सिंघु-टिकरी सीमा पर किसान कर रहे पक्का निर्माण, सावधान हुआ प्रशासन

सिंधु और टिकरी बॉर्डर पर पक्के मकानों कानिर्माण कर रहे हैं किसान

Updated
भारत
1 min read
किसान आंदोलन की प्रतीकात्मक तस्वीर
i

दिल्ली की सीमाओं पर पिछले 3 महीनों से प्रदर्शनकारी किसान कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए डटे हुए हैं. अब किसानों ने टिकरी और सिंघु बॉर्डर पर पक्के मकानों का निर्माण शुरू कर दिया है. कुल-मिलाकर किसान अब लंबे संघर्ष के लिए व्यवस्थाएं बनाना शुरू कर चुके हैं.

इस बीच दिल्ली और हरियाणा प्रशासन भी इस निर्माण को लेकर सावधान हो चुका है और किसानों को निर्माण कार्य रोकने के निर्देश जारी कर दिए हैं. बता दें सिंधु और टीकरी बॉर्डर पर होने वाले निर्माण हरियाणा की सीमा में आते हैं.

झज्जर के जिलाधिकारी जितेंद्र कुमार ने कहा कि “बहादुरगढ़ के एसडीएम और डीएसपी ने किसानों से पक्के मकानों का निर्माण कार्य रोकने को कहा है, जिस पर वे सहमत हो गए हैं.”

हरियाणा पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि किसानों के पहले से निर्मित हो चुके पक्के निर्माण पर फिलहाल कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है.

धूप और बारिश से बचने के लिए पक्का निर्माण

बता दें किसानों द्वारा बनाए जा रहे इन पक्के मकानों में कूलर रखने की व्यवस्था है, साथ ही हवा के लिए वेंटिलेशन के लिए खिड़कियां बनाई गई हैं.

अखबार से बात करते हुए यूनाइटेड किसान मंच के नेता दीप खत्री ने कहा कि, “गर्मी के मौसम में हम टेंट में नहीं रह सकते हैं इसलिए पक्के मकानों का निर्माण किया जा रहा है. सर्दी के मौसम में सरकार ने हमारी कोई मदद नहीं की, इसलिए हमारे कई किसान भाइयों की मौत हो गई. इसलिए हम गर्मी से बचने के लिए पक्के घर बना रहे हैं.”

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!