बजट 2019: चुनाव से पहले किसानों के लिए बड़ी घोषणा 

12 करोड़ किसान परिवारों को फायदे का दावा

Updated
भारत
2 min read
बजट 2019 में किसानों के लिए क्या है खास?
i

मोदी सरकार ने अंतरिम बजट में किसानों को सालाना एक नगद राशि देने की घोषणा की है. कार्यकारी वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने बजट पेश करते हुए ऐलान किया कि उनकी सरकार 2 हेक्टेयर तक खेत वाले हर किसान परिवार को सालाना 6000 रुपये की मदद देगी. यह रकम 2-2 हजार रुपये की 3 तीन किस्तों में सीधे किसानों के खाते में जाएगी.

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के मुताबिक, करीब 12 करोड़ किसान परिवारों को इस इनकम ट्रांसफर का फायदा मिलेगा. यह योजना 1 दिसंबर 2018 से लागू मानी जाएगी. इस कार्यक्रम में सरकार के ऊपर 75,000 करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा. इनमें से 20,000 करोड़ रुपये इसी वित्तीय साल में दे दिए जाएंगे.

किसानों को लेकर ये बोले कार्यकारी वित्त मंत्री पीयूष गोयल

  • किसानों की आय दोगुनी करने के लिए इतिहास में पहली बार 22 फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य लागत से 50 परसेंट ज्यादा करने का फैसला
  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को मंजूर किया गया. इस योजना में छोटे किसानों को (2 हेक्टेयर तक जमीन) वालों को सीधे बैंक अकाउंट में 6000 रुपए सालाना दिए जाएंगे
  • किसानों को सस्ते कर्ज के लिए ब्याज की राशि को बढ़ाया गया
  • 11.68 लाख करोड़ रुपए किसानों को फसली कर्ज दिया गया
  • प्राकृतिक आपदा से जूझ रहे किसानों को ब्याज दर में 2 परसेंट की छूट मिलेगी. समय पर कर्ज चुकाने पर 3 परसेंट अतिरिक्त छूट मिलेगी
  • किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम का लाभ मछली पालन में भी दिया जाएगा. ब्याज दर में 2 परसेंट छूट दी जाएगी और सही वक्त पर कर्ज चुकाने वालों को 3 परसेंट एक्स्ट्रा छूट मिलेगा
  • 1.4 करोड़ मछुआरों के लिए अलग से फिशरीज डिपार्टमेंट बनाया जाएगा
  • राष्ट्रीय कामधेनु आयोग बनाया जाएगा, जो गायों के लिए काम करेगा

बता दें कि मोदी सरकार ने अरुण जेटली की अनुपस्थिति में पीयूष गोयल को कार्यकारी वित्त मंत्री बनाया है. जेटली पिछले कुछ समय से अपने इलाज के लिए अमेरिका में हैं.

बजट पर किसान नेता ने कही यह बात

जय किसान आंदोलन के संयोजक अविक साहा ने क्विंट के साथ खास बातचीत में कहा कि 'मोदी सरकार के इस बजट में किसानों के लिए कुछ नहीं है'

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!