ADVERTISEMENTREMOVE AD

असम के CM और गौरव गोगाई के बीच 'X-वॉर', कांग्रेस ने लगाया जमीन घोटाले का आरोप

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा और कांग्रेस नेता गौरव गोगोई के बीच सोशल मीडिया वॉर 13 सितंबर को भी जारी रहा.

Published
भारत
3 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

असम (Assam) के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) और कांग्रेस नेता गौरव गोगोई (Gaurav Gogoi) के बीच 12 सितंबर से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स (X) पर जुबानी जंग जारी है. जहां एक ओर कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई, सीएम हिमंता बिस्वा सरमा पर भूमि घोटाले का आरोप लगा रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर हिमंता बिस्वा इन आरोपों को बार बार खारिज कर रहे हैं.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

कांग्रेस का हिमंता बिस्वा सरमा पर बड़ा आरोप

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा और कांग्रेस नेता गौरव गोगोई के बीच सोशल मीडिया वॉर 13 सितंबर को भी जारी रहा. कांग्रेस नेता ने केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय की वेबसाइट का हवाला देते हुए सीएम सरमा की पत्नी पर कथित भूमि घोटाले का आरोप लगाया.

13 सितंबर को कांग्रेस नेता गौरव गोगोई ने अपने एक्स अकाउंट पर एक पोस्ट में कहा, "खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय की वेबसाइट पर उस व्यक्ति और उस कंपनी का नाम स्पष्ट रूप से दिखाया गया है जिससे वह जुड़ी हुई हैं. 10 करोड़ रुपये का सरकारी अनुदान भी स्वीकृत हो गया है. यदि उनकी वेबसाइट हैक हो गई है तो कृपया केंद्रीय मंत्री को रिपोर्ट करें."

गौरव गोगोई ने आगे कहा कि, "भारत के किसानों की आय दोगुनी करने के लिए पीएम मोदी ने किसान संपदा योजना की शुरुआत की. लेकिन असम में मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने अपने प्रभाव का इस्तेमाल करके अपनी पत्नी की फर्म को क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी के हिस्से के रूप में 10 करोड़ रुपये दिलाने में मदद की. क्या केंद्र सरकार की योजनाएं बीजेपी को समृद्ध करने के लिए हैं?"

कांग्रेस ने 13 सितंबर को असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी पत्नी की कंपनी को सरकार से 10 करोड़ रुपये की सब्सिडी मिली है और पूछा कि क्या यह बीजेपी का 'न खाऊंगा, न खाने दूंगा मॉडल' है.

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, ''वॉट एन आइडिया सर जी, कृषि भूमि खरीदें, इसे औद्योगिक भूमि में परिवर्तित करें और केंद्र सरकार से 10 करोड़ रुपये की सब्सिडी प्राप्त करें."

गौरव वल्लभ ने कहा कि, ''रिपोर्ट और सार्वजनिक डोमेन में उपलब्ध दस्तावेजों के अनुसार, रिनिकी भुइयां सरमा ने असम के नागांव जिले के दारिगाजी गांव में 50 बीघा कृषि भूमि खरीदी थी. भूमि को कृषि भूमि के रूप में वर्गीकृत किया गया था."

उन्होंने आरोप लगाते हुए आगे कहा, "बहुत ही कम समय में यह भूमि औद्योगिक भूमि में परिवर्तित हो गयी. औद्योगिक भूमि के रूप में अपने नए वर्गीकरण के बाद, प्राइड ईस्ट एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड ने भारत सरकार के खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय में सरकारी अनुदान के लिए आवेदन किया और 10 करोड़ रुपये का अनुदान प्राप्त किया.''

सीएम सरमा ने आरोपों को नकारा

हिमंता बिस्वा सरमा में गौरव गोगोई के आरोपों का जवाब देते हुए एक्स पर लिखा, "मैं स्पष्ट करना चाहूंगा कि न तो मेरी पत्नी और न ही जिस कंपनी से वह जुड़ी हैं, उसे भारत सरकार से कभी कोई वित्तीय सब्सिडी मिली है."

पवन खेड़ा के आरोपों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा, "मैं इस बात से पूरी तरह इनकार करता हूं और दोहराता हूं कि मेरी पत्नी और जिस कंपनी से वह जुड़ी हैं, प्राइड ईस्ट एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड को भारत सरकार से कोई सब्सिडी नहीं मिली है."

हिमंता बिस्वा सरमा की पत्नी रिंकी भूयान सरमा प्राइड ईस्ट एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड के नाम से एक मीडिया कंपनी चलाती है. इस कंपनी के अंतर्गत टाइम8 न्यूज, नार्थईस्ट लाइव जैसे असम के कुछ रीजनल मीडिया चैनल आते हैं. जिनका असम में अच्छा प्रभाव है. जिस जमीन पर प्राइड ईस्ट एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड का हेडक्वार्टर है कांग्रेस नेता गौरव गोगोई ने इसी जमीन पर धोखाधड़ी करके सब्सिडी लेने और भूमि घोटाले का आरोप लगाया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×