ADVERTISEMENTREMOVE AD

कंझावला केस: कार से घिसटती युवती, आरोपी पकड़े गए, लेकिन इन सवालों के जवाब बाकी

आम आदमी पार्टी ने कहा- पांच में से एक आरोपी बीजेपी का सदस्य.

Published
भारत
4 min read
छोटा
मध्यम
बड़ा
ADVERTISEMENTREMOVE AD

दिल्ली पुलिस एक बार फिर नागरिकों की खासकर महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सवालों के घेरे में है. दरअसल, दिल्ली के सुल्तानपुरी इलाके के कंझावला (Kanjhawala case) में रविवार, 1 जनवरी की तड़के सुबह एक लड़की की लाश मिली है. पुलिस के मुताबिक, सुल्‍तानपुरी के रास्‍ते में लड़की की स्‍कूटी को एक कार ने टक्‍कर मारी थी, जिसके बाद स्‍कूटी छिटककर दूसरी तरफ गिर गई और लड़की कार के पहियों में जा फंसी. फिर कई किलोमीटर तक कार से लड़की घिसटती रही और उसकी मौत हो गई. हालांकि लड़की के परिवार वालों को पुलिस की बात पर यकीन नहीं हो रहा है. साथ ही ये भी सवाल उठ रहा है कि जब ये घटना हुई तब पुलिस कहां थी?

क्या है पूरा मामला?

पुलिस के मुताबिक, मृतक युवती एक ईवेंट ऑर्गेनाइजर के तौर पर काम करती थी, और देर रात समय काम से लौट रही थी. डीसीपी (बाहरी दिल्ली) हरेंद्र सिंह के मुताबिक, कंझावला पुलिस स्टेशन (रोहिणी जिला) को घटना के बारे में सुबह 3.24 बजे एक व्यक्ति का फोन आया, जिसने बताया कि एक कार से शव को घसीटते हुए देखा है. डीसीपी सिंह ने आगे कहा,

1 जनवरी 2023 की सुबह 3.24 बजे कंझावला थाने (रोहिणी जिला) में PCR कॉल आई. कॉलर ने कहा, 'एक बलेनो गाड़ी... ग्रे कलर... जो कुतुबगढ़ की साइड जा रही है और उसमें एक डेड बॉडी बंधी हुई है जो नीचे लटकी हुई है. लगभग 4.11 बजे, कंझावला पुलिस स्टेशन में एक पीसीआर कॉल फिर से आया, जिसमें कहा गया कि एक लड़की का शव सड़क पर पड़ा हुआ है. थाना सुल्तानपुरी के इलाके में एसएचओ ने रात्रि गश्त के दौरान पहले ही एक स्कूटी को दुर्घटनाग्रस्त हालत में देखा था और इसकी जानकारी पुलिस थाने में 3.53 बजे दर्ज की गई थी. स्‍कूटी के नंबर की जांच से पता चला कि यह उसी पीड़‍िता की है जो कंझावला थाने में सड़क पर पड़ी मिली थी.

डीसीपी ने आगे बताया कि शव को मंगोलपुरी के एक अस्पताल में भेज दिया गया और थोड़े ही देर में कार का पता लगा लिया गया. कुछ देर में ही घटना में इस्‍तेमाल कार और उसमें बैठे पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया.

पुलिस के मुताबिक, भारतीय दंड संहिता की धारा 279 (सार्वजनिक रास्ते पर लापरवाही से गाड़ी चलाना या सवारी करना, जिससे मानव जीवन को खतरा हो) 304ए (लापरवाही से मौत), 304 (गैर इरादतन हत्या के लिए दंड) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

सीसीटीवी में कैद दर्दनाक घटना

बता दें कि कई सीसीटीवी फुटेज सामने आई है जिसमें कार के नीचे युवती घिसटती दिख रही है और कार अपनी रफ्तार में चल रही है. वीडियो में दिख रहा है कि लड़की के पैर कार के साइड वाले हिस्से में फंसा हुआ है और सिर फ्रंट को-पैसेंजर सीट वाले साइड के नीचे है. इसी हालत में कार कई जगह पर टर्न भी लेती है.

