ADVERTISEMENTREMOVE AD

Chandrashekhar Interview: "राहुल-अखिलेश का संविधान प्रेम",मायावती-आकाश पर क्या बोले चंद्रशेखर?

Chandrashekhar: 'हम मायावती का विपक्ष नहीं उनका विकल्प हैं'. शपथग्रहण के बाद सत्ता पक्ष सांसद से भिड़े चंद्रशेखर, बताया पूरा मामला.

Published
भारत
3 min read
छोटा
मध्यम
बड़ा

भीम आर्मी के प्रमुख, आजाद समाज पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष और अब उत्तर प्रदेश की नगीना सीट से चंद्रशेखर. जीत के बाद संसद में शपथ लेने पहुंचे तो वहां भी अपना तेवर दिखाया. क्विंट हिंदी से बातचीत के दौरान चंद्रशेखर ने विपक्षी पार्टियों के संविधान की जय और संसद में संविधान लेकर आने पर भी कटाक्ष किया है. यही नहीं दलितों की राजनीति को लेकर मायावती से लेकर आकाश आनंद को भी निशाने पर लिया. बीजेपी से कैसे रिश्ते या भविष्य में बीजेपी से हाथ मिलाएंगे इस सवाल पर भी चंद्रशेखर ने जवाब दिया है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

बता दें कि लोकसभा चुनाव 2024 में उत्तर प्रदेश की नगीना सीट भीम आर्मी के चंद्रशेखर (Chandra Shekhar) के कारण हॉट सीटों में शामिल हो गई थी. इस सीट पर एक तरफ जहां आजाद समाज पार्टी (एएसपी) से चंद्रशेखर चुनाव लड़ रहे थे तो वहीं दूसरी तरफ बीजेपी ने नहटौर से तीन बार विधायक रहे ओम कुमार को टिकट दिया था. इसके आलावा बीएसपी से सुरेन्द्रपाल और समाजवादी पार्टी से पूर्व जज मनोज कुमार को टिकट दिया गया था. लेकिन इन सभी दावेदारों में से जनता ने 1, 51000 वोटों से चंद्रशेखर को रेस में आगे रखकर नगीना का सांसद चुना. आइए जानते हैं चंद्रशेखर ने क्विंट के साथ बातचीत में और क्या-क्या कहा है?

आपको संसद में पहली बार पहुंचकर कैसा लगा ?

संसद एक बहुत ही ताकतवर जगह है,और ऐसी जगह पर जाना और वहां आवाज उठाना यह एक नया अनुभव है. सड़क पर जब हम बोलते हैं, तो वहां हमें कोई नहीं रोकता लेकिन यहां हमें बहुत सारे रोकने टोकने वाले लोग हैं. लेकिन अगर यहां हम अपने क्षेत्र की समस्याओं के बारे में बोलेंगे नहीं तो सरकार उस तरफ देखेगी कैसे? फिर हमारे वहां जाने का क्या फायदा होगा.

संसद में आपके शपथग्रहण के बाद किसी ने आपको कुछ कहा था, क्या था पूरा मामला ?

शपथग्रहण के बाद मैंने कुछ स्लोगन पढ़े जो में अक्सर पढ़ता हूं, जय भीम, जय भारत, जय मंडल, जय विज्ञान, भारत की जनता कि जय, जब मैंने ये नारे लगाए तो सत्ता पक्ष से किसी को चुभा, जिन्होंने कहा कि क्या अब पूरा भाषण ही पढ़ोगे? तब मैंने कहा इसलिए तो हम यहां आए हैं अब हम यहां नहीं बोलेंगे तो कहां बोलेंगे? बहुत लम्बा संघर्ष रहा है सड़को पर, अब सड़कों से यहां आए हैं तो हमारे लोगों ने हमें यहां गूंगे बनके रहने के लिए नहीं भेजा. जो केंद्र और राज्य सरकार हमारे मुद्दों पर चर्चा नहीं करती, हम यहां वो चर्चा करेंगे और हक दिलाएंगे.

क्या चंद्रशेखर ने मायावती के दलित पॉलिटिक्स को हाईजैक कर लिया ?

"में उनका बहुत सम्मान करता हूं. मैंने किसी की पॉलिटिक्स को हाईजैक नहीं किया, बहन जी (मायावती) अभी सत्ता में नहीं हैं, कांग्रेस और समाजवादी पार्टी से मेरा कोई झगड़ा नहीं है. मेरा झगड़ा सत्ता में बैठे लोगों से है, उनसे मुझे अपने लोगों के अधिकारों की रक्षा करनी है. हम बीएसपी के विपक्ष में नहीं हैं, हम उनका विकल्प हैं."

वो कौन से बड़े काम हैं जो आप नगीना के लिए करना चाहते हैं ?

"नगीना में सबसे पहले एक इंडस्ट्री बने ताकि लाखों नौजवानों को रोजगार मिले, दूसरा - एम्स जैसा एक अस्पताल खुले, तीसरा - बाढ़ की समस्या नगीना में काफी बड़ी है इसके कारण फसल खराब होती है. और एक यूनिवर्सिटी बने, मैं इन सभी पर काम करूंगा."

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×