ADVERTISEMENTREMOVE AD

दिल्ली: मोहल्ला क्लीनिक फाइल मंजूरी को लेकर सरकार और LG में टकराव

सरकार का कहना है कि मोहल्ला क्लिनिक के प्रॉजेक्ट की राह में रोड़े अटकाए जा रहे हैं

Published
भारत
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

मोहल्ला क्लिनिक की फाइल अप्रूवल को लेकर दिल्ली सरकार और एलजी (उपराज्यपाल) हाउस के बीच एक बार फिर टकराव की स्थिति बन सकती है. इससे आरोप प्रत्यारोप का दौर भी शुरु हो गया है. दिल्ली सरकार ने कहा है कि मोहल्ला क्लिनिक शुरू करने की फाइल मई में एलजी को भेजी गई थी जिसे रोक कर रखा गया है. जबकि एलजी हाउस की ओर से दावा किया गया है कि उसके पास मुहल्ला क्लीनिक के बारे में कोई प्रस्ताव या फाइल लंबित नहीं है.

दिल्ली के एलजी अनिल बैजल के कार्यालय में बुधवार को नाटकीय घटनाक्रम देखने को मिला जब आप के 45 विधायकों ने मुहल्ला क्लीनिक फाइल को मंजूरी दिए जाने की मांग करते हुए वहां देर शाम तक डेरा डाले रखा. एलजी ने इसे एक संवैधानिक पदाधिकारी के कार्यालय का घेराव करार दिया.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

40 विधायकों के साथ पहुंचे सौरभ भारद्वाज

एलजी हाउस ने एक बयान में कहा कि आम आदमी पार्टी विधायक सौरभ भारद्वाज और चार अन्य विधायकों को मिलने के लिए समय दिया गया था. व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद एलजी विधायकों से मिलने को सहमत हो गए. लेकिन भारद्वाज के नेतृत्व में करीब 45 विधायक राज निवास आ गए और बैजल से मिलने की मांग करने लगे.

सरकार का कहना है कि मोहल्ला क्लिनिक को लेकर झूठी शिकायतें की गईं और विपक्ष के कुछ नेताओं की ओर से सौंपी गई शिकायत के आधार पर विजिलेंस डिपार्टमेंट ने ऑब्जेक्शन लगाए. इन शिकायतों में ऐसा कुछ भी नहीं था जिसके आधार पर मोहल्ला क्लिनिक के प्रॉजेक्ट को रोका जा सकता हो.

सरकार का कहना है कि मोहल्ला क्लिनिक के प्रॉजेक्ट को देश-विदेश में सराहा गया है लेकिन इसके बाद भी इस प्रॉजेक्ट की राह में रोड़े अटकाए जा रहे हैं

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×