दिल्ली: अनाज मंडी इलाके में भीषण आग से 43 लोगों की मौत

भीषण आग पर काबू पाने की कोशिश चल रही है.

Updated
भारत
2 min read
दिल्ली: अनाज मंडी इलाके में भीषण आग से 43 लोगों की मौत
i

दिल्ली में अनाज मंडी, झांसी रोड पर कई मकानों में रविवार सुबह भयानक आग लग गई. अभी तक 43 लोगों की मौत हो चुकी है. पुलिस और रेस्क्यू टीम का ऑपरेशन जारी है.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सूचना आने तक करीब 50 लोगों को घर से निकाल लिया गया था. फिल्मिस्तान इलाके में हुई इन मौतों की पुष्टि दिल्ली पुलिस कर चुकी है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल घटनास्थल पर पहुंचे हैं.

केजरीवाल ने ऐलान किया है कि घटना में मरने वाले लोगों के परिवारों को 10-10 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा, वहीं घायलों को 1-1 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा.


आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट?

जिस जगह आग लगी, वहां आसपास होजरी, पॉलिथिन और कपड़े बनाए जाने की छोटी-छोटी फैक्ट्रियां चल रही थीं. बताया जा रहा है कि इन्हीं में से एक बिल्डिंग में शॉर्ट सर्किट से आग लगी है. इसके बाद आसपास धुंआ और आग फैल गई.

लाल घेरे में वह इलाका है जहां आग लगने और धुआं फैलने से लोग प्रभावित हुए हैं
लाल घेरे में वह इलाका है जहां आग लगने और धुआं फैलने से लोग प्रभावित हुए हैं
ज्यादा मौतें दम घुटने से हुई हैं. वहीं एक बेकरी में दूसरी मंजिल पर कुछ लोगों की मौत झुलसकर हुई. जिस इलाके में आग लगी है, वहां बेहद संकरी गलियां हैं और घर काफी पास-पास बने हुए हैं, इसलिए राहत कार्य में दिक्कत जा रही है.

फंसे लोगों में बड़ी संख्या स्थानीय लोगों के साथ-साथ बाहर से आए प्रवासी मजदूरों की भी है. अपने रिश्तेदारों को खोजने लोग इलाके के आसपास पहुंचे हैं. हालांकि राहत कार्य जारी होने के चलते उन्हें घटनास्थल तक जाने नहीं दिया जा रहा है.

50 से ज्यादा लोगों को निकाला गया

चीफ ऑफिसर अतुल गर्ग ने बताया कि हमने 50 से ज्यादा लोगों को निकाला है. इनमें से ज्यादातर धुएं से प्रभावित हुए हैं. आग बुझाने के दौरान एक अग्निकर्मी घायल भी हुआ है.

मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि आसपास के मकानों में प्लास्टिक का काम भी चल रहा था. बहुत सारे लोग 50 फीसदी से ज्यादा जल चुके हैं. घायलों को सफरदरगंज, हिंदूराव और LNJP हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है. मौके पर दमकल की 30 से ज्यादा गाड़ियां आग बुझाने के लिए मौजूद हैं.

खबर को नए इनपुट के साथ अपडेट किया जा रहा है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!