ADVERTISEMENT

Shraddha Murder Case: पुलिस को वारदात वाले इलाके से मिला CCTV फुटेज

Aftab Poonawalla ने हत्या के बाद श्रद्धा के खाते से खुद को ट्रांसफर किए थे 54,000 रुपये, मुंबई भी गया था-सूत्र|Video

Updated

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

श्रद्धा वॉकर हत्याकांड केस (Shraddha Walkar Murder Case) में दिल्ली पुलिस ने दक्षिणी दिल्ली इलाके से CCTV फुटेज बरामद किए हैं. ये CCTV फुटेज उसी इलाके से बरामद किए गए हैं, जहां 26 साल की श्रद्धा वॉकर की कथित तौर पर उसके लिव-इन पार्टनर आफताब पूनावाला (Aftab Poonawalla) ने 18 मई को हत्या कर दी थी. दिल्ली पुलिस के एक सीनियर अधिकारी ने द क्विंट को बताया कि “जो फुटेज बरामद की गई है वो 6 महीने पुरानी है. इस CCTV फुटेज की मैपिंग की जाएगी और पता लगाया जाएगा की आरोपी ने पीड़ित के शव के हिस्सों को फेंकने के लिए किन-किन रास्तों का इस्तेमाल किया है.”

ADVERTISEMENT

किस बात को लेकर अक्सर झगड़ते थे श्रद्धा और आफताब?

श्रद्धा और आफताब के बीच झगड़ा लगेज (सामान) को लाने के लिए होता था. दरअसल, जब श्रद्धा और आफताब ने मुंबई छोड़ा और दिल्ली आए तो उनका सामान मुंबई में ही था. दोनों इस बात को लेकर अक्सर लड़ते थे कि सामान को मुंबई से कौन लेकर आएगा. मुंबई से सामान लाने के लिए श्रद्धा अफताब से कहती थी और आफताब, श्रद्धा से कहता था. इसी बात को लेकर दोनों में झगड़े होते रहते थे.
द क्विंट से दिल्ली पुलिस

श्रद्धा के अकाउंट से आफताब ने कितना रुपया शेयर किया था?

दिल्ली पुलिस के सूत्र ने द क्विंट को बताया कि घटना के कुछ दिनों बाद, पूनावाला ने श्रद्धा के खाते से 54,000 रुपये अपने अकाउंट में ट्रांसफर कर लिए थे. सूत्र ने कहा कि हमें अभी यह पता लगाना है कि इस पैसे का इस्तेमाल किस लिए किया गया था और क्या इसका इस्तेमाल वॉकर के लंबित बिलों का भुगतान करने के लिए किया गया था? यह सब जांच का विषय है."

द क्विंट ने पता लगाया है कि आरोपी की गिरफ्तारी के चार दिन बाद दिल्ली पुलिस ने क्या-क्या बरामद किया है?  

आरोपी ने खून से सने कपड़े कहां फेंके?

दिल्ली पुलिस की कई टीमें घर से महज 300 मीटर की दूरी पर स्थित महरौली के जंगलों में तीन दिनों से छानबीन कर रही है. लेकिन, दिल्ली पुलिस अभी तक वॉकर का सिर (धड़) बरामद नहीं कर पाई है और ना ही वह हथियार (एक फुट लंबी मिनी आरी) जिसका इस्तेमाल उसके शरीर को काटने के लिए किया गया था. श्रद्धा वॉकर का फोन भी अभी बरामद नहीं हुआ है.

वॉकर और पूनावाला के खून से सने कपड़े भी अभी बरामद नहीं हुए हैं. सूत्र ने कहा कि "शुरुआती पूछताछ से पता चला है कि आरोपी ने मई में एक चलती हुई कचरा वैन में कपड़े फेंक दिए थे."

पुलिस को जो हड्डियां मिली हैं, क्या वो श्रद्धा की ही हैं?

दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक वॉकर की "अब तक 10-13 हड्डियां मिली हैं. यह छह महीने पुरानी घटना है इसलिए इसमें समय लगेगा. क्योंकि, हड्डियों के अलावा कुछ नहीं बचा है, जिससे पहचान करना मुश्किल है कि ये हड्डिया वॉकर की ही हैं. इसलिए, इसकी जांच फोरेंसिक टीम करेगी और वही बताएगी की ये हड्डियां वॉकर की ही हैं या नहीं.

श्रद्धा वॉकर के पिता विकास ने द क्विंट को बताया था कि वो और उनका बेटा दिल्ली पुलिस के साथ महरौली के जंगलों में खोजबीन के पहले दिन गए थे.

हालांकि, 15 नवंबर को पुलिस ने पूनावाला का "नार्को-एनालिसिस" कराने के लिए साकेत कोर्ट में याचिका दायर की थी.
ADVERTISEMENT

पुलिस सूत्र ने बताया कि फोरेंसिक साइंस लैब (FSL) की टीम ने "किराए के घर की रसोई से खून के सैंपल लिए हैं." इसके अलावा वॉकर के पिता और भाई के भी DNA सैंपल लिए गए हैं, जिससे उसे मैच कराया जा सके.

सूत्र ने दावा किया कि दिल्ली पुलिस ने छतरपुर पहाड़ी किराए के घर से एक बैग भी बरामद किया है, जिसमें वॉकर द्वारा लिखे आर्टिकल भी हैं.

श्रद्धा को आफताब पर क्या शक था?

एडिशनल DCP (साउथ) अंकित चौहान ने पहले द क्विंट को बताया था कि दोनों के बीच कथित तौर पर अक्सर लड़ाई होती थी. चौहान ने कहा था कि "घटना के दिन, वे लड़े क्योंकि वॉकर को पूनावाला पर धोखा देने का शक था." एक वरिष्ठ पुलिस सूत्र ने दावा किया कि पूछताछ के दौरान, पूनावाला ने कहा कि घटना के दिन, दोनों में इस बात को लेकर झगड़ा हुआ था कि घर का खर्च कौन उठाएगा और दैनिक उपयोग की चीजें कौन खरीदेगा.

पिता ने श्रद्धा से आखिरी बार कब बात की थी?

यह मामला तब सामने आया जब वाकर के पिता द्वारा मुंबई में दायर 'गुमशुदगी' की शिकायत का मामला नवंबर में दिल्ली पुलिस को स्थानांतरित कर दिया गया था. वॉकर के पिता ने मंगलवार 15 नवंबर को द क्विंट से बताया था कि "आखिरी बार मैंने अपनी बेटी से 2021 के मध्य में बात की थी. मुझे नहीं पता था कि उसे पीटा जा रहा था. उसके दोस्तों ने मुझे यह बताया. उन्होंने मुझे बताया थी कि महीनों से उससे बात नहीं हो रही है. उसका फोन बंद आ रहा है. और वह सोशल मीडिया पर भी सक्रिय नहीं है. उसके बाद मैं मुंबई पुलिस के पास गया.

मुंबई पुलिस की पूछताछ में आफताब ने श्रद्धा को लेकर क्या बताया था?

जब सितंबर महीने में मुंबई में श्रद्धा वॉकर के 'लापता' की शिकायत दर्ज की गई, तो पूनावाला को मुंबई पुलिस ने शहर बुलाया. एक पुलिस सूत्र ने कहा कि "वह वहां गया और पुलिस को बताया कि दोनों का रिश्ता टूट गया है और वह उसे छोड़कर चली गई है. उसने पुलिस को बताया थी कि वह तब से उसके संपर्क में नहीं था."

श्रद्धा और आफताब एक दूसरे से कैसे मिले थे?

बता दें, मुंबई के रहने वाले वॉकर और पूनावाला 2019 में एक डेटिंग ऐप पर मिले थे और तब से साथ हैं. वे इस साल मई में दिल्ली चले गए, और दक्षिण दिल्ली के छतरपुर पहाड़ी इलाके में 13,000 रुपये प्रति महीने पर एक घर किराए पर लिया. पुलिस के अनुसार, वहां जाने के तीन दिनों के भीतर, पूनावाला ने वॉकर की कथित तौर पर हत्या कर दी. 

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×