बता दें कि कई किलोमीटर तक घिसटने की वजह से लड़की के कपड़े पूरी तरह से फट गए थे. जिस्म पर गंभीर जख्म थे, हड्डियां टूटी हुई थीं.

इस मामले पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने संज्ञान लिया है और दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया है. साथ ही स्वाति मालीवाल ने कहा है,

"दिल्ली के कंझावला में एक लड़की की नग्न अवस्था में लाश मिली, बताया जा रहा है कि कुछ लड़कों ने नशे की हालत में गाड़ी से उसकी स्कूटी को टक्कर मारी और उसे कई किलोमीटर तक घसीटा. ये मामला बेहद भयानक है, मैं दिल्ली पुलिस को हाज़िरी समन जारी कर रही हूँ. पूरा सच सामने आना चाहिए."
ADVERTISEMENTREMOVE AD

कौन हैं आरोपी?

पुलिस के मुताबिक आरोपी और पीड़िता एक-दूसरे को नहीं जानते थे. इस मामले में कुल पांच आरोपी हैं-

  • दीपक खन्ना (26), ग्रामीण सेवा चालक

  • अमित खन्ना (25), एसबीआई कार्ड्स में काम करता है

  • कृष्ण (27), स्पेनिश कल्चरल सेंटर

  • मिथुन (26), हेयर ड्रेसर

  • मनोज मित्तल (27), राशन डीलर

वहीं इस मामले में युवती के साथ छेड़छाड़ या बलात्कार की बात उठ रही थी, लेकिन दिल्ली पुलिस ने दावा किया है कि यह एक दुर्घटना थी जिसमें उसकी मौत हुई है और उसकी बॉडी एक कार में फंस गई थी. हालांकि दिल्ली पुलिस ने कहा है कि युवती के पोस्टमॉर्टम के लिए हेल्थ डिपार्टमेंट से मेडिकल बोर्ड बनाकर पोस्‍टमॉर्टम की रिक्‍वेस्‍ट की गई है. ताकि तीन डॉक्टरों की टीम पोस्टमॉर्टम करे.

कई अहम सवाल

भले ही पुलिस ने कार सवार को गिरफ्तार कर लिया हो लेकिन कई अहम सवाल हैं जिनके जवाब दिल्ली पुलिस को देने होंगे.

  • कई किलोमीटर तक लड़की कार में घिसटती रही फिर भी पुलिस को उस वक्त क्यों नहीं पता चला?

  • रात में पुलिस की पेट्रोलिंग टीम क्यों नहीं सड़कों पर एक्टिव दिखी?

  • पुलिस ने बिना पोस्टमॉर्टम के कैसे कह दिया कि ये सिर्फ एक्सीडेंट है?

  • क्या लड़की के साथ यौन शोषण किया गया था?

  • क्या पूरे रास्ते में कोई चेक पोस्ट या पीसीआर मौजूद नहीं थी?

ADVERTISEMENTREMOVE AD

आम आदमी पार्टी का आरोप- एक आरोपी बीजेपी का सदस्य

अब इस मामले में राजनीतिक आरोप प्रत्यारोप भी शुरू हो गया है. आम आदमी पार्टी ने पांच में से एक आरोपी को बीजेपी का सदस्य बताया है. आम आदमी पार्टी ने ट्वीट कर कहा है, "कंझावला के दरिंदों का BJP कनेक्शन! आरोपी मनोज मित्तल बीजेपी का नेता है. जिस जेल में वो बंद है, उसी जेल के बाहर पीएम मोदी जी और अमित शाह जी के साथ उसका होर्डिंग लगा है. इसलिए LG साहब और दिल्ली पुलिस इन्हें बचाने में लगी है. ये बहुत शर्म की बात है."

हालांकि अभी बीजेपी ने इसपर कोई जवाब नहीं दिया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×