Lockdown में खुद कैंसिल न करें ट्रेन टिकट, हो सकता है नुकसान

कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए मोदी सरकार ने पूरे देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन का ऐलान किया है.

Published25 Mar 2020, 11:50 AM IST
भारत
2 min read

कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए मोदी सरकार ने पूरे देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन का ऐलान किया है. लॉकडाउन के कारण इंडियन रेलवे की ज्यादातर सेवाएं 14 अप्रैल तक के लिए प्रभावित हैं. जिसके कारण पैसेंजर्स ट्रेनें कैंसिल हैं. भारतीय रेलवे की ओर से ट्रेन रद्द करने के बाद लोग अपने टिकट कैंसिल करा रहे हैं. ऐसे में आईआरसीटीसी ने लोगों के लिए एक जरूरी सूचना जारी की है.

IRCTC की ओर से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक, ‘’यात्री की ओर से टिकट रद्द करने की आवश्यकता नहीं है. यदि यात्री टिकट को कैंसिल करता है तो, संभावना है उसे कम पैसा मिले. यात्रियों को सलाह दी जाती है कि वह उन ट्रेनों के टिकट को कैंसिल न करें, जिन्हें भारतीय रेलवे ने रद्द किया है.’’

आईआरसीटीसी के मुताबिक, ''ई-टिकट की बुकिंग की रकम यात्रियों के खातों में भेज दी जाएगी. रेलगाड़ी रद्द होने के मामले में रेलवे द्वारा कोई चार्ज नहीं लिया जाता है.’’

रेलवे ने काउंटर से लिए गए रेल टिकटों को कैंसल कराने के लिए 21 जून तक का समय दिया है. हालांकि अब इन टिकटों पर भी पूरा रिफंड मिलेगा. बता दें कि ट्रेन के कैंसल होने पर यात्रियों को टिकट का पूरा रिफंड मिलता है. जबकि यात्रा के दिन से पहले अगर यात्री टिकट कैंसल करता है तो उसका चार्ज कटता है. आपको बता दें कि रेलवे ने पहले 31 मार्च तक यात्री ट्रेनों के संचालन पर रोक लगाई थी, लेकिन पीएम मोदी के 21 दिनों के लॉकडाउन के ऐलान के बाद सभी पैसेंजर्स ट्रेनों को 14 अप्रैल तक के लिए रद्द कर दिया गया है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!