चारधाम यात्रा 1 जुलाई से होगी शुरू, खुल सकता है करतारपुर कॉरिडोर

कांवड़ यात्रा पर फिलहाल रोक जारी

Updated29 Jun 2020, 12:31 PM IST
भारत
2 min read

कोरोना वायरस के चलते पिछले तीन महीने से कई चीजों पर पाबंदियां लगाई गई हैं. खासतौर पर ऐसे आयोजनों को बंद कर दिया गया था जहां पर लोगों के जुटने की संभावना काफी ज्यादा होती है. लेकिन अब अनलॉक के प्रोसस में धार्मिक आयोजनों को भी छूट दी जा रही है. इसी के तहत उत्तराखंड सरकार ने चारधाम यात्रा शुरू करने का फैसला किया है. 1 जुलाई से इन चारों धामों की यात्रा उत्तराखंड के लोगों के लिए शुरू होगी. इसके अलावा भारत और पाकिस्तान के बीच करतारपुर साहिब के लिए बना कॉरिडोर खोलने पर भी विचार हो रहा है.

बाहरी लोगों को करना होगा इंतजार

चारधाम यात्रा को लेकर उत्तराखंड सरकार ने कई बैठकें की. जिसके बाद अब आखिरकार इस यात्रा को खोलने का ऐलान कर दिया गया है. चारधाम देवदर्शन बोर्ड के सीईओ ने बताया कि 1 जुलाई से ये यात्रा श्रद्धालुओं के लिए शुरू की जा रही है. लेकिन बाहरी राज्यों के लोगों को इसके लिए अभी इंतजार करना होगा.

उत्तराखंड सरकार ने फिलहाल राज्य में रहने वाले लोगों के लिए ही चारधाम यात्रा को शुरू किया है. 1 जुलाई से शुरू होने जा रही यात्रा में बाहरी राज्यों से आने वाले लोग हिस्सा नहीं ले सकते हैं. यात्रा में शामिल हो रहे श्रद्धालुओं को सरकार की तरफ से जारी एसओपी का पालन करना होगा.

बाहरी राज्यों के अलावा उत्तराखंड के वो लोग भी यात्रा में शामिल नहीं हो पाएंगे जो कंटेनमेंट जोन में हैं. इससे पहले सरकार ने पिछले महीने चारधाम यात्रा को 30 जून तक के लिए टाल दिया था.

बता दें कि चारधाम यात्रा में शामिल होने के लिए लाखों श्रद्धालु हर साल उत्तराखंड आते हैं. इसमें देश और विदेश के लोग शामिल होते हैं. इन चार धामों में से एक केदारनाथ में सबसे ज्यादा श्रद्धालु जाते हैं. लेकिन इस बार कोरोना वायरस के चलते यात्रा अब तक शुरू नहीं हो पाई थी.

खुलेगा करतारपुर कॉरिडोर

पाकिस्तान की तरफ से पहले ही कहा जा चुका है कि वो करतारपुर कॉरिडोर को एक बार फिर खोलने जा रहे हैं. पाकिस्तान ने इसके लिए 29 जून की तारीख का प्रस्ताव रखा था. इसे लेकर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के चीफ सेक्रेट्री डॉक्टर रूप सिंह ने बताया कि, हम भी इस पक्ष में हैं कि कॉरिडोर को खोल दिया जाए. लेकिन इस पर अंतिम फैसला केंद्र सरकार को लेना है. कोरोना की स्थिति को देखते हुए ही सरकार इसे लेकर फैसला लेगी.

कांवड़ यात्रा पर रोक

कोरोना को देखते हुए कांवड़ यात्रा पर फिलहाल के लिए रोक लगाई गई है. कांवड़ यात्रा में भी लाखों लोग हिस्सा लेते हैं. लोग गंगाजल के लिए अलग-अलग राज्यों से पैदल निकलते हैं और फिर अपने घरों को लौटते हैं. इस मामले को लेकर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ, हरियाणा के सीएम खट्टर और उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की थी. जिसमें ये तय हुआ था कि कोरोना के चलते फिलहाल कांवड़ यात्रा को टाला जाए.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 29 Jun 2020, 11:41 AM IST

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!