए और उसे थप्पड़ मारते हुए और इधर-उधर धकेलते हुए देखा जा सकता है.

डीसीपी द्वारका ने जानकारी दी है कि दंपत्ति से मारपीट के मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गयी है. पुलिस सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो की मदद से इसमें शामिल लोगों की पहचान कर रही है और उन पर कार्रवाई की जाएगी.

डीसीपी (द्वारका) ने कहा कि नाबालिग की मेडिकल जांच की गई है और उसे "कॉउन्सल द्वारा कांउसलर भी दिया गया है." उन्होंने कहा कि अभी तक नाबालिग की ओर से यौन उत्पीड़न का कोई आरोप नहीं लगाया गया है.

डीसीपी ने कहा, "उसके पास के एक घर में काम करने वाले एक रिश्तेदार के माध्यम से नौकरी पर रखा गया था."

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